गर्भाशय या सर्वाइकल कैंसर क्या है ? जानिए इसके लक्षण , होने के कारण , निदान , इलाज और बचाव | What is Cervical Cancer ? Know its symptoms, causes, diagnosis, treatment and prevention in Hindi.

Must Read

Dr. Pranav Bhardwaj
Dr. Pranav Bhardwajhttp://www.goodswasthya.com
Pranav Bhardwaj has been in health blogging for the last couple of years with writeups for different magazines and articles. He holds a Doctor of Pharmacy ( PharmD ) degree and having experience in drug administration and control drug delivery system. His hobbies include Reading magazines, Netflixing. Pranav is a very calming person and you will always enjoy his company and is a charm to talk to.

Cervical Cancer Kaise Hota Hai – जानिए Cervical Ke Lakshan, Karan aur Gharelu Upay?

 वैसे तो सभी बीमारियां घातक ही होती हैं परंतु जब नाम कैंसर की बीमारी का आता है तो लोगों के मन में अलग ही प्रकार का एक डर पैदा हो जाता है क्योंकि आज के समय में कैंसर की बीमारी से मरने वाले लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है क्योंकि लोग इस बीमारी पर गौर ही नहीं करते ज्यादातर व्यक्तियों को तो कैंसर की आखिरी स्टेज पर ही पता लगता है कि उन्हें कैंसर है

और फिर वह कुछ नहीं कर पाते जिसके कारण की मृत्यु हो जाती है इसीलिए कैंसर की बीमारी का इलाज इसके शुरुआती लक्षणों को देखकर ही करवाना चाहिए आज हम आपको एक ऐसे ही कैंसर का नाम बताएंगे जिससे सर्वाइकल कैंसर ( Cervical Cancer ) कहते हैं, यह कैंसर का ही एक रूप होता है

Cervical Cancer की वजह से हर साल तकरीबन 74 हजार महिलाएं अपनी जान गवा देती हैं, यह सर्वाइकल सिर्फ महिलाओं को ही होता है, और यह स्त्रियों के गर्भाशय के अंदर पाई जाने वाली एक ऐसी बीमारी है जो कि गर्भाशय में सेल्स ( Cells ) की अनियमित परत के कारण हो जाती है।

अभी आगे हम आपको Cervical Cancer के बारे में विस्तार से बताएंगे कि :-

  • Cervical Cancer Kya Hota Hai – What Is Cervical Cancer In Hindi?
  • Cervical Cancer Kaise Hota Hai – Causes Of Cervical Cancer In Hindi?
  • Cervical Cancer Ke Lakshan – Symptoms Of Cervical Cancer In Hindi?
  • Cervical Cancer ke Prakar – Types Of Cervical Cancer In Hindi?
  • Cervical Cancer Se Bachne Ke Upay – Precaution Of Cervical Cancer In Hindi?
  • Cervical Cancer Se Kaise Bache?
  • Cervical Cancer Ka ilaj – Treatment Of Cervical Cancer In Hindi?
  • Cervical Cancer Ke Liye Gharelu Upay – Home Remedies For Cervical Cancer In Hindi?

Cervical Cancer Kya Hota Hai – What Is Cervical Cancer In Hindi?

सर्वाइकल कैंसर को गर्भाशय का कैंसर भी कहा जाता है आज के समय में सर्वाइकल कैंसर महिलाओं में बहुत ज्यादा होने लगा है और इसके होने का खतरा सबसे ज्यादा तब बढ़ जाता है जब कोशिकाएं गर्भाशय ग्रीवा के स्तर को असामान्य तरीके से बढ़ा देती हैं सर्वाइकल कैंसर महिलाओं के गर्भाशय के निकले सर को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है जिसके कारण सर्वाइकल कैंसर हो जाता है सर्वाइकल कैंसर अलग-अलग तरह के होते हैं जैसे कि :-

  • स्क्वैम़स सेल कार्सिनोमा ( Squamous Cell Carcinoma )
  • एडिनोकार्सिनोमा ( Adenocarcinoma )
  • मेटास्टैटिक सर्वाइकल कैंसर ( Metastatic Cervical Cancer )

Cervical Cancer Ke Karan – Causes Of Cervical Cancer?

अब हम आपको यह बताएंगे कि Cervical Cancer Kaise Hota Hai आपको यह जानना बहुत जरूरी है तभी आप उन कारणों पर भी ध्यान देंगे और सर्वाइकल कैंसर होने की संभावनाएं महिलाओं में कम होगी :-

