क्यों होते है गले में छाले ? इसके कारण , लक्षण , निदान , दवाएं , बचाव , सावधानियां ,इलाज और ३ घरेलु उपचार | What is blisters in throat ? Causes, symptoms, diagnosis, medicines, prevention, precautions, treatment and 3 home remedies.

Must Read

गले में छाला क्या हैं ?(What is Blisters in throat ?)

गले में छाले होना आम समस्या है। यह एक छोटी सी आम समस्या है जिसका उपाय भी है। लेकिन कभी कभार यह बड़ी बीमारी भी बन सकती है। आइए आज हम जानते हैं blisters in throat kya hai?

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने blisters in throat kya hai के साथ ही गले से संबंधित समस्याएं, उनके कारण एवं gale mein chhale ke upay के बारे में पूरी जानकारी दी है जो कुछ इस तरह से है-

गले में छाले होने के क्या कारण हैं? (What are the reasons of blisters in throat ?)

आइए हम जानते हैं कि gale mein chhale hone ke kya Karan hai और किस प्रकार से होते हैं। गले में छाले होने के कारण निम्नलिखित रूप से है-

कभी-कभी पेट की गर्मी के कारण भी गले में छाले हो जाते हैं। जिसकी वजह से गले पर घाव भी बन सकता है। घाव होने की स्थिति बहुत ही ज्यादा खराब हो सकती है, अन्यथा गले में छाले होने पर बहुत ही ज्यादा परेशानी होती है। इसलिए हमें तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए अगर आपको गले में बार बार छाले होते हैं तो गले में छाले होने के कई कारण है जैसे-

• आपके गले में चोट लगना

• गले के कैंसर का इलाज होना

• वायरल इन्फेक्शन

• bacterial इन्फेक्शन की वजह से

• फंगल इन्फेक्शन से बचाव

• बार बार उल्टी होना

• एलर्जी हो जाना

गले में छाले होने के प्रमुख लक्षण (Major symptoms of bisters in throat)

आइए आज हम जानते हैं कि गले में छाले होने के कौन से प्रमुख लक्षण है। इसके लक्षण निम्नलिखित है:-

• सीने में जलन होना

• उल्टी होते समय खून आना

• आवाज का बदलना

• मुंह में छाले आ जाना

• गले एवं मुंह में दर्द होना

• गर्दन में गांठ हो जाना

• कान का दर्द फैल कर महसूस हो जाना

• मुंह में से बदबू आना

• बार बार गला साफ करना या खास ना

• गले के घुटने जैसा महसूस होना

• जी का मचलना

• मुंह का स्वाद बिगड़ जाना

• जबड़े को हिलाने में कठिनाई होना

• गले में लाल धब्बे या सफेद धब्बे दिखाई देना

• सालों में से मवाद अथवा अन्य द्रव् पदार्थ का निकालना

• बुखार होना

• खाना खाते समय खाने को निगलने में कठिनाई होना

गले के छालों के बचाव के लिए उपाय (Measures to prevent blisters in throat )

जैसा कि हम जानते हैं गले में जब हमें छाले हो जाते हैं तो हमें बहुत तकलीफ होती है। Home remedies for gale ke chhale के अंतर्गत हम आपको gale ke chhale ke liye gharelu upay के बारे में बताने वाले हैं। गले के छालों से बचने के लिए ऐसे बहुत से तरीके निम्नलिखित हैं-

गले में छाले हो जाने के कुछ ऐसे कारण है जिसे रोका नहीं जा सकता। हालांकि कुछ तरकीब अपनाकर हम गले के छालों को बेकार होने से रोका जा सकता है। बहुत ही हद तक उसका बचाव भी कर सकते हैं।

गले के छालों को रोकने के निम्नलिखित उपाय हैं जैसा कि-

• स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने के लिए आप नियमित रूप से हाथ धोते रहिए खास करके  बाथरूम से आने के बाद अपने हाथ को अच्छी तरीके से धोएं।

