First Week of Pregnancy: प्रेगनेंसी का पहला सप्ताह लक्षण,शारीरिक बदलाव, खुद की देखभाल एवं बच्चे का विकास | First week of pregnancy – symptoms, physical changes, self-care tips and development of the baby Hindi

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।

First Week of Your Pregnancy – जानिए प्रेगनेंसी के पहले हफ्ते के लक्षण, टिप्स, डाइट तथा बच्चे का विकास किस प्रकार होता है।

बहुत सी महिलाएं गर्भधारण को लेकर बहुत चिंतित रहती है, क्योंकि महिलाएं गर्भवती तो हो जाती है। लेकिन उन्हें पता नहीं चलता कि वह गर्भवती हुई है या नहीं ऐसा इसलिए होता है। क्योंकि बहुत-सी महिलाओं को Pregnancy के पहले सप्ताह में कुछ खास लक्षण नहीं दिखाई देते इसीलिए वह सोच लेती है, कि हम Pregnant नहीं हैं। आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको First Week Of Pregnancy के बारे में विस्तार से बताएंगे , जिससे आपको Pregnancy 1st Week Symptoms In Hindi तथा Pregnancy Health Care Tips In Hindi के बारे में पता लग जाएगा।

हम आपको बता दें कि, Pregnancy में महिलाओं को अपना काफी अधिक ध्यान रखना होता है। खासतौर पर Pregnancy के पहले सप्ताह में तो महिलाओं को अपना काफी अधिक खयाल रखना होता है। इसी के साथ-साथ बहुत से ऐसे बदलाव भी हैं, जो महिलाओं को अपने जीवन में करने होते हैं। इन सब के बारे में आज हम इस पोस्ट में आपको बता रहे हैं, जिसके माध्यम से गर्भवती महिलाओं को काफी मदद मिलेगी।

First Week of Pregnancy Table of Contents:

Your Baby’s Development in First Week – पहले सप्ताह में बच्चे का विकास ?

जब कोई भी महिला Pregnant हो जाती है, तो महिला के प्रग्नेंट होने के पहले ही हफ्ते में निषेचित अंडे ( Fertilized Egg ) में विभाजन हो जाता है और कोशिकाओं के इस गोले को विज्ञान की भाषा में ब्लास्टोसाइट ( Blastocyte ) भी कहते हैं।

First Week of Pregnancy Symptoms – पहले सप्ताह में प्रेगनेंसी के सामान्य लक्षण

जब गर्भावस्था की शुरुआत होती है, तो शुरुआत में महिलाओं को बहुत से लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जैसे कि जी मिचलाना, उल्टी होना, बार बार पेशाब आना आदि इसके अतिरिक्त भी बहुत से लक्षण महिलाओं में देख सकते हैं जैसे कि :-

1. ब्लीडिंग ( Bleeding )

Implantation Bleeding भी प्रेगनेंसी के शुरुआती संकेत में से एक है, यह मासिक धर्म की तरह बिल्कुल भी नहीं होता। इसमें महिलाओं को हल्की सी Bleeding होती है जिसमें खून का एक धब्बा या फिर गुलाबी स्त्राव होता है। इसके अतिरिक्त कुछ घंटों या कुछ दिनों तक Spoting भी हो सकती है।

2. ऐंठन ( Twitch )

Pregnancy के शुरुआती लक्षणों के रूप में महिलाओं को हल्की सी ऐंठन भी महसूस हो सकती है। क्योंकि जब भूर्ण गर्भाशय की दीवार से जुड़ता है, तो उसके कारण ऐंठन होती है। प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को पेट या कमर के निचले हिस्से में भी ऐंठन महसूस हो सकती है। इसमें महिलाओं को खिंचाव गुदगुदी या खुजली जैसा कुछ महसूस होता है। कुछ महिलाओं को तो बहुत हल्की एंटन होती है, तो कुछ महिलाओं को काफी ज्यादा ऐंठन भी महसूस हो सकती है।