  • वैसे तो सर्वाइकल कैंसर उस समय होता है, जब कोशिकाएं हमारे शरीर के अंदर असामान्य रूप से बढ़ने लगती हैं डॉक्टर के द्वारा यह कहा जाता है, कि कोशिकाओं का भी जीवनकाल होता है जब वह मर जाती हैं तो फिर उसके पश्चात नई कोशिकाएं जन्म लेते हैं, और जो कोशिकाएं नहीं मूर्ति वह अलग-अलग भागों में बढ़ने लगती है तो इस परिस्थिति में Cervical Cancer हो जाता है।
  • काफी बार कुछ महिलाएं कम उम्र में ही यौन संबंध बना लेती हैं, और जिसके कारण उनके शरीर में अच्छे से विकास नहीं हो पाता और इसी के कारण उन्हें गर्भाशय ग्रीवा में सर्वाइकल कैंसर हो सकता है।
  • कुछ महिलाएं अलग-अलग तरह की दवाइयों का सेवन करती हैं, जिसके रूप में उन्हें साइड इफेक्ट हो सकता है, यदि कोई महिला गर्भाशय से संबंधित किसी दवाई का सेवन करती है या फिर गर्भनिरोधक दवाइयों का सेवन करती हैं, तो उस कारण भी गर्भाशय का कैंसर हो सकता है।
  • जब कोई महिला एचआईवी और एड्स से प्रभावित होती है, तो उसके कारण भी उसके गर्भाशय में सर्वाइकल कैंसर बनने लगता है।
  • जो महिलाएं ज्यादा धूम्रपान करती हैं या फिर अन्य तरह का कोई नशा करती हैं, तो उन महिलाओं को भी सर्वाइकल कैंसर हो सकता है, क्योंकि बहुत से शोध में ऐसा पाया गया है कि जो महिलाएं धूम्रपान करती हैं उन्हें गर्भाशय का कैंसर हो सकता है।
  • जो महिला 17 साल से कम उम्र में ही बच्चे को जन्म देती हैं, उन महिलाओं में भी सर्वाइकल कैंसर होने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है, और जो महिला लगातार गर्भ धारण करती है उस महिला को भी सर्वाइकल कैंसर हो सकता है।
  • आज के समय में तो सर्वाइकल कैंसर का मुख्य कारण यही है, कि जो महिलाएं कम उम्र में यौन संबंध बनाती हैं और गर्भनिरोधक दवाइयां खाती हैं, उनमें ही सर्वाइकल कैंसर सबसे ज्यादा देखा जाता है।

Cervical Cancer Ke Lakshan – Symptoms Of Cervical Cancer In Hindi?

वैसे तो आज के समय में महिलाओं में सबसे ज्यादा स्तन कैंसर ( Breast Cancer )देखा जाता है, लेकिन इसके पश्चात यदि महिलाओं में किसी घातक बीमारी का नाम आता है तो वह है सर्वाइकल कैंसर, आमतौर पर तो यह कैंसर पेपिलोमा वायरस ( Papilloma Virus ) के कारण होता है, जिसे HPV भी कहा जाता है, तो चलिए अब पहले Cervical Cancer Ke Lakshan जान लेते हैं :-

  • रक्त स्त्राव ( Bleeding )

यदि महिलाओं में बेवजह ही रक्त स्त्राव काफी ज्यादा होता है, तो उस वजह से भी सर्वाइकल कैंसर हो सकता है क्योंकि सर्वाइकल कैंसर कोशिकाओं में बढ़ोतरी होने के कारण ही होता है, और अचानक से यदि बहुत ज्यादा खून बहने लगता है तो ऐसे में कोशिकाओं की बढ़ोतरी होती है, तो इसीलिए रक्तदाब के समय महिलाओं को तुरंत ही किसी अच्छी महिला डॉक्टर से दवाई लेनी चाहिए, ताकि वह समय रहते ही ठीक हो सके।

  • संबंध बनाने में परेशानी होना

जिन महिलाओं को सर्वाइकल कैंसर हो जाता है, तो उन महिलाओं को पुरुष से संबंध बनाने में बहुत ज्यादा दर्द महसूस होता है, इसके अतिरिक्त से संबंध बनाने के दौरान गाड़ी रंग का काफी बदबूदार स्त्राव भी निकलता है और यह भी सर्वाइकल कैंसर का मुख्य लक्षण है।

  • जरूरत से ज्यादा पेशाब आना

इस बीमारी के लक्षण के रूप में महिलाओं को सामान्य दिनों से ज्यादा पेशाब आता है, और उन्हें हर 15 से 20 मिनट के पश्चात ही बार बार पेशाब आता है यदि किसी महिला को इस प्रकार की स्थिति महसूस होती है, तो उसे तुरंत ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए और अपना चेकअप कराना चाहिए।

  • थकान महसूस होना

सर्वाइकल कैंसर के रूप में ब्रो की महिला को बहुत ज्यादा थकान भी हो सकती है और थकान इतनी ज्यादा होती है, कि महिला कुछ भी काम अच्छे से नहीं कर पाती यहां तक कि ढंग से चल फिर भी नहीं पाते। इसके साथ साथ सिर में तथा पीठ में भी बहुत ज्यादा दर्द रहता है

  • गुप्त अंगों से गंध निकलना

यदि किसी भी महिला को सर्वाइकल कैंसर हो जाता है, तो उसके गुप्तांगों से बहुत ज्यादा बदबूदार पदार्थ निकलने लगता है, और जब महिला साफ सफाई करती है तो उसके कुछ ही समय पश्चात यह है फिर से निकलने लगता है, यदि किसी भी महिला के साथ ऐसा हो रहा है तो उसे तुरंत ही अपनी जांच किसी अच्छी महिला डॉक्टर पर करा लेनी चाहिए।

Cervical Cancer Se Kaise Bache – Precaution Of Cervical Cancer In Hindi?

