Home स्वास्थ्य स्वास्थ्य समस्या A - Z Diabetes Type 2 क्या है जानिए इसके कारण लक्षण बचाव तथा इलाज?...

Diabetes Type 2 क्या है जानिए इसके कारण लक्षण बचाव तथा इलाज? What Is Diabetes Type 2 in Hindi Its Symptom, Causes, Prevention, Diagnosis, Home Remedies, and Best Treatments in Hindi?

0
Diabetes Type 2 क्या है जानिए इसके कारण लक्षण बचाव तथा इलाज? What Is Diabetes Type 2 in Hindi Its Symptom, Causes, Prevention, Diagnosis, Home Remedies, and Best Treatments in Hindi?

Diabetes Type 2 क्या है जानिए इसके कारण लक्षण बचाव तथा इलाज? What Is Diabetes Type 2 in Hindi Its Symptom, Causes, Prevention, Diagnosis, Home Remedies, and Best Treatments in Hindi?

डायबिटीज का जो सबसे आम रूप होता है उसे हम Diabetes type 2 कहते हैं, यह एक आम समस्या होती है जिसके कारण हमारे खून में शुगर का स्तर बहुत अधिक बढ़ जाता है। यह मधुमेह आमतौर पर वृद्ध लोगों में ही देखा जाता है, परंतु कुछ मामलों में यह कम उम्र के लोगों में भी देखा गया है, Diabetes type 2 में होने वाले लक्षण खून में शुगर की मात्रा पर निर्भर करते हैं। हम आपको बता दें कि टाइप 2 मधुमेह को ठीक करना बिल्कुल भी संभव नहीं है, लेकिन बहुत से इलाज ऐसे हैं जिनसे इसे आसानी से नियंत्रित करके रखा जा सकता है, जिससे कि यह हमारे शरीर को भी नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

मधुमेह की बीमारी हमारे शरीर को तब नुकसान पहुंचाती है, जब यह अनियंत्रित रहती है। इसीलिए फायदा इसी में होता है कि, हम इसे नियंत्रित करके रखें और Diabetes type 2 को नियंत्रित करने के लिए इसकी बार-बार जांच करवानी पड़ती है। आपको टाइप 2 मधुमेह के बारे में विस्तार से बताएंगे की :-

  • डायबिटीज type 2  क्या होता है – What Is Diabetes type 2 In Hindi ?
  • डायबिटीज type 2 के लक्षण क्या है – Symptoms Of Diabetes type 2 In Hindi ?
  • डायबिटीज type 2 के कारण क्या होते हैं – Causes Of Diabetes type 2 In Hindi ?
  • डायबिटीज type 2 से बचने के लिए क्या करें – Prevention Of Diabetes type 2 In Hindi ?
  • डायबिटीज type 2 का परीक्षण – Diagnosis Of Diabetes type 2 In Hindi ?
  • डायबिटीज type 2 का इलाज – Treatment Of Diabetes type 2 In Hindi ?
  • डायबिटीज type 2 का घरेलू इलाज – Home Remedies Of Diabetes type 2 In Hindi ?

Diabetes type 2 क्या होता है – What Is Diabetes type 2 In Hindi?

यह भी मधुमेह का ही एक प्रकार है जोकि आमतौर पर बुजुर्गों में देखा जाता है। यह एक दीर्घकालिक समस्या है, जिसमें हमारे शरीर के खून में मौजूद शुगर या गुल को उसका स्तर काफी ज्यादा बढ़ जाता है। टाइप 2 मधुमेह में हमारे शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति अच्छे से प्रतिक्रिया नहीं दे पाती, जिसकी वजह से हमारे खून में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। हम आपको बता दें कि, Diabetes type 2  नियंत्रित करना काफी आसान है। यदि व्यक्ति थोड़ा बहुत भी इलाज करवाए, तो डायबिटीज type 2  को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

Diabetes type 2 के लक्षण क्या है – Symptoms of Diabetes type 2 In Hindi?

टाइप 2 मधुमेह हो जाने पर बहुत से लोगों को तो कोई भी लक्षण महसूस नहीं होता, ज्यादातर व्यक्ति इसे बुढ़ापे के संकेत समझ कर नजरअंदाज भी कर देते हैं, लेकिन हम आपको बता दें कि, Diabetes type 2  का जांच के दौरान ही पता लगाया जा सकता है, लेकिन फिर भी हम आपको इसके कुछ लक्षण बता देते हैं, जिनसे कि आप डायबिटीज type 2  को आसानी से पहचान सकते हैं जैसे कि :-

