Paneer During Pregnancy: गर्भावस्था के दौरान पनीर खाने के फायदे और नुकसान |Advantages and disadvantages of eating paneer during pregnancy

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।
Paneer During Pregnancy Table Of Content in Hindi

Paneer During Pregnancy: गर्भावस्था के दौरान पनीर खाने के फायदे और नुकसान

आपने अक्सर बहुत सी महिलाएं देखी होंगी वह अपने आहार में ऐसे चीजों का सेवन करती हैं जो गर्भावस्था के दौरान बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। ऐसी भी कई महिलाएं होती हैं जो अपने आहार में ऐसी चीजों का बिल्कुल भी सेवन नहीं करती हैं जो गर्भावस्था के दौरान उन्हें सेवन करना चाहिए जिसमें से एक पनीर भी है। ज्यादातर महिलाएं गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन करती हैं महिलाओं को इन बातों का ध्यान नहीं होता है कि पनीर खाने से उनके शरीर को कितने फायदे और कितने नुकसान होंगे।

पनीर एक प्रकार का डायरी पदार्थ जो दूध से बनता है पनीर को दूध में खटास मिलाकर बनाया जाता है शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे पनीर खाना पसंद नहीं होगा। पनीर का सेवन जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान करती हैं तो उन्हें पता होना चाहिए कि पनीर के क्या फायदे और क्या नुकसान हैं क्योंकि पनीर एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसका नियमित मात्रा में सेवन महिलाओं के लिए फायदेमंद भी हो सकता है और हद से ज्यादा खाने से यह दुष्प्रभाव का कारण भी बन सकता हैं। वैसे तो गर्भावस्था के दौरान पनीर खाने से अनेकों प्रकार के फायदे होते हैं पनीर महिला के अच्छे स्वास्थ्य से लेकर बच्चे के विकास में भी सहायक होता है।

आज हम आपको इसी विषय में पूरी जानकारी देंगे की Is it Safe for Women to Eat Paneer During Pregnancy In Hindi तथा When to Eat Paneer During Pregnancy In Hindi इसी के साथ साथ हम आपको How Much Paneer Can a Woman Eat in a Day During Pregnancy In Hindi तथा Some Precautions Have to be Taken While Consuming Paneer In Pregnancy In Hindi के बारे में भी बताएंगें।

 Paneer During Pregnancy

क्या गर्भावस्था के समय पनीर खाना महिलाओं के लिए सुरक्षित है – Is it Safe for Women to Eat Paneer During Pregnancy In Hindi ?

आपने बहुत सी महिलाएं ऐसी देखी होंगी जो यह सोचती है कि क्या गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन कर सकते हैं तो उन महिलाओं को आज हमें यह बताएंगे कि आप पनीर का सेवन कर सकते हैं। क्योंकि गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन अवश्य ही करना चाहिए क्योंकि पनीर में आयरन पोषक तत्व कैल्शियम जैसे पदार्थ पाए जाते हैं। जब महिला गर्भवती होती है तो डॉक्टर भी उन्हें पनीर खाने की सलाह देते हैं। पनीर में जो पोषक तत्व पाए जाते हैं उस से महिलाओं का शरीर भी स्वस्थ रहता है और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे का विकास से अच्छे से होता है।

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं निरंतर पनीर का सेवन करती हैं और उचित मात्रा में करती हैं तो इससे उनके शरीर को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता और उनके साथ-साथ उनके गर्भ में पल रहे शिशु को भी किसी पोषक तत्व की कमी नहीं होती। पनीर का सेवन करने वाली महिलाओं के शिशु का जब उसका जन्म होता है तो उसके शरीर में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। इसीलिए गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के लिए पनीर बहुत ही जरूरी है लेकिन महिलाओं को इस चीज का भी पता होना चाहिए कि उन्हें कितनी पनीर का सेवन करना हैं। बहुत सी महिलाएं बिना सोचे समझे ही दिन में 3-4 बार पनीर खा लेती हैं और काफी ज्यादा मात्रा में खाली थी जिसके कारण उन्हें पाचन तंत्र से संबंधित समस्याएं या फिर उल्टियां भी लग जाती हैं।

गर्भावस्था के दौरान पनीर कब खाना चाहिए – When to Eat Paneer During Pregnancy In Hindi ?

