रतौंधी Night Blindness क्या है जानिए इसके लक्षण कारण एवं 6 घरेलु उपचार हिंदी में | What is Night Blindness, Causes of Night Blindness, 6 Home Remedies and Best Treatment In Hindi

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।
What is Night Blindness in Hindi Table Of Content :-

रतौंधी Night Blindness क्या है जानिए इसके लक्षण कारण एवं 6 घरेलु उपचार हिंदी में | What is Night Blindness, Causes of Night Blindness, 6 Home Remedies and Best Treatment In Hindi

हम सभी यह अच्छे से जानते हैं, कि हमारे शरीर का अगर सबसे महत्वपूर्ण अंग पूछा जाए तो वह आंखें ही होगी आंखें हमारे शरीर का सबसे नाजुक अंग है और हमें इस अंग का सबसे ज्यादा ध्यान भी रखना चाहिए लेकिन आजकल के नए दौर में हमारा रहन-सहन ऐसा हो गया है कि हम अपनी आंखों का ध्यान नहीं रख पाते अगर हम कुछ वर्षों पहले की बात करें तो कुछ वर्ष पहले लोगों को आंखों से संबंधित इतनी बीमारियां नहीं होती थी जितनी आज के समय में होने लग गई है आज के समय में छोटे-छोटे बच्चों को भी चश्मे लगे हुए हैं और उनकी आइस वीक हो गई है

आज के दौर में ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि सब अपनी जिंदगी में इतने व्यस्त हैं कि उन्हें आंखों का ख्याल रखने का टाइम ही नहीं मिल पाता आज के समय में स्मार्टफोन का जमाना चल गया है लोग घंटो घंटो बिना किसी जरूरत के फोन का यूज करते हैं हम आपको बता दें यदि आप फोन या फिर टीवी आदि ऐसे ही चीजों में अपना समय है ज्यादा व्यर्थ करेंगे तो इससे आपकी आंखों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ सकता है आपको कम दिखाई देना शुरू हो जाएगा आपकी आंखों की रोशनी पहले से बहुत कम हो जाएगी इसी के साथ साथ आंखों से संबंधित आपको कोई बीमारी बहुत जल्दी हो सकती है

यदि आप अपनी आंखों का ध्यान रखना शुरु नहीं करेंगे तो आपकी आंखों की रोशनी भी जा सकती है l आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको Full information about Night Blindness In Hindi, What Is Night Blindness In Hindi, treatment for Night Blindness In Hindi के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं आइए शुरू करते हैं –

night blindness in Hindi | What Is Night Blindness In Hindi?

What Is Night Blindness In Hindi ? | रतौंधी क्या है?

रतौंधी एक ऐसी बीमारी है जो आंखों की एक बीमारी है l इस रोग के रोगी को दिन में तो अच्छी तरह दिखाई देता है लेकिन रात के वक्त वह नजदीक की वस्तुएं ठीक से नहीं देख पाता I इस कारण उसे देखने में कठिनाई होती हैl  आंख हमारे शरीर का एक नाजुक हिस्सा है, अगर आंख से अच्छी तरह ना दिखे तो हम किसी काम को सुचारू रूप से नहीं कर सकते l

Night blindness  एक ऐसा रोग है जिसमें दिन में तो इंसान देख पाता है लेकिन जैसे ही शाम होना स्टार्ट होता है उसे कम दिखना शुरू हो जाता है l ऐसे में परेशानी का सामना करना पड़ता हैl  आधुनिक परिवेश में युवा वर्ग में शारीरिक सौंदर्य को विकसित करने पर अधिक ध्यान देते हैं l ऐसे में वे शरीर के विभिन्न अंगों के स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पातेl

ऐसे में नेत्रों को बहुत हानि पहुंचती है और अधिकतर युवक -युवती  रतौंधी रोग से पीड़ित होते हैं l रात्रि होने पर रोगी को स्पष्ट दिखाई नहीं देताl रतौंधी रोग विटामिंस की कमी से हो जाता हैं l रतौंधी रोग में हमें विटामिन A का सेवन अधिक करना चाहिएl

What are the Causes Of Night Blindness In Hindi – रतौंधी होने के कारण

नाइट ब्लाइंडनेस Night Blindness एक ऐसा रोग है जो आम समस्या के रूप में दिखाई देता है l यह रोग ऐसे लोगों को होता है  जो कम रोशनी में काम करते हैं l कम रोशनी में काम करने से उनकी आंखों की क्षमता कम होने लगती है l इस कारण से वे रतौंधी से ग्रस्त हो जाते हैं l यदि सही समय पर रतौंधी का इलाज ना करवाया गया तो व्यक्ति अंधा भी हो सकता है l आइए जानते हैं किन- किन कारणों से रतौंधी हो सकता है –

Vitamin A की कमी के कारण (Night Blindness because of lack of Vitamin A )

