Conception in Pregnancy(गर्भावस्था में गर्भ धारण करना): क्या आपके शुक्राणु कमजोर है? जानिए गर्भावस्था में गर्भाधान की पूरी जानकारी, बच्चे होने के लिए यह क्यों है जरूरी। और यह कब होता है?

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।
Conception in Hindi Table Of Content

Conception in Pregnancy(गर्भावस्था में गर्भ धारण करना) – गर्भ धारण करने की सम्पूर्ण जानकारी, बच्चे होने के लिए यह क्यों है जरूरी। और यह कब और कैसे होता है?

क्या आपके भी शुक्रान कमजोर है और vagina में enter करते ही आपके शुक्राण मर जाते है तो जानिए ऐसा क्यों होता है। conception यानी egg और sperm की joining successfully जब कोई दो व्यक्ति संभोग करते है उसके कुछ घंटे या फिर दिनों बाद conception होता है। यानी की egg और sperm का एक साथ ज्वाइन होना इसे ही conception कहा जाता है। कही सारे लोग इस process से जुड़े परेशानियों से गुजरते है और यह प्रेगनेंसी न होने का कारण भी बन सकता है।

तो दोस्तो आज इस लेख में हम इस बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे जिसके चलते आप conception के बारे में जान सकेंगे और साथ ही आपको यह भी पता चलेगा की यह क्यू महत्वपूर्ण माना जाता है। यह कोई गंभीर बीमारी नही लेकिन कुछ लोगो के sperms vagina में enter करते ही मर जाते है इसी वजह से conception नही हो पाता है।

Conception क्या है? और यह क्यों जरूरी है? - Conception in Pregnancy Image

Conception क्या है? और यह क्यों जरूरी है?

जैसा कि हमने आपको बताया conception यानी egg और sperm की joining successfully जब कोई दो व्यक्ति संभोग करते है उसके कुछ घंटे या फिर दिनों बाद conception होता है।Sexual intercourse के वक्त पुरुष स्खलन करते है और semen release करते है vagina के अंदर। सीमेन के अंदर स्पर्म होता है जो सीमेन से बाहर निकलने की बहुत कोशिश करता है और महिला के cervical mucus में जाने की कोशिश करता है।

कही सारे स्पर्म महिला के vagina में जाने की कोशिश करते है लेकिन सभी स्पर्म vagina में यानी की cervical mucus में जाने की कोशिश करते है लेकिन वह वहा पोहोचने से पहले ही मर जाता है। सिर्फ कुछ ही स्पर्म यानी वह स्पर्म्स जो स्ट्रॉन्ग होते है वही ट्रैवल करके महिला के fallopian tubes तक जा पाते है और egg को fertilize होने का इंतजार करते है।

अगर दोनो वहा पर मिलते है तब जाकर conception होता है। अगर आपका स्पर्म fertilize भी हो जाता है फिर भी कही सारे स्टेप्स है जो pregnancy के लिए बहुत जरूरी माना जाता है। और यह स्टेप्स अच्छी तरीके से फॉलो होने चाहिए। Conception के चलते ही बच्चे के  जन्म की process शुरू होती है।

आपके menstrual cycle की गणना एक माहवारी के menstrual के bleeding के पहले दिन से आपकी अगली अवधि के menstrual के bleeding के पहले दिन तक की जाती है। सारे doctors menstrual cycle की length 28 की सलाह देते है। इसका यह मतलब बनता है की महिलाएं छोटे या बड़े साइकिल का अनुभव करता है। यह ovulation पर प्रभाव करता है और फलस्वरूप जब आप गर्भ धारण करते है।

आपके साइकिल का पहला दिन ही पीरियड का पहला दिन माना जाता है।  साइकिल के बीच के समय में ओवरी egg release करती है इस प्रोसेस का नाम ovulation होता है। एक समय में यानी पहले ओवुलेशन में आप सिर्फ एक egg ही release करते है। 28 दिनो की साइकिल में ovulation 14 दिन के आस पास होता है। जो आपकी अगली period शुरू होने से लगभग 14 दिन पहले की है।