जैसे हमने आपको ऊपर बताया है कि गर्भावस्था के दौरान पनीर अवश्य ही खाना चाहिए लेकिन हम आपको यह बात बता देते हैं कि गर्भावस्था के दौरान पनीर किस तिमाही से खाना शुरू करना चाहिए बहुत सी महिलाएं ऐसी होती हैं जिन्हें यह पता नहीं होता है कि पनीर कब खाना चाहिए और कब नहीं। आप जब भी पनीर का सेवन करना चाहती है तो पहले आप डॉक्टर ले अगर आपको डॉक्टर पनीर खाने के लिए कहते हैं तो ही आप पनीर का सेवन करें।

अगर आप घर बैठक के दौरान पानी खाना चाहती हैं तो बेहतर होगा आप पहले डॉक्टर की सलाह लें, क्योंकि महिलाओं की गर्भावस्था एक सी नहीं होती है अलग-अलग होती है इसलिए डॉक्टर उन महिलाओं को पनीर वैसे ही खाने को कहते हैं जैसे उनकी गर्भावस्था होती है। डॉक्टर आपको सारी जानकारी देंगे कि आपको पनीर कब और कितनी मात्रा में खाना चाहिए इसलिए आप अपनी मर्जी से बिल्कुल भी पनीर का सेवन ना करें।

Baby Care During Weather Change: बदलते मौसम में माता-पिता अपने छोटे बच्चों का ख्याल कैसे रखें |

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं एक दिन में कितना पनीर खा सकती है – How Much Paneer Can a Woman Eat in a Day During Pregnancy In Hindi ?

कहा जाता है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन करना चाहिए। बहुत-सी महिलाओं को यह पता नहीं होता है कि गर्भावस्था के दौरान उन्हें पनीर का सेवन कितना करना चाहिए। महिलाएं जब भी पनीर का सेवन करेंगी तो उन्हें ये बात ध्यान देनी होगी कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन 130 या 140 ग्राम का सेवन करना चाहिए। इतनी मात्रा में पनीर का सेवन गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर के लिए पनीर बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है

लेकिन हम आपको यह भी बता देते हैं कि कई बार ऐसा होता है की पनीर का सेवन सेहत के हिसाब से करना चाहिए। इसलिए जब भी आप पनीर का सेवन करना चाहिए तो आप पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें डॉक्टर आपको सेहत के अनुसार आपको यह बताएंगे कि आप पनीर का सेवन कितना कर सकते हैं। क्योंकि हर महिलाओं की गर्भावस्था अलग-अलग होती है इसलिए महिलाएं एक जस्सी मात्रा में पनीर का सेवन नहीं कर सकती इसलिए पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें ।

पनीर में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients found in Paneer In Hindi ?

बहुत-सी महिलाओं को यह पता नहीं होता है कि पनीर में कितने पोषक तत्व पाए जाते हैं। कई महिलाओं को यह पता भी होगा कि पनीर में कितने पोषक तत्व पाए जाते हैं लेकिन फिर भी वें पनीर का सेवन नहीं करती हैं। पनीर के अंदर अनेकों प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि Energy , Protein , Carbohydrate , Fat , Sugar , Calcium , Sodium , Vitamin A , Fatty Acid , Cholesterol आदि पनीर में यह सब तत्व पाए जाते हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन करना चाहिए क्योंकि इसमें बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं लेकिन जब भी आपने का सेवन करें पहले आप डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

 Paneer During Pregnancy

गर्भावस्था के दौरान पनीर के फायदे – Benefits of Paneer During Pregnancg In Hindi ?

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में पनीर खाने से अनेकों प्रकार के फायदे हो सकते हो सकते हैं नीचे हम उन फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं –

भ्रूण के विकास में सहायक

100 ग्राम पनीर में लगभग 21.43 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती हैं। गर्भावस्था के दौरान माता और उसके बच्चे दोनों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रोटीन एक आवश्यक तत्व होता है। अगर गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है तो बच्चे के विकास में भी कमी होने लगती है बच्चे का विकास अच्छे से नहीं हो पाता हैं।

अगर गर्भवती महिला के शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है तो मांसपेशियों की कमजोरी, गंभीर बीमारियां या बच्चों को कुपोषण की समस्या हो सकती है। यह सब समस्या बच्चे में तभी आती है अगर गर्भवती महिला के शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती हैं। इसलिए अगर महिलाएं अपने शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं होने देंगी तो उनके बच्चे को किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं होगी।