रतौंधी होने का सबसे मुख्य कारण है विटामिन ए की कमी होना l जब हमारे शरीर में विटामिन A की कमी होती हैं, तो रतौंधी होने के आसार बहुत अधिक बढ़ जाते हैं l हम सभी जानते हैं, कि हमारी आंखों के लिए जिस विटामिन की जरूरत होती है वह विटामिन ए है l यदि कोई व्यक्ति ऐसा भोजन करता है जिस में पोषक तत्व ना हो और उसमें विटामिन A की कमी हो तो उसे रतौंधी रोग हो सकता है l

अनुवांशिकता के कारण (Night Blindness because of Heredity)

कभी-कभी ऐसा देखा गया है कि बच्चों को रतौंधी रोग बचपन से ही हो जाता है l रतौंधी के लक्षण बच्चे के जन्म के दौरान कुछ समय बाद ही देखे जा सकते हैं l यदि बचपन में बच्चों के रतौंधी के लक्षण दिखाई दे रहे है तो इसका मतलब यही है कि यह रतौंधी अनुवांशिकता के कारण हो रहा है l कभी कभी मां-बाप में यह रोग होता है और बच्चे में भी यह रोग हो जाता है l

अधिक आयु हो जाने के कारण (With Growing Age You get Night Blindness)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रतौंधी रोग अक्सर उन लोगों में अधिक हो जाता है जिनकी आयु अधिक होती है वृद्धावस्था में रतौंधी रोग होने के आसार बहुत अधिक होते हैं l

गलत दवाई का सेवन करने के कारण(Using Wrong Medicine)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कभी-कभी रतौंधी रोग गलत दवाई का सेवन करने से भी हो जाता है l काफी बार यह मामले सामने आए हैं जिसमें गलत दवाई का सेवन करने के कारण रतौंधी रोग हो जाता है l विशेषता ग्लूकोमा दवाई का उपयोग करने से रतौंधी रोग हो सकता है l

मोतियाबिंद(Cataract can cause Night Blindness)

जब किसी व्यक्ति को मोतियाबिंद हो जाता है तो उसे सभी चीजें बहुत धुंधली दिखाई देनी शुरू हो जाती हैं l मोतियाबिंद के कारण दूर की चीजें फैली हुई नजर आने लगती हैं आपको बता दें कि ऑपरेशन के द्वारा मोतियाबिंद का इलाज किया जा सकता है l यदि किसी व्यक्ति को मोतियाबिंद है तो उसे रतौंधी होने के आसार अधिक हो जाते हैं l

Symptoms Of  Night blindness In Hindi , What Are The Symptoms Of Night Blindness- रतौंधी के लक्षण ?

रतौंधी एक बहुत ही गंभीर बीमारी है, इसलिए आपको इसके लक्षण के बारे में जानना बहुत जरूरी है l आइए जानते हैं रतौंधी के लक्षण के बारे में –

*  रतौंधी में सिर दर्द होता है इससे भी पता चलता है कि व्यक्ति को रतौंधी होने की संभावना हैl

* यदि किसी व्यक्ति की आंखों में हमेशा दर्द रहता है, तो उसे भी रतौंधी हो सकता है l यह लक्षण रतौंधी का सामान्य लक्षण है l

* किसी व्यक्ति को रतौंधी बीमारी है तो उसे किसी भी चीज को देखने में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है आंखों पर बहुत ज्यादा जोर पड़ता है और दूर की वस्तुएं भी बहुत धुंधली दिखाई देती हैं l

* यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी है तो उसे प्रकाश की तरफ देखते हुए भी काफी परेशानी होती है l मंद प्रकाश में घर में चलना एक चुनौतीपूर्ण कार्य हो सकता है l

यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी रोग है तो उसे दिन में तो सही दिखाई देगा परंतु रात को गाड़ी चलाते वक्त सब कुछ धुंधला दिखाई देगा l रात में ड्राइविंग बहुत मुश्किल से होती है l

यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी रोग है तो मंद प्रकाश में चेहरे की पहचान करना बहुत मुश्किल होता है l इसके अलावा प्रकाश में रहने के बाद एक अंधेरे कमरे में देखने के लिए एक लंबा समय लगता हैl

Prevention Of Night Blindness In Hindi – रतौंधी रोग बचाव

यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी रोग हो जाता है तो हमारे द्वारा कुछ सुझाव बताए जा रहे हैं l यदि व्यक्ति इन बचाव का उपयोग करता है तो उसकी मुश्किलें कम हो सकती हैं l आइए जानते हैं Prevention Of Night Blindness In Hindi

यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी रोग हैं तो उसे रात के समय घर से बिल्कुल भी नहीं निकलना चाहिए काफी बार ऐसा होता है कि जिन व्यक्तियों को रतौंधी रोग होता है वह घर से बाहर निकल जाते हैं फिर उन्हें रात को घर वापस आने में परेशानी का सामना करना पड़ता है यदि आप को पहले से ही पता है कि आप को रतौंधी है तो रात के समय आप घर के बाहर ना निकले l

यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी रोग है तो उसे संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए l व्यक्ति को अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिसमें अधिक से अधिक विटामिन एवं प्रोटीन हो l यदि आप चाहते हैं, कि रतौंधी रोग को सही किया जाए तो आप अधिक से अधिक विटामिन ए का सेवन अवश्य करें l यह आपकी आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करेगा l

रतौंधी के मरीज को हफ्ते में कुछ दिन मछली के तेल का सेवन भी करना चाहिए l मछली के तेल में विटामिन ए होता है जो हमारी आंखों की रोशनी को बढ़ाता है और हमारी आंखों को स्वस्थ रखता है l

रतौंधी के मरीज को रोजाना हरी सब्जियों व फलों का सेवन जरूर करना चाहिए अच्छी खुराक रतौंधी के मरीज के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है l

यह भी पढ़े :- कलर ब्लाइंडनेस या वर्णान्धता क्या है – जानिए कलर ब्लाइंडनेस के कारण, लक्षण, बचाव तथा घरेलू इलाज? 

Treatment For Night Blindness In Hindi –

रतौंधी के मरीज के आंखों के ट्रीटमेंट के लिए ऑपरेशन या फिर कॉन्टैक्टलेस जैसी सुविधा उपलब्ध है l यदि किसी व्यक्ति को रतौंधी है तो उसे पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लेनी चाहिए l डॉक्टर के द्वारा अच्छे से उसका चेकअप किया जाएगा l यदि आंखें ठीक हो सकती हैं तो डॉक्टर के द्वारा ऑपरेशन या फिर लेंस आदि के द्वारा रतौंधी रोग ठीक करने का प्रयास किया जाएगा l

रतौंधी के घरेलू उपचार –  Homemade remedies for night blindness In Hindi

रतौंधी एक ऐसा रोग है जिससे रोगी को आंखों में कोई कष्ट तो नहीं होता है ,लेकिन उसी रात के समय देखने में बड़ी परेशानी होती है l ऐसा रोगी हीन भावना का शिकार बन जाता हैl

रतौंधी को दूर करने के लिए हम कई ऐसे घरेलू नुक्से का प्रयोग करना चाहिए जिससे हमें आराम मिलता है –

घी और काली मिर्च (Ghee and Black Pepper)

रात के समय देसी घी में एक रत्ती काली मिर्च का महीन चूर्ण मिलाकर आंखों में सलाई से लगाएं l इससे रतौंधी में आराम मिलता हैl

 सौंफ और बुरा(Grounded Saunf)

रात के समय सॉफ़ तथा बुरा 25 ग्राम की मात्रा में कुछ दिनों तक नियमित रूप से सेवन करना चाहिए l इससे हमारी आंखों को रतौंधी से छुटकारा मिलता हैl

पान(Betel Leaf)

 आंखों में पान के पत्ते का रस डालने से रतौंधी का रोग दूर हो जाता है l इससे हमें रतौंधी में आराम मिलता हैl

बथुआ और सेंधा नमक(Bathua and Rock Salt)

बथुआ का रस बूंद-बूंद कर आंखों में डालें तथा सीधा नमक मिलाकर एक कप की मात्रा में पिलाएं l इससे हमें रतौंधी से छुटकारा पाने में मदद मिलती हैl

अनार (Pomegranate)

आंखों में अनार का रस डालने से रतौंधी का रोग खत्म हो जाता है और हमें आंखों के रोग से छुटकारा मिलता हैl

पानी सिरका और शहद(Vinegar and Honey)

पानी में थोड़ा सा सिरका तथा शहद मिलाकर कुछ दिनों तक रोज पीने से रतौंधी खत्म हो जाती है और हमें अच्छा फील होता हैl

night blindness is caused by which vitamin | Night Blindness Home remedies in Hindi
image source :- https://www.canva.com/

Other Home Remedies For Night Blindness

रतौंधी विटामिन ए और विटामिन बी की कमी से होती है l विटामिन ए तथा विटामिन बी, फलों और सब्जियों आदि से बहुतायत पाया जाता है इसीलिए रतौंधी के मरीज को अधिक से अधिक इन सब का सेवन करना चाहिए  l

हमें रतौंधी से छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन टमाटर खाने व रस पीने से रतौंधी का निवारण हो जाता हैl

आंवले और मिश्री को बराबर मात्रा में कूट पीसकर 5 ग्राम चूर्ण जल के साथ सेवन करने से हमें रतौंधी रोग में आराम मिलता हैl

Night Blindness Conclusion :-

आंखें हमारे शरीर का सबसे नाजुक अंग है इसलिए हमें अपनी आंखों का ध्यान अच्छे से रखना चाहिए l हम आशा करते हैं, कि आपको यह समझ आ गया होगा कि What Is Night Blindness, Treatment for Night Blindness in Hindi.

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This