अगर आप ओवुलेशन के समय में egg release करते है तो वह fallopian tube से ट्रैवल करते हुए यूटरस की ओर जाता है। Ovulation के बाद वह egg कम से कम 24 घंटो तक रह सकता है। उसके बाद egg की स्पर्म को fertilize करने की ability खतम हो जाती है। क्योंकि fertilization यह fallopian tube में होता है, unfertilized egg uterus तक पहुंचने से पहले विखंडित हो जाता है। इससे आपको यह पता चल गया होगा की यह सारी process क्यों मायने रखती है और इसका प्रभाव आपके प्रेगनेंसी पर कैसे पढ़ सकता है।

What is Conception in Hindi- गर्भावस्था में गर्भ धारण करने का फोटो

Conception या गर्भाधान का होना प्रेगनेंसी के लिए क्यों जरूरी माना जाता है?

Conception pregnancy के process की एक critical step है। अगर महिला ने ovulate नही किया तो वह naturally pregnant नही हो सकती है। साथ ही अगर किसी पुरुष के स्पर्म स्ट्रॉन्ग नहीं है यानी की fallopian tube तक न जा पाए तो egg fertilize नही हो सकता है। और अगर यह चीजे ना हुई तो conception नही होगा। आपका यह जानना जरूरी है fertility की treatment से आपके pregnant होने के chances बढ़ जाते है।

जैसे जैसे एक महिला की उम्र बढ़ती है प्रेगनेंट होने के chances कम होते रहते है। ऐसा क्यों होता है यह जानना भी जरूरी है जब किसी महिला का जन्म होता है तभी यानी के जन्म से सिर्फ 10 से 20 लाख ही eggs ovaries में प्रेजेंट होते है। सिर्फ इतने ही eggs आपके पास आपके जन्म से होते है।लेकिन समय के चलते fertility यह ड्रॉप हो सकती है और इसी कारण से eggs के क्रमांक भी गिर सकते है। और इसका कारण follicular atresia यानी वह process जहा थोड़े eggs जो ओवुलेशन के समय नहीं रिलीज हुए होते है वह breakdown हो जाते है।

साथ ही आपको यह जानना जरूरी है प्यूबर्टी के समय भी eggs के अंक 300,000 से 500,000 तक गिर जाते है यह अंक नीचे गिरते रहता है। और 37 के उम्र तक एक आम महिला के बाद सिर्फ 25,000 eggs ही रहते है। जैसे जैसे eggs के नंबर decrease होते रहते है eggs की क्वालिटी में भी प्रभाव पड़ता है और eggs की quality भी चेंज होती है।

जैसे जैसे महिला की उम्र नीचे गिरते रहती है जो भी बचे हुए eggs होते है ऐश abnormal chromosomes का शिकार हो सकते है। और जैसे उम्र बढ़ती है गर्भाशय फाइब्रॉएड और एंडोमेट्रियोसिस के लक्षण बढ़ जाते है और वह fertility को बढ़ी मात्रा में प्रभाव डालते है।  और यह सभी चीजे ovulation और गर्भधारन करने की ability को impact करती है।

Conception का होने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज एक पुरुष का स्पर्म माना जाता है। और यह बहुत जरूरी है की पुरुष का स्पर्म हेल्थी हो और साथ ही उस स्पर्म में egg को fertilize करने की ताकत हो। कही सारे शुक्राणु fallopian tube जा पाते है लेकिन Fertilization के लिए केवल एक की आवश्यकता होती है। और जैसा की हमने आपको बताया यह बहुत जरूरी है की स्पर्म स्ट्रॉन्ग हो अगर ऐसा नहीं होता तो कमजोर स्पर्म fallopian tube में जाकर मार जाते है।

Conception(गर्भाधान) क्यों होता है? – Why Conception happens?