कमजोर हड्डियों के लिए

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के लिए कैल्शियम अहम पोषक तत्व माना जाता हैं। 100 ग्राम पनीर में लगभग 174 मिलीग्राम कैल्शियम की मात्रा होती है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कम से कम प्रतिदिन 1000 मिलीग्राम कैल्शियम सप्लीमेंट की जरूरत होती है और साथ ही शिशु के हड्डियों के विकास के लिए भी कैल्शियम बहुत ज्यादा फायदेमंद होता हैं।

गर्भावस्था के दौरान खासकर महिलाओं को दूसरी और तीसरी तिमाही में कैल्शियम लेना बहुत जरूरी होता है कैल्शियम से महिलाओं के शरीर में रक्त चाप में संतुलित रहता है और अगली पीढ़ी में उच्च रक्तचाप समस्या को रोकने में मदद करता हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन करना चाहिए क्योंकि इसमें कैल्शियम की मात्रा पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है।

आंखों के लिए जरूरी

गर्भवती महिला और उसके बच्चे के लिए Vitamin – A भी जरूरी पोषक तत्व माना गया है यह बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास के साथ-साथ आंखों के लिए भी यह आवश्यक पोषक तत्व माना जाता हैं। इसके अलावा शिशु के विकास और हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए विटामिन ए बहुत ही आवश्यक माना गया है अगर किसी बच्चे को गर्भ में ही अंधापन होता हैं, तो विटामिन ए गर्भ में ही बच्चे का अंधापन भी बचा सकता है। इसी के साथ साथ बच्चे की त्वचा के लिए भी विटामिन ए बहुत ही लाभदायक होता है। इसीलिए महिलाओं को विटामिन ए की प्राप्ति के लिए पनीर का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि पनीर में विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं।

मां व शिशु का पूर्ण विकास

जैसे कि आप जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में हर पोषक तत्व किस शरीर में अलग अलग भूमिका होती है उन्हीं में से एक विटामिन डी ( Vitamin – D ) है। पनीर को विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत माना गया है अगर गर्भवती महिला के स्वास्थ्य में किसी भी प्रकार की कोई बीमारी होती हैं, तो विटामिन डी की सहायता से वह समस्या दूर हो सकती है और बच्चे के विकास के लिए भी विटामिन डी बहुत जरूरी होता है। जब महिला गर्भवती हो जाती है तो उसके बाद भी विटामिन डी जरूरी होता है विटामिन डी के सेवन से आप अस्थमा और डायबिटीज जैसी बीमारियों को होने से रोक सकते हैं। इसलिए घर जैसा के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन करना चाहिए।

एनीमिया से बचाव

जब गर्भवती महिला के शरीर में आयरन की कमी हो जाती हैं, तो महिलाओं को बहुत सी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है जो एक समस्या एनीमिया भी हो सकती है। गर्भवती महिला को पनीर का सेवन करना चाहिए। क्योंकि इसमें आयरन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है और गर्भवती महिला के शरीर के लिए फायदेमंद होता है। अगर महिला के शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो महिला के शरीर में एनीमिया की समस्या हो सकती है यह गर्भवती महिला और शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है। शरीर में पर्यावरण के कारण हीमोग्लोबिन का निर्माण होता हैं जो गर्भवती महिला के शरीर में फेफड़ों से होकर अनेकों अंगों तक पहुंचाता हैं।

न्यूरल ट्यूब से बचाव

जब महिला गर्भवती होती है तो कई महिलाओं के शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो जाती हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में फोलिक एसिड की कमी नहीं होनी चाहिए क्योंकि यह गर्भवती महिला और उसके बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है। गर्भावस्था के दौरान महिला और बच्चे के लिए फोलिक एसिड का होना बहुत जरूरी है इसलिए गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन करना चाहिए क्योंकि पनीर में फोलिक एसिड पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है।

गर्भावस्था के दौरान अन्य पोषक तत्वों के साथ फोलिक एसिड या फिर फोलेट के सेवन से नवजात शिशु में न्यूरल ट्यूब दोष का खतरा कम हो सकता हैं। यह एक प्रकार का दोष होता है जो शिशु की रीड की हड्डी से जुड़ा होता हैं। गर्भवती महिला को रोजाना 0.4 से 4 मिलीग्राम फोलिक एसिड लेने की आवश्यकता होती है लेकिन आपको यह बात ध्यान दे रही होंगी कि आप न्यूरल ट्यूब दोष को सिर्फ फोलिक एसिड से ठीक नहीं कर सकते आपको और भी बहुत से पोषक तत्व का सेवन करना होगा और डॉक्टर की सलाह भी अवश्य लेनी होगी।

गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन करते समय बरतनी होगी कुछ सावधानियां – Some Precautions Have to be Taken While Consuming Paneer During Pregnancy In Hindi ?

