Slipped Disc क्या है जानिए Slip Disc Ke Lakshan, Karan , Nidan तथा 9 Gharelu ilaj? |What is Slipped Disc in Hindi Symptoms causes, Diagnosis, Prevention, and 9 best Home Remedies and Treatment

Must Read

Dr. Nick Kumar Jaiswal
Dr. Nick Kumar Jaiswalhttp://goodswasthya.com
He is a professional blog writer for more than 2 years, he holds a degree in Doctorate in Pharmacy(Pharm D) with experience in medicine dispensing and medication ADRs. His interest in medicine makes him excellent in his research project. Now he prefers to write blogs about medications and diseases. His hobbies include football and watching Netflix. He loves reading novels and gain knowledge about more medication ADRs. He is very helpful in nature and you will often find him helping others in the treatment. डॉ जयसवाल 2 से अधिक वर्षों से एक पेशेवर ब्लॉग लेखक है, ये दवा वितरण और दवा एडीआर में अनुभव के साथ एक फार्म डी डिग्री होल्डर है। चिकित्सा में उनकी रुचि उन्हें अपनी शोध परियोजना में उत्कृष्ट बनाती है। अब वह दवाओं और बीमारियों के बारे में ब्लॉग लिखना पसंद करते हैं। उनके शौक में फुटबॉल और नेटफ्लिक्सिंग, उपन्यास पढ़ना और अधिक दवा एडीआर के बारे में ज्ञान प्राप्त करना शामिल है। वह प्रकृति में बहुत मददगार है और अक्सर आप इन्हे दूसरों की इलाज में मदद करते हुए देख पाएंगे ।
What is Slipped Disc In Hindi Table of Content :

Slipped Disc क्या है जानिए Slipped Disc Ke Lakshan, Karan , Nidan तथा 9 Gharelu ilaj? |What is Slip Disc in Hindi Symptoms causes, Diagnosis, Prevention, and 9 best Home Remedies and Treatment

आज के समय में हमारी जीवनशैली और खानपान ही कुछ ऐसा हो गया जिसके कारण हमें तरह-तरह की बीमारियां हो ही जाती हैं, आज के समय में लोग इतने ज्यादा व्यस्त रहते हैं, कि वह खुद के लिए भी समय नहीं निकाल पाते और वह अपने स्वास्थ्य को बिल्कुल भी समय नहीं दे पाते जिसके कारण वह बीमार रहने लगते हैं, और ज्यादातर कंपनियों में तो कंप्यूटर से संबंधित ही काम रहता है, इसीलिए लोग आराम से बैठकर काम करते रहते हैं ज्यादा इधर-उधर नहीं फिरते यह कारण भी हैं कि हम स्वस्थ नहीं हैं।

आज के समय में ज्यादातर व्यक्तियों को हड्डियों से संबंधित रोग होने लगे हैं क्योंकि वह ज्यादा चलते-फिरते नहीं हैं, जिसके कारण उनका शरीर जाम होने लगता है, और हड्डियों में भी गिरीश खत्म होने लगती है।

आज हम एक ऐसी ही बीमारी के बारे में आपको बताएंगे जिसका नाम है Slip Disk आपने कभी ना कभी इस बीमारी के बारे में सुना ही होगा आज के समय में यह बीमारी काफी ज्यादा प्रसिद्ध है, आज हम आपको इस बीमारी के बारे में विस्तार से बताएंगे कि Slipped Disc Kya Hai? Slip Disc Ke Lakshan In Hindi? Slipped Disc Ke Karan? Slipped Disc Ka ilaj? Slipped Disk Ke Liye Exercise? Slipped Disc Ka Gharelu Upchar? Slipped Disc Ke Vyayam?

यदि आप अच्छे से इन सभी सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो हमारी पोस्ट को आखिर तक पढ़ते रहिएगा तभी आपको अच्छी चीज के बारे में समझ आ पाएगा तो चलिए दोस्तों हम Slipped Disc Ka ilaj जानते हैं।

disc problem treatment | slipped disc recovery

Slipped Disc Kya Hai – What Is Slip Disc In Hindi?