अब सबसे महत्वपूर्ण आपको यह जानना जरूरी है कि conception होता क्यों है यह कोई बीमारी या फिर साइड इफ़ेक्ट नही है बल्कि यह आपके pregnancy के लिए बहुत महत्वपूर्ण और जरुरी कदम है।  जब भी कोई दो व्यक्ति sexual intercourse करते है उसके कुछ ही समय बाद यानी की सेक्स करने के कुछ घंटो बाद या फिर कुछ दिनों बाद होता है।  जैसा की आप जानते है egg बस कुछ ही समय के लिए होता है लेकिन semen 5 दिनो तक महिला के reproductive tract में रहता है।

इसका सीधा यह मतलब बनता है की conception कभी भी हो सकता है सेक्स करने के कुछ समय बाद या फिर सेक्स करने के 5 दिनो बाद।Conception दो तरीके से हो सकता है दोनो तरीके में egg और sperm का मिलना जरूरी है। लेकिन दो तरीको में से एक जल्द होने की संभावना है। और इसके अलावा

आप 24 घंटे की अवधि के दौरान यौन संबंध रखते हैं तब आपके अंडाणु fertilize हो जायेंगे।

अगर आप ovulate कर रहे है और egg को रिलीज करते है तो वह egg fallopian tube में जायेगा और वहा पर वह egg 24 घंटो के लिए रहेगा। अगर आपने इस समय में सेक्स किया और अगर आपके पार्टनर ने ejaculation किया और वह स्पर्म अगर fallopian tube तक पहुँच गया और वहा पर egg से जुड़ गया और sperm और egg fertilize हुए तब जाकर conception होगा। 

अगर आप ओवुलेशन से पहले या उसके ठीक बाद के दिनों में सेक्स करते हैं तो क्या होगा ?

अगर आपके सेक्स किया लेकिन ovulating नही किया फिर भी conception हो सकता है। उदहारण के लिए अगर आपने 13 वे दिन पर यानी menstrual cycle के 13 दिन पर सेक्स किया sperm आपके semen से निकलकर cervical opening के चलते

Uterus में जायेगा और अंत में वह fallopian tube में चला जायेगा। यह वह जगह है जहा यानी fallopian tube में वह स्पर्म egg से मिलेगा या फिर वहां पर मर जाएगा।  और अगर महिला ने 14 दिन पर ovulate किया तो sperm अंदर जिंदा होगा और egg को मिलने के लिए रुका होगा अगर ऐसा होता है तो भी conception हो सकता है। इससे पहले आप अपने आप को pregnant समझे एक और कदम है जो होना  बहुत जरूरी है और

Conception के बाद egg का fertilise होना बहुत जरूरी है और fertilize होने के बाद fertilized egg को यूटरस में जाना और uterine wall में implant होना जरूरी है। इसे implantation कहते है और यह Fertilization के ठीक बाद  7 से 10 दिनो का समय लेता है।

How to avoid Conception Image - गर्भ धारण नहीं करने के लिए क्या करे पिक्चर
image source:- http://www.canva.com

Conception – गर्भ धारण नहीं करने के लिए क्या करे ?

अगर आपको सेफ तरीके से सेक्स करना है तो आपको safety इस्तेमाल करनी है यानी उससे conception नही होगा। लेकिन इस बात का खास ध्यान राखिए की आपको सारी process को अच्छी तरह से follow करना है तभी जाकर आप आगे pregnancy के और कदम रख सकते है।

Conception in Pregnancy – गर्भावस्था में गर्भ धारण करना निष्कर्ष।

तो दोस्तो इस लेख में हमने आपको conception से जुड़ी सारी जानकारी दी में आशा करता हु आपको यह लेक पसंद आया होगा और conception के अलावा भी कही सारे स्टेप्स है जिन्हे ध्यान में रखकर आपको follow करना है। तो अगर आपको इस लेख से महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है तो इसे शेयर करना न भूले। 

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This