  • आप जब भी गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन करेंगी, तो पहले आप डॉक्टर की सलाह अवश्य ले अगर डॉक्टर आपको पनीर का सेवन करने को कहते हैं तो ही आप पनीर का सेवन करें।
  • आपको एक बात पर ध्यान देना होगा कि आप कभी भी बच्चे पनीर का सेवन ना करें, क्योंकि इसमें बैक्ट्रिया हो सकते हैं सेहत पर नकारात्मक प्रभाव दिखा सकते हैं। इसलिए आप जब भी पनीर को खाए तो आप पहले अच्छी तरह से पका कर तभी उसका सेवन करें।
  • जब भी आप पनीर का सेवन करें तो आपको जितनी मात्रा में डॉक्टर पनीर खाने को कहेंगे उतनी ही मात्रा में आप पनीर का सेवन करें आप अपनी मर्जी से पनीर का सेवन बिल्कुल भी ना करें। आपको डॉक्टर जितना पनीर सेवन करने को कहते हैं आप उतना ही पनीर का सेवन करें।
  • आप जब भी पनीर का सेवन करेंगे तो हमेशा यह ध्यान देना होगा कि पनीर ताजा होना चाहिए। आप कभी भी बासी पनीर का सेवन ना करें। क्योंकि अगर आप बातें पनीर का सेवन करेंगे तो आपकी तबीयत खराब हो सकती है और यह है गर्भवती महिला और उसके बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
 Paneer During Pregnancy
image source:- http://www.canva.com

गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन करने से होने वाले दुष्प्रभाव – Side-effect Of Paneer During Pregnancy In Hindi ?

  • यह जरूरी नहीं है कि पनीर गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर के लिए फायदेमंद रहे किसी ना किसी महिलाओं के लिए पनीर नुकसानदायक भी साबित हो सकता हैं। अब हम आपको पनीर से होने वाले नुकसान के बारे में बताएंगे।
  • पनीर में पाया जाने वाला वसा कई बार हानिकारक प्रभाव डाल सकता है गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकता है जिससे की है हृदय रोग होने की आकांक्षा रहती है। इसलिए आप जब भी पनीर का सेवन करें तो पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले ऐसी भी बहुत सी चीजें होती हैं जिन्हें गर्भावस्था के दौरान आप नहीं खा सकते हैं। इसलिए आप पहले डॉक्टर की सलाह लें कि आप को गर्भावस्था में किन-किन चीजों का सेवन करना चाहिए।
  • आपने कई बार देखा होगा कि ऐसे बहुत सी महिलाएं होती है जिन्हें दूध या दूध से बनी चीजों से एलर्जी होती है और ऐसी भी कहीं महिलाएं होती हैं। जो महिलाएं दूध और दूध से बनी चीजें बिल्कुल भी पसंद नहीं करती हैं ऐसी महिलाएं अगर पनीर का सेवन करती हैं, तो उन महिलाओं के पेट में ऐठन, सूजन, गैस ,दस्त ,और मितली की समस्या भी हो सकती हैं। इसलिए जिन महिलाओं को यह पता होता है कि उनको दूध या दूध से बनी चीजों से एलर्जी है या वह पसंद नहीं करते हैं, तो ऐसी महिलाओं को पनीर का सेवन नहीं करना चाहिए अगर वह पनीर का सेवन करना भी चाहती है तो पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

Conclusion

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर का सेवन क्यों करना चाहिए और पनीर का सेवन कितने मात्रा में करना चाहिए इस सब के बारे में हमने आपको विस्तार से बताया है क्योंकि पनीर के फायदों के साथ-साथ बहुत से नुकसान भी होते हैं इसलिए महिलाओं को यह भी पता होना जरूरी है कि उन्हें पनीर का कितना सेवन करना है

इसके अतिरिक्त हमने Is it Safe for Women to Eat Paneer During Pregnancy In Hindi तथा When to Eat Paneer During Pregnancy In Hindi इसी के साथ साथ हमनें आपको How Much Paneer Can a Woman Eat in a Day During Pregnancy In Hindi तथा Some Precautions Have to be Taken While Consuming Paneer During Pregnancy In Hindi के बारे में भी पूरी जानकारी दी है।

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This