  • इस बीमारी के लक्षण के रूप में व्यक्ति को काफी ज्यादा थकान होती है और सूक्ति भी महसूस होती है, यहां तक कि कुछ काम करने का मन ही नहीं करता।
  • मधुमेह टाइप 2 के मरीजों को बहुत ज्यादा प्यास लगती है और जब वह थोड़ा सा भी पानी पीते हैं, तो उन्हें तुरंत ही पेशाब जाना पड़ता है खासतौर पर रात के समय तो उन्हें बहुत ज्यादा पेशाब आता है।
  • काफी ज्यादा भूख लगना भी इसी बीमारी का लक्षण है।
  • यदि किसी व्यक्ति को उम्र बढ़ने के साथ-साथ धुंधला भी दिखाई देना शुरू हो गया है और बिना किसी कारण शरीर का वजन भी कम होना शुरू हो गया है, तो आपको तुरंत ही जांच करानी चाहिए क्योंकि यह भी डायबिटीज टाइप 2 की ही लक्षण है।
  • अगर किसी व्यक्ति को टांगों में ऐठन तथा सिर दर्द और चक्कर तथा चिड़चिड़ापन और मोड में बदलाव महसूस होता है, तो यह भी डायबिटीज टाइप 2 के ही लक्षण है।
  • जननांगों के आसपास खुजली होना भी डायबिटीज टाइप 2 के ही लक्षण हैं।
  • यदि किसी व्यक्ति को चोट लगने पर घाव भरने में अधिक समय लगता है ओर त्वचा पर काले रंग के चकत्ते बन जाते हैं, तो यह भी डायबिटीज टाइप 2 के ही लक्षण हैं।

Diabetes type 2 के कारण क्या होते हैं – Causes of Diabetes type 2 In Hindi?

मधुमेह टाइप 2 होने के बहुत से कारण हैं जैसे कि :-

  • इस बीमारी का सबसे बड़ा कारण बढ़ती उम्र में शरीर का वजन बढ़ना है, क्योंकि बढ़ती उम्र में शरीर का वजन बढ़ने से आपके ऊत्तक जितने फैटी होते हैं, वह उतना ही आपकी कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं और इंसुलिन की प्रतिरोधी बन जाते हैं।
  • जब शरीर के बाकी अंगों के मुकाबले व्यक्ति के पेट पर ज्यादा चर्बी जमा हो जाती है, तो उस चर्बी के कारण व्यक्ति के शरीर में बेड कोलेस्ट्रोल ( Bed Cholesterol )की मात्रा काफी ज्यादा बढ़ जाती है, जिसके कारण डायबिटीज type 2 आपको हो सकता है।
  • यह एक परिवारिक इतिहास भी हो सकता है मतलब कि, यदि आपके मां-बाप या भाई-बहन में से किसी को टाइप 2 मधुमेह है तो यह आपको भी हो सकता है।
  • यदि किसी व्यक्तिगत से ही बहुत ज्यादा आलसी हो जाता है, तो उसके कारण भी टाइप 2 मधुमेह होने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। क्योंकि हमारे शरीर के लिए शारीरिक गतिविधियां काफी ज्यादा जरूरी होती है, क्योंकि शारीरिक गतिविधि की मदद से ही हमारा शरीर गुलकोज को एनर्जी के रूप में उपयोग कर पाता है, जिससे आपकी कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति संवेदनशील रहती हैं और शारीरिक गतिविधियों के कारण व्यक्ति का वजन भी नियंत्रित रहता है।
  • यदि कोई व्यक्ति बुढ़ापे में ज्यादा तला हुआ खाना खाता है और अपनी सेहत का बिल्कुल भी ख्याल नहीं रखता तो भी Diabetes type 2  होने का खतरा काफी अधिक बढ़ जाता है। इसीलिए बढ़ती उम्र के साथ-साथ व्यक्ति को एक्सरसाइज करने की जरूरत काफी ज्यादा होती है।

Diabetes type 2 से बचने के लिए क्या करें – Prevention Of Diabetes type 2 In Hindi?

यदि आप बढ़ती उम्र के साथ साथ टाइप 2 मधुमेह से बचना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको बहुत से उपाय करने होंगे जैसे कि :-