हम आपको यह बताएंगे, की Cervical Cancer Se Kaise Bache क्योंकि यदि आपको इस बीमारी से बचने के उपाय पता लग जाएंगे, तो फिर आप ही भयानक बीमारी से बड़ी आसानी से बच सकते हैं:-

  • यदि कोई महिला एक से अधिक पुरुषों के साथ यह संबंध बनाती है, और वह बिना कंडोम के शारीरिक संबंध बनाती है तो इसके कारण महिलाओं को सर्वाइकल कैंसर हो सकता है, इसीलिए कभी भी बिना कंडोम के किसी भी गैर पुरुष के साथ संबंध ना बनाएं।
  • यदि आप सर्वाइकल कैंसर से बचना चाहती हैं, तो आपको प्रत्येक वर्ष पेप टेस्ट ( Pep Test ) करवाना चाहिए, क्योंकि इस टेस्ट के पश्चात कैंसर की कोशिकाओं का पता लगाया जा सकता है इसलिए महिलाओं को समय-समय पर यह टेस्ट करवाते रहना चाहिए। क्योंकि यदि महिलाएं शुरुआती लक्षणों में ही इस बीमारी का पता लगा लेती हैं, तो फिर इलाज करना काफी आसान हो जाता है।
  • यदि कोई महिला धूम्रपान करती है, तो उसे धूम्रपान बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि धूम्रपान मैं निकोटीन जैसे जहरीले पदार्थ होते हैं, जो कि महिलाओं को काफी नुकसान पहुंचाते हैं इसलिए खास तौर पर महिलाएं धूम्रपान ना करें।
  • यदि महिलाएं इस प्रकार की बीमारी से बचना चाहती हैं, तो उन्हें हमेशा ताजे फलों तथा सब्जियों का सेवन करना चाहिए, और खासतौर पर महिलाओं को मोटापे से बिल्कुल दूर रहना चाहिए। क्योंकि आज के समय में मोटापा हर हाउसवाइफ की परेशानी का कारण बना हुआ है इसीलिए अपने शरीर को फिट रखें।
  • महिलाओं को कम उम्र में शादी नहीं करनी चाहिए, या फिर कम उम्र में यौन संबंध भी नहीं बनाना चाहिए। क्योंकि कम उम्र में यौन संबंध बनाने से सर्वाइकल कैंसर का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है इसीलिए इस चीज का विशेष रूप से ध्यान रखें।

Cervical Cancer Ka ilaj – Treatment For Cervical Cancer In Hindi?

  • वैसे तो सर्वाइकल कैंसर का कोई भी साधारण सा इलाज नहीं है, परंतु इस बीमारी को कुछ सावधानियों से रोका जा सकता है जो कि हमने आपको बताई है और यदि आप सर्वाइकल कैंसर से ग्रसित हो भी चुकी हैं, तो हम आपको बता दें कि कुछ बड़े ट्रीटमेंट आज के समय में उपलब्ध हैं जिनके द्वारा इसे ठीक किया जा सकता है, जैसे कि इसका इलाज रेडियोथैरेपी ( Radiotherapy ) के द्वारा भी किया जा रहा है।
  • इसके अतिरिक्त कई तरह के कैंसर का इलाज करने वाले डॉक्टरों का यह भी कहना है, कि इस बीमारी को टीकाकरण तथा आधुनिक स्क्रीनिंग तकनीकों (  Modern Screening Techniques )के द्वारा भी रोका जा सकता है जो कि बहुत महंगा होता है।
  • जब महिलाओं को पता चल जाता है कि उन्हें सर्वाइकल कैंसर है, तो उस समय महिलाओं को सिर्फ साधारण भोजन ही करना चाहिए और वैसे तो उस समय डॉक्टर आपको बता ही देता है, कि आपको क्या खाना है और डॉक्टर आपको जिस प्रकार के परहेज करने को कहेगा बिल्कुल वैसे ही करें, अपनी मर्जी से कभी भी ज्यादा मसालेदार भोजन तथा तले हुए और बाहर की चीजों का सेवन ना करें, इस प्रकार आप की तबीयत बिगड़ सकती है।

Cervical Cancer Conclusion –

हम उम्मीद करते हैं कि आपको Cervical Cancer के बारे में विस्तार से पता लग चुका होगा कि Cervical Cancer Kya Hota Hai और Cervical Cancer Kaise Hota Hai तथा हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से Cervical Se Kaise Bache यह भी बताया है और यदि अभी आप को Cervical Ke Lakshan तथा Cervical Ke Karan से संबंधित कोई भी प्रश्न से पूछना हो तो आप कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This