हमारी शरीर के अंदर रीढ़ की हड्डी में ऊपर से नीचे की तरफ cervical spine में 7, Thoracic spine में 12 और Lumber Spine में कुल 5 हड्डियां शामिल होती हैं। यह हड्डियां Disc कें द्वारा जुड़ी हुई होती हैं। प्रत्येक Disc में दो भाग होते हैं, एक नरम आंतरिक भाग होता है और एक कठोर बाहरी रिंग होता है तथा जब बाहरी रिंग कमजोर होने लगती है तो उसके कारण आंतरिक भाग बाहर निकलने लग जाता है और इसे ही हम Slip Disc या Herniated disc के रूप में जाना जाता है।

यह भी पढ़े Arthritis या जोड़ो का दर्द क्या है इसके लक्षण क्या है एवं कुछ कारगर घरेलु उपचार

Slipped Disc Ke Karan – Causes Of Slip Disc In Hindi?

अब हम आपको कुछ कारण बताते हैं जिसके कारण हमें Slipped Disc की समस्या का सामना करना पड़ सकता है :-

  • यदि आप कुछ काम कर रहे हैं और अचानक से ही तेजी से झुक जाते हैं, तो उसके कारण भी स्लिप डिस्क हो सकती है।
  • यदि आप बहुत ही ज्यादा भारी वजन उठाते हैं, तो उसके कारण भी स्लिप डिस्क होने का खतरा बढ़ जाता है, क्योंकि ज्यादा भारी वजन उठाने से अचानक से ही हमारी रीढ़ की हड्डी पर बहुत ज्यादा जोर पड़ता है।
  • यदि आपकी कमर में चोट लग जाती है या फिर कभी भी आपकी कमर में अचानक से झटका लग जाता है, तो उस कारण भी स्लिप डिस्क हो सकती है।
  • यदि आप लगातार झुक कर ही बैठते हैं, तो उसके कारण भी स्लिप डिस्क हो सकती है। आजकल ज्यादातर युवाओं में देखा जाता है कि वह झुककर स्पोर्ट्स बाइक चलाते हैं, जिसके कारण उनमें स्लिप डिस्क की समस्या काफी ज्यादा देखी जाती है।
  • यदि आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई है, तो उस कारण भी स्लिप डिस्क हो सकती है क्योंकि हमारे शरीर में सभी हड्डियां कैल्शियम से ही बनती हैं।
  • यदि आप रोजाना ज्यादा देर तक कंप्यूटर पर बैठकर काम करते हैं, तो उसके कारण भी स्लिप डिस्क हो सकती है।
  • यदि आपके शरीर की मांसपेशियां बहुत ही ज्यादा कमजोर हो गई है, तो उसके कारण भी लिख डिस्क होने का खतरा काफी अधिक बढ़ जाता है। अब आप को Reason Of Slipped Disc तो पता लग ही गया होगा।

Slipped Disc Ke Lakshan In Hindi –  Symptoms Of Slip Disc In Hindi?

  • यदि आपके पैरों और कमर में दर्द हो रहा है तो यह भी स्लिप डिस्क का ही लक्षण होता है।
  • अगर आपके पैरों की उंगलियां अचानक से ही शुरू हो जाती हैं और फिर थोड़ी देर बाद वह ठीक हो जाती हैं तो यह भी स्लिप डिस्क के ही लक्षण है।
  • यदि आप कुछ काम करते समय झुक रहे हैं और आपको काफी ज्यादा दर्द हो रहा है तो यह भी इसी बीमारी का लक्षण है।
  • चलने फिरने में परेशानी होना तथा पेशाब करते समय आपको काफी ज्यादा परेशानी होना यह भी स्लिप डिस्क ही लक्षण है।
  • यदि आपके शरीर में जांघों तथा कुल्लू के आसपास का क्षेत्र कुछ ज्यादा ही सुन पड़ रहा है, तो यह भी स्लिप डिस्क का ही लक्षण है।

Slipped Disc Ke Gharelu Upay – Home Remedies Of Slip Disc In Hindi?