• शरीर का वजन समान होना बहुत ही जरूरी है अगर शरीर का वजन सामान्य वजन से अधिक हो जाता है तू आपके पेट पर दबाव पड़ने लग जाता है और ज्यादा नवाब करने के कारण पेट का जो भोजन है वह फिर से भोजन की नली में आने लगता है ऐसी ही स्थिति को एक एसिड रिफ्लक्स कहते हैं। दिन में तीन बार खाने के बजाय भोजन को आधा आधा करके खाने की कोशिश करें।

• जब कभी भी आप खाना खाते हैं तो अपने दांतो को अच्छी तरीके से साफ करें और याद रखिए कि जिस टूथब्रश से आप साफ करें वह बहुत सॉफ्ट हो।

• शराब अथवा तंबाकू का सेवन आपके गले के छालों के लिए बहुत ही हानिकारक है। इसका उपयोग ना करें क्योंकि यह पदार्थ गले की समस्या को और बढ़ा देता है।

• ऐसी कोई भी दवाई ना ले जो आपके गले को प्रभावित करें जैसे एसपीरिन, इबूप्रोफेन अथवा एलेंड्रोनिक एसिड आदि।

गले में छाले रोकने के घरेलू उपचार (Home remedies to prevent blisters in throat )

दोस्तों गली की समस्या में गले के छाले एक ऐसी समस्या है जो मौसम परिवर्तन अथवा इंफेक्शन के वजह से हो सकती है। लेकिन इसके लक्षणों के आधार पर आप घर पर ही home remedies for sore throat अपना कर ठीक कर सकते हैं। आइए जानते हैं gale ke chhale ko dur karne ke ramban gharelu upay के बारे में, जो कुछ इस तरह से हैं-

दही या दूध:-

ठंडा दूध को या दही को पीने से वह आपके गले के जलन को कम करने में सहायता करता है। और साथ ही घाव को भी ठीक करता है। क्योंकि दही और दूध त्वचा को कोट करता है। अथवा यह अस्थाई बाधा प्रदान करता है।

दही खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा तो रहता है अथवा यह गले के छालों को भी आराम दिलाता है। अगर आप नियमित रूप से दही का सेवन करते हैं तो आपके मुंह में बैक्टीरिया नहीं पनपते हैं। और आपकी पाचन क्रिया भी सही रहती है। अगर आप रोजाना नहीं खाते हैं तो आप गले के छालों से राहत पा सकते है। क्योंकि इससे मुंह और गले दोनों को ही बहुत आराम मिलता है।

टमाटर का सेवन करना:-

टमाटर एक कारगर उपाय है गले के छालों को ठीक करने के लिए। क्योंकि टमाटर में पोषक तत्व पाए जाते हैं जिनमें से कैरोटीन, लाइकोपिन, विटामिन अथवा पोटेशियम।क्योंकि टमाटर से आपके गले गले को आराम मिलता है और इससे पाचन क्रिया भी ठीक रहती है। यह पोषक तत्व स्वास्थ्य का लिहाज से अच्छे होते हैं। गले के छालों को कम करने के लिए आप टमाटर को धीरे धीरे चबा करके खा सकते हैं। जिससे कि टमाटर का रस पूरे तरीके से आपके गले में फैल जाए या पहुंच जाए।

शहद से गले के छालों को दूर करना:-

शहद गले के छालों के लिए बहुत ही फायदेमंद है क्योंकि शहद में संक्रमण रोकने के गुण पाए जाते हैं।आप एक चम्मच शहद ले सकते हैं या फिर गर्म पानी में शहद को मिलाकर के आप उससे गरारे भी कर सकते हैं। शहद से गले की खराश को भी राहत मिलेगी अथवा दर्द से भी आप निजात पा सकते हैं अथवा गले के छालों को ठीक करने के लिए दो से तीन बार दिन में गरारे करें।

गले में छाले होने से उत्पन्न होने वाली समस्याएं (Problems arising from blisters in throat )

आइए हम जानते हैं कि गले में छालों से क्या क्या समस्या हो सकती है। कई बार इन समस्याओं के आधार पर घरेलू उपाय तो किए जा सकते हैं लेकिन अधिक समस्या होने पर डॉक्टर की सलाह लेना बेहद जरूरी है। गले में छाले होने की समस्या निम्नलिखित है-