  • आपको मधुमेह की नियमित रूप से जांच करवाने की आवश्यकता होती है, क्योंकि यदि आप बढ़ती उम्र में मधुमेह को नियमित रूप से जांच करवाते रहेंगे, तो आप आसानी से इसे नियंत्रित भी कर सकते हैं।
  • मीठे पदार्थों का ज्यादा सेवन ना करें, खास तौर पर बाजार की मीठी वस्तुओं का सेवन तो कम ही करें।
  • अपने शरीर के वजन को नियंत्रित रखें, यदि आप किसी का वजन बढ़ भी जाता है तो एक्सरसाइज करके इसे नियंत्रित करें, क्योंकि डायबिटीज type 2 सबसे बड़ा कारण मोटापा होता है।
  • बाहर का खाना ज्यादा खाते हैं, तो उन्हें भी यह बीमारी होने का खतरा काफी बढ़ जाता है, बाहर का खाना जैसे कि फास्ट फूड, जंक फूड आदि।
  • अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से भी बढ़ती उम्र में यह बीमारी आपको हो सकती है, इसीलिए शराब का सेवन भी ना करें।
  • धूम्रपान ना करें, क्योंकि धूम्रपान करने से भी बढ़ती उम्र में Diabetes type 2 का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है।
  • हमेशा अपने ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित रखें क्योंकि यदि आप अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखेंगे, तो इसके कारण आप भी दे संबंधित बीमारियों से भी बचे रहेंगे। क्योंकि हृदय संबंधित बीमारी यदि आपको हो जाती है, तो डायबिटीज type 2 होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

Diabetes type 2 का परीक्षण – Diagnosis Of Diabetes type 2 In Hindi?

यदि आपको इस बीमारी के संकेत दिखते हैं, तो आप तुरंत ही अपने आसपास किसी लेबोरेटरी में जाकर इस बीमारी की जांच करा सकते हैं, इसके लिए डॉक्टर आपके खून का सैंपल लेगा और उस खून के सैंपल को जांच करने के लिए आगे भेजेगा और उस खून के नमूने की जांच करके आसानी से पता लगाया जा सकता है कि आपको डायबिटीज type 2 है या नहीं और यदि आपको Diabetes type 2 है, तो आप के खून में ब्लड शुगर का स्तर कितना है, यह भी उस जांच के दौरान आसानी से पता लगाया जा सकता है।

image source :-https://www.canva.com/

Diabetes type 2 का इलाज – Treatment Of Diabetes type 2 In Hindi?

  • यदि किसी व्यक्ति को टाइप 2 मधुमेह हो जाता है, तो हम आपको बता दें कि डॉक्टर की सलाह के पश्चात Diabetes type 2 गो नियंत्रित करना काफी आसान है। इसके लिए डॉक्टर आपको बहुत सी दवाइयां देता है, जिनके माध्यम से Diabetes type 2 को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।
  • डायबिटीज टाइप 2 को नियंत्रित करने के लिए सबसे बड़ी जरूरी बात यह है, कि आपको अपने ब्लड शुगर की नियमित रूप से जांच करनी होती है, तभी यह पता लगाया जा सकता है कि, आपके खून में शुगर की मात्रा कितनी है। इसके अतिरिक्त बहुत से घरेलू नुस्खे भी हैं, जो यदि आप आजमा लेते हैं तो डायबिटीज type 2 को आसानी से नियंत्रित रखा जा सकता है।

यह भी पढ़े :- Typhoid Fever Kya Hota Hai जानिए Typhoid Ke Lakshan, Karan Aur Gharelu ilaj?

Diabetes type 2 का घरेलू इलाज – Home Remedies of Diabetes type 2 In Hindi?

डायबिटीज टाइप 2 के रोगी यदि अपनी जीवनशैली में थोड़ा सा परिवर्तन कर लें तो आसानी से इस बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है जैसे कि :-

  • हमेशा पोस्टिक आहार का सेवन करना चाहिए, पोस्टिक आहार जैसे की हरी सब्जियां ताजे फल और दालें आदि ताजे फलों में आप अमरुद, पपीता, जामुन  आदि का सेवन कर सकते हैं।
  • डायबिटीज टाइप 2 के घरेलू इलाज के तौर पर आप काल बदाम भी खा सकते हैं, काले बदाम बाजार में आसानी से उपलब्ध रहते हैं और काले बदाम आपको रोजाना सुबह खाली पेट खाने होते हैं, काले बदाम का सेवन करने से डायबिटीज type 2  को आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।
  • आप Diabetes type 2  को नियंत्रित करने के लिए एलोवेरा जूस का सेवन भी कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप नीम की पत्तियों को गर्म पानी में उबालकर भी पी सकते हैं, यह दोनों नुस्खे भी आपके लिए काफी ज्यादा असरदार साबित होंगे।

Diabetes Type 2 Conclusion:-

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको डायबिटीज टाइप टू के बारे में विस्तार से बताया है, कि Causes Of Diabetes type 2 In Hindi तथा Symptoms Of Diabetes type 2 In Hindi और इसी के साथ साथ हमें आपको Treatment Of Diabetes type 2 In Hindi के बारे में भी बताया है, अगर आपको डायबिटीज टाइप 2 से संबंधित है कुछ भी मुझे पूछना हो, तो आप कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं। धन्यवाद

Exit mobile version