अब हम आपको Slip Disc Ka Gharelu Ilaj बता रहे हैं, जिसकी सहायता से आप इस बीमारी में काफी ज्यादा आराम पा सकते हैं, इसीलिए अब हम आपको जों भी  नुस्खा जिस प्रकार बताते हैं आपको वैसे ही उसे इस्तेमाल करना है :-

अदरक, लौंग तथा काली मिर्च (Ginger, cloves and black pepper for Slipped Disc)

  • आपको अदरक लॉन्ग तथा काली मिर्च 3 तीनों को अच्छी तरह धूप में सुखा लेना है, और उसके पश्चात आपको इन्हें मिक्सी में पीसकर अच्छे से इनका पाउडर बना लेना है और फिर आपको इन तीनों को गर्म पानी में उबालकर अच्छे से काढ़ा बनाकर पीना है यदि आप दिन में दो से तीन बार यह काढ़ा पीते हैं, तो आपको स्लिप डिस्क की परेशानी में काफी ज्यादा आराम मिलेगा।
  • क्योंकि यह तीनों ही एक प्राचीन औषधि है जो कि आयुर्वेद के द्वारा भी बहुत सी बीमारियों में इस्तेमाल की जाती हैं, और अदरक तथा लोगों का इस्तेमाल तो हम ज्यादातर रोजाना चाय बनाने के लिए करते ही हैं।
Slip Disk Causes | slipped disc exercises
image Source https://www.canva.com/

खाने में कैल्शियम वाली चीजें खाएं (Eat calcium rich Food for Slip Disc)

  • जैसा कि हमने आपको बताया कि स्लिप डिस्क की समस्या आपको कैल्शियम की कमी होने के कारण भी हो सकती है, इसीलिए इस बीमारी में आपको खाने की ऐसी चीजों का सेवन करना चाहिए जिन में कैल्शियम की मात्रा अत्यधिक पाई जाती है।
  • जैसे कि खाने में आप अंडो का सेवन कर सकते हैं, इसके अतिरिक्त आप मांस का सेवन भी कर सकते हैं क्योंकि उसमें भी भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, इसके अतिरिक्त आप हरी सब्जियों तथा दालों का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इनमें भी कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है।
  • और शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है दूध हमें प्रतिदिन सुबह और शाम को रोजाना दूध पीना चाहिए, क्योंकि दूध भी हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करता है और हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है।

दालचीनी पाउडर तथा शहद (Cinnamon powder and honey for Slipped Disc)

दालचीनी तथा शहद या दोनों ही हमारे शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं। इन दोनों में ही बहुत से ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि हमारी मांसपेशियों को मजबूत बनाते हैं, यदि आप दिन में तीन से चार बार दालचीनी पाउडर को शहद में मिलाकर खाएं तो इस प्रकार आपको स्लिप डिस्क की समस्या से काफी हद तक छुटकारा मिल जाएगा परंतु यह नुस्खा आपको प्रतिदिन इस्तेमाल करना है, और 20 से 25 दिनों तक लगातार इस्तेमाल करना है तो आपको फर्क दिख जाएगा।

नारियल का तेल तथा लहसुन (Coconut Oil and Garlic for Slip Disc)

  • नारियल का तेल तथा लहसुन यह दोनों ही हमारे घरों में आसानी से उपलब्ध रहते हैं, और अक्सर हम घर में इस्तेमाल भी करते हैं, यदि आयुर्वेद के हिसाब से देखा जाए तो लहसुन तथा नारियल का तेल यह दोनों ही हमारी हड्डियों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैं।
  • स्लिप डिस्क की समस्या को ठीक करने के लिए आपको नारियल के तेल में चार से पांच कलियां लहसुन की अच्छे से पका लेनी है और उसके पश्चात इसे थोड़ा ठंडा होने देना है, और फिर इस तेल की मालिश आपको अपनी रीड की हड्डी पर करनी है इस प्रकार आपको स्लिप डिस्क की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा, परंतु इस तेल की मालिश आपको दिन में तीन से चार बार करनी है और हर बार 15 से 20 मिनट तक मालिश करनी है ताकि यह तो आपकी मांसपेशियों में अच्छे से पहुंच सके।