• अगर आपके गले में बहुत देर तक के बहुत दिन से छाले बने हुए हैं और नहीं ठीक हो रहा है तो इसका कारण गले का कैंसर हो सकता है। इसलिए आपको जल्द ही डॉक्टर से संपर्क करना होगा।

• अगर गले के छाले आपको इंफेक्शन के दौरान हुआ है तो यह साले दो से तीन हफ्तों में खत्म हो जाते हैं।

• गले में छाले हो जाने से बात आपके जीवन पर भी आ सकती है क्योंकि कुछ हानिकारक स्थितियां भी हो सकती हैं। जैसे कि स्वांस मार्ग का बंद हो जाना।

• गले के छाले हो जाने से गंभीर स्थिति भी हो सकती है। इस स्थिति में मनुष्य अपने खाने-पीने की क्षमता को खो देता है। जिससे कि ट्यूब से नसों के द्वारा उनमें द्रव्य पहुंचाया जाता है।

• अगर छाले आपके भोजन नली में हो गए हैं तो उससे पेट के एसिड को कम करने वाली दवाई से यह जल्द ही ठीक हो जाता है। इसमें 2-3हफ्ते लगते हैं।

गले में छालों की दवाइयां (Blisters in throat medicines)

जैसा कि हमने गले के छालों से संबंधित विभिन्न जानकारियां जैसे home remedies for blisters in throat के बारे में बताया है लेकिन कई प्रकार की दवाइयां उपलब्ध है जिससे गले के छाले रोकने के लिए सहायता मिलती है, जिससे गले के छाले ठीक हो सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि बिना डॉक्टर की सलाह के आप कोई भी दवाई ना लें यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है। हम बताते हैं ऐसी कुछ एलोपैथिक दवाइयों के बारे में, जिस से गले के छाले को दूर किया जा सकता है। यह दवाइयां निम्नलिखित रुप से इस प्रकार है:-

•Blumox CA 1.2 Gm Injection

•Bactoclav 1000/200 Injection

•Mega CV 1.2gm Injection

•Erox Blumox Tablet

•MOXCLAV MG DROPS 10ML

•Novamox 125 Rediuse Oral Suspension

•Moxikind CV 375 Tablet

•Pulmoxyl 250 Capsule

•Clavam 1000 Tablet

•Advent 1.2 gm Injection

गले के छाले को दूर करने के लिए दिए जाने वाले चिकित्सक सलाह और ट्रीटमेंट (Medical advice and treatment to treat blisters in throat )

गले में छाले होना ज्यादातर मामलों में गंभीर मेडिकल समस्याओं का संकेत देता हैं, जिसका इलाज कराना बहुत जरूरी होता है क्योंकि अगर आप जांच कराते हैं तो डॉक्टर यह पता करते हैं कि आपके गले में छाले हुए कितना समय हो गया है।

Gale mein chhale ko dur karne ke liye doctor treatment की दृष्टि से देखा जाए तो गले के छाले को ठीक करने के लिए डॉक्टर बहुत से जांच कर सकते हैं। उनमें से कुछ ऐसे जांच होते हैं जो इसके तह तक जाकर समस्याओं को बताते हैं और चिकित्सक द्वारा सही एवं उचित दवाइयां दी जाती है। डॉक्टर द्वारा किए जाने वाले जांच निम्नलिखित हैं-

• खून जांच

• इमेजिंग टेस्ट

Blister in Throat Conclusion – गले में छाले का निष्कर्ष।

दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट gale ke chhale kya hai in Hindi काफी पसंद आई होगी जिसमें हमने गले के छाले से संबंधित विभिन्न प्रकार की जानकारियों जैसे gale ke chhale ke liye gharelu upay, medicines for sore throat आदि उपलब्ध करवाया है। यदि गले के छाले से संबंधित आपको समस्या अधिक हो रही है तो चिकित्सक की सलाह लेना बेहतर है, जिससे आपकी समस्या को जल्द छुटकारा दिया जा सकता है।

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This