3. कमर दर्द तथा ब्लोटिंग (Back Pain And Bloating)

जब महिला गर्भवती होती हैं तो, शुरुआत में Uterine Lining रिलीज होने पर गर्भाशय में खिंचाव भी आता है, जिसके कारण कमर तथा पेट में दर्द भी हो सकता है। इसके अतिरिक्त Harmons के उतार-चढ़ाव के कारण पेट फूलने की शिकायत भी महिलाओं को हो सकती है। इसके अतिरिक्त प्रेगनेंसी के पहले सप्ताह में महिलाओं को पीरियड की तरह ही Mood Swing भी परेशान कर सकते हैं।

4. शरीर में बदलाव (Change in Your Body)

जब महिलाएं गर्भवती होने लगती हैं, तो शुरुआती दिनों में महिलाओं को अपनी ब्रेस्ट में अचानक से ही भारीपन भी महसूस होता है और चेहरे पर भी झाइयां नजर आने लगती हैं। यह बदलाव गर्भावस्था के शुरुआती छह महीनों से लेकर अंतिम 6 महीनों में नजर आ सकते हैं।

5. सिर दर्द तथा चक्कर आना (Hedache and Dizziness)

बहुत से मामलों में जब महिला गर्भवती होती है, तो उसके पहले सप्ताह में महिलाओं का थोड़ा सिर दर्द भी रहता है और कुछ महिलाओं को शुरुआती दिनों में चक्कर भी आ सकते हैं। खास तौर पर यह लक्ष्मण उन महिलाओं में दिखते हैं, जो दूसरी महिलाओं की अपेक्षा काफी कमजोर होती हैं।

6. थकान (Tiredness)

जब महिलाएं गर्भवती होती हैं तो शुरुआती लक्षणों में उन्हें काफी ज्यादा थकान भी महसूस हो सकती है क्योंकि थकान होना भी गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों में से एक है इसीलिए गर्भवती महिलाओं को ज्यादा चिंता नहीं करनी चाहिए।

और पढ़ें – जाने पीरियड्स के दौरान सेक्स करना कितना ख़तरनाक और कितना मज़ेदार।

Self-Care Tips In First Week of Pregnancy – गर्भावस्था के पहले सप्ताह में देखभाल कैसे रखें ?

जब महिला गर्भवती हो जाती है, तो उसे अपना काफी ज्यादा ख्याल रखना पड़ता है, क्योंकि माता के ऊपर ही बच्चे का जीवन भी निर्भर करता है। इसीलिए गर्भवती होने पर महिलाओं को बहुत सी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है जैसे कि :-

  • आपको भारी वजन उठाने से बचना होगा यदि आप काफी ज्यादा वजन की कोई चीज उठाते हैं, जैसे कि पानी से भरी बाल्टी या फिर गैस का सिलेंडर या और भी कुछ भारी काम करते हैं, तो उसके कारण आपके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।
  • आप जब अपने घर की छत पर जाती हैं, तो आपको आराम-आराम से छत पर जाना होगा। क्योंकि सीढ़ी पर ज्यादा जल्दी चढ़ने और उतरने से भी आपके बच्चों को नुकसान पहुंच सकता है।
  • अगर आप कोई Exercise या Yoga करती हैं, तो आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को शुरुआती दिनों स्पेशली First Week of Pregnancy में कोई भी लंबा सफर नहीं तय करना चाहिए। यदि आप कहीं पर घूमने जा रही हैं या कहीं रिश्तेदारी में जा रही है, तो अभी कुछ दिन के लिए घर पर ही रहे ताकि आप और आपका बच्चा स्वस्थ रह सकें।
  • अगर आप किसी भी प्रकार की कोई दवाई खाती हैं, तो आपको पहले डॉक्टर को उस दवाई के बारे में बताना चाहिए। यदि डॉक्टर आपको वह दवाई खाने को कहता है, तो ही उसका सेवन करना चाहिए अन्यथा अपनी मर्जी से किसी भी दवाई का सेवन ना करें।
  • महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान गर्म चीजें खाने से बचना चाहिए गर्म चीजें जैसे कि अखरोट, काजू, पिस्ता, छुआरे आदि क्योंकि बहुत से Dry Fruit काफी गर्म होते हैं जो गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को गर्भधारण करने में दिक्कतें पैदा कर सकते हैं इसी के साथ-साथ महिलाओं को ज्यादा मात्रा में बादाम का सेवन भी नहीं करना चाहिए