नियमित रूप से योगा करें (Daily yoga for Slipped Disc)

  • यदि आपको स्लिप डिस्क की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, तो आप को नियमित रूप से योगा करना चाहिए क्योंकि योगा करने से भी स्लिप डिस्क की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पाया जा सकता है। और इसके साथ साथ हमारा शरीर लचीला भी बनता है जिसके कारण रीड की हड्डी को मजबूती मिलती है।
  • यदि आप की उम्र ज्यादा है आप योगा नहीं कर सकते तो आपको थोड़ी बहुत एक्सरसाइज तो करनी ही चाहिए इसके साथ-साथ आपको सुबह जल्दी उठकर  पार्क में सैर भी करनी चाहिए क्योंकि आप जितना ज्यादा चलेंगे या फिर एक्सरसाइज करेंगे उतना ही आपके लिए फायदेमंद होगा।

नशीले पदार्थों का सेवन ना करें (Do not consume drugs or alcohol if you have Slipped Disc)

  • यदि आपको स्लिप डिस्क की परेशानी है तो आपको नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। नशीले पदार्थों मतलब कि बीड़ी सिगरेट गुटका या फिर शराब का सेवन भी अत्यधिक नहीं करना चाहिए।
  • क्योंकि नशीले पदार्थों का सेवन करने से हमारे शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी तो होती है, इसके साथ साथ कैल्शियम की कमी भी हो जाती है जिसके कारण हड्डियां बेकार होती है।

अपने शरीर का वजन कम करें (Lose your body weight to overcome Slipped Disc)

यदि आपके शरीर का वजन अनियंत्रित है आपको स्लिप डिस्क की समस्या में काफी परेशानी हो सकती हैं इसीलिए आपको अपने शरीर का वजन नियंत्रण में रखना चाहिए क्योंकि जब हमारे शरीर का वजन ज्यादा बढ़ जाता है, तो उसके कारण हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी बढ़ जाती है, जिसके कारण हड्डियों को नुकसान पहुंचता है।

slip disc symptoms | slipped disc treatment

ज्यादा तला हुआ खाना ना खाएं (For Slip Disc Avoid Junk Food)

यदि आप स्लिप डिस्क की समस्या से परेशान हैं तो आपको ज्यादा तला हुआ खाना नहीं खाना चाहिए और ज्यादा मसालेदार खाना भी नहीं खाना चाहिए क्योंकि इस प्रकार के भोजन का सेवन करने से आपको परेशानी हो सकती है, इसके साथ साथ आप बाजार में मिलने वाले रिफाइंड का इस्तेमाल अपने घर में सब्जी बनाने के लिए ना करें और जितना हो सके उतना आप सिंपल खाना ही खाइए, क्योंकि सिंपल खाना हमारे लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है।

झुककर बाइक ना चलाएं (Avoid bending and riding bike in Slipped Disc)

यदि आप मोटरसाइकिल पर कहीं भी सफर करते हैं तो आपको उस पर झुक कर नहीं बैठना चाहिए क्योंकि झुक कर बैठने से भी आपको स्लिप डिस्क की समस्या हो सकती हैं, और यदि आपको स्लिप डिस्क की समस्या है तो आपको बिल्कुल भी बाइक नहीं चलानी चाहिए, जितना हो सके उतना आप पैदल ही सफर कीजिए और इसके अतिरिक्त भी यदि आप कहीं पर सफर करते हैं तो अपनी कमर बिल्कुल सीधी रखें।

Slipped Disc Conclusion –

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट बहुत ही पसंद आई होगी इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको स्लिप डिस्क के बारे में विस्तार से समझाया है और इसके साथ-साथ हमने आज आपको बताया है कि Slipped Disc Kya Hai? Slipped Disc Ke Lakshan In Hindi? Slipped Disc Ke Karan? Slipped Disc Ka ilaj? Slipped Disc Ke Liye Exercise? Slipped Disc Ka Gharelu Upchar? Slipped Disc Ke Vyayam? यदि अब भी आपको हमारी पोस्ट से संबंधित कोई भी प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं, हम कुछ ही समय में आपको उसका जवाब जरूर देंगे। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This