और पढ़ें – सेक्स करने का सबसे सही समय कौन सा होता है। ( मॉर्निंग सेक्स फुल डिटेल्स ) , और कितनी उमर मे सेक्स का भरपुर मज़ा ले सकते है।

Make A Healthy Lifestyle in First Week of Pregnancy – एक स्वस्थ जीवनशैली बनाएं

 महिलाओं को गर्भवती होने पर अपनी जीवनशैली में बहुत से बदलाव करने होते हैं जैसे कि :-

  • अगर कोई महिला शराब का सेवन करती है, तो उसे गर्भावस्था के दौरान शराब का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह बच्चों को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है।
  • अगर कोई महिला ड्रग्स लेती है या फिर सिगरेट या तंबाकू का सेवन करती है, तो उसे भी यह सब छोड़ना होगा, क्योंकि नशीले उत्पाद का सेवन करने से गर्भ में पल रहे बच्चे के ऊपर काफी बुरा असर पड़ता है, यह भी हो सकता है कि, आपके पेट में पल रहे बच्चे को आपकी वजह से कोई बीमारी हो जाए।
  • आपके साथ साथ आपके जीवन साथी को भी यह सब चीजें छोड़नी होगी। क्योंकि यदि आपके घर में कोई व्यक्ति आपके सामने बीड़ी सिगरेट पीता है, तो उसकी वजह से भी आपके बच्चे के ऊपर बुरा असर पड़ सकता है, इसीलिए अपने जीवनसाथी तथा घर के दूसरे लोगों से भी बीड़ी सिगरेट का सेवन बंद करवाएं।
  • महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान बाहर का तला हुआ खाना नहीं खाना चाहिए। क्योंकि बाहर का तला हुआ खाना महिलाओं को नुकसान पहुंचा सकता है। बहुत सी महिलाएं गर्भावस्था के दौरान बाहर से घर पर भी खाने की चीजें मंगवा कर खाती हैं। लेकिन हम आपको बता दें कि आप बिल्कुल भी ऐसा ना करें, क्योंकि आपके खाने पीने का असर आपके बच्चे पर भी पड़ता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को तनाव से बिल्कुल दूर रहना चाहिए, क्योंकि तनाव में रहने के कारण उनके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।
  • गर्भवती महिलाओं को Cold Drink का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि Cold Drink स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं होती खासतौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए तो कोल्ड ड्रिंक बिल्कुल भी ठीक नहीं मानी जाती और डॉक्टर भी Cold Drink पीने की सलाह गर्भवती महिलाओं को नहीं देते इसीलिए Cold Drink से परहेज रखें।

Eat Healthy Diet in the First Week of Pregnancy – पोस्टिक आहार का सेवन करें

  • गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान खाने-पीने का खासतौर पर ध्यान रखना होता है, क्योंकि खाने पीने का काफी ज्यादा असर महिलाओं पर पड़ता है क्योंकि जो भी महिलाएं खाती हैं। उसका सीधा पोषण बच्चे को भी मिलता है इसीलिए महिलाओं को यह सलाह दी जाती है कि, वह गर्भावस्था के दौरान पौष्टिक आहार का सेवन करें।
  • गर्भावस्था के दौरान First Week of Pregnancy में महिलाओं खासकर को हरी सब्जियां तथा दालों का सेवन करना चाहिए। इसी के साथ-साथ महिलाओं को ताजे फल जैसे कि सेब अनार पपीता अंगूर अनानास आदि का सेवन जरूर करना चाहिए। इसके अतिरिक्त महिलाएं साबुत अनाज को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं, साबुत अनाज जैसे कि दलिया तथा ओट्स।
  • इसी के साथ-साथ महिलाओं को दूध तथा दूध से बनी हुई चीजों का सेवन भी करना चाहिए, जैसे कि पनीर, दही, खोया, देसी घी आदि। महिलाओं को रोजाना एक से दो चम्मच देशी घी का सेवन जरूर करना चाहिए। इसी के साथ-साथ महिलाएं कच्चे पनीर का सेवन भी कर सकती हैं।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को 3 से 4 बदाम रोजाना खाना चाहिए, क्योंकि इस प्रकार उनके बच्चे को भी सही पोषण मिलता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को Folic Acid का सेवन जरूर करना चाहिए, क्योंकि गर्भवती महिलाओं के लिए Folic Acid का सेवन करना काफी जरूरी होता है। Folic Acid का सेवन करने के लिए आप डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं। क्योंकि बहुत से ऐसे सप्लीमेंट भी आते हैं, जो कि फोलिक एसिड के रूप में होते हैं और उन फोलिक एसिड सप्लीमेंट ( Folic Acid Supplement ) का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए बिल्कुल सुरक्षित होता है।

डॉक्टर की सलाह लें – Take Doctor’S Advice In the First Week of Pregnancy

गर्भवती महिलाओं को समय-समय पर डॉक्टर की सलाह जरूर लेते रहना चाहिए, खासतौर पर जब उन्हें गर्भावस्था के लक्षण महसूस होते हैं, तो उस समय उन्हें गायनोलॉजिस्ट ( Gynecologist ) के पास जाना चाहिए। क्योंकि महिलाओं में बहुत सी चीजें ऐसी होती हैं, जो गर्भधारण करने के लिए काफी आवश्यक होती हैं, इसीलिए गर्भावस्था के लक्षण दिखने पर डॉक्टर के पास जरूर जाएं। बहुत सी महिलाएं ऐसी होती हैं जो काफी कमजोर होती हैं, इसीलिए डॉक्टर गर्भावस्था की शुरुआत First Week of Pregnancy से ही उन महिलाओं को बहुत सी दवाइयां देता है, जिससे कि उनके शरीर की कमजोरी को दूर किया जाता है। इसीलिए महिलाओं को डॉक्टर के पास जाना जरूरी होता है।

सुबह शाम पार्क में जाएं – Visit the Park in First Week of Pregnancy

गर्भवती महिलाओं को सुबह और शाम पार्क में जरूर घूमने जाना चाहिए क्योंकि पार्क में घूमने से पूरे शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह अच्छे से होता है और इसी के साथ-साथ हमारा शरीर स्वस्थ बना रहता है। इसके अतिरिक्त हम आपको बता दें, कि जिन महिलाओं में रक्त संचार अच्छे से नहीं होता, वह यदि पार्क में सुबह शाम घूमने जाती हैं, तो उन्हें इस समस्या से भी छुटकारा मिल जाता है। इसीलिए गर्भवती महिलाओं को रोजाना पार्क में सुबह और शाम को जरूर जाना चाहिए।

First Week of Pregnancy Conclusion

हम उम्मीद करते हैं कि, आपको First Week of Pregnancy Symptoms In Hindi से संबंधित हमारी यह पोस्ट काफी पसंद आई होगी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको First Week of Pregnancy Health Care Tips In Hindi तथा First Week of Pregnancy Me Kya Khana Chaiye यह बताया है। इसी के साथ-साथ हमने आपको First Week of Pregnancy Me Kaise Sona Chaiye तथा Healthy Foods during Pregnancy Time In Hindi के बारे में भी बताया है। यदि अभी आपको हमसे Pregnancy Health Care Tips In Hindi से संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद

विकिपीडिया पर और जानकारी प्राप्त करें।

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This