Gelusil Syrup: जेलुसिल सिरप के उपयोग, फायदे, खुराक, सावधानियां तथा साइड इफेक्ट? | Gelusil Syrup: Uses, Best Benefits, Dosage Precautions, Side effects in Hindi

Must Read

Dr. Puneet Boora
Dr. Puneet Boorahttp://goodswasthya.com
Dr. Puneet Boora holds a Doctorate in Pharmacy (Pharm D) degree and have at least 1.5 years of writing experience in Health and Medicine related domains. He was a former writer for pharma magazines and articles. His hobbies including cricket, table tennis, and other sports. He is well known for his work in medicine dispensing and medical checkups. He prefers his work more and always tries to learn new therapeutic ways of medication dispensing. डॉ. पुनीत बोरा के पास फार्मेसी में डॉक्टरेट (फार्म डी) की डिग्री है और स्वास्थ्य और चिकित्सा से संबंधित डोमेन में कम से कम 1.5 वर्ष का लेखन अनुभव है। वह फार्मा पत्रिकाओं और आर्टिकल्स के पूर्व लेखक थे। क्रिकेट, टेबल टेनिस और अन्य खेल खेलना उनका शौक है। वह दवा वितरण और चिकित्सा जांच में अपने काम के लिए जाने जाते हैं। वह अपने काम को अधिक पसंद करते हैं और हमेशा दवा वितरण के नए चिकित्सीय तरीके सीखने की कोशिश करते हैं।

जेलुसिल सिरप – Gelusil Syrup के उपयोग, फायदे, खुराक, सावधानियां तथा साइड इफेक्ट

अगर आपको एसिडिटी या गैस या अपचन की समस्या है तो आज हम जिस दवाई की बात करने वाले हैं वो आपको इन सभी समस्याओं से बहुत ही आसानी से छुटकारा दिला सकता है।

What is Gelusil Syrup In Hindi Table Of Content

• Gelusil Syrup full information in Hindi.

• Gelusil Syrup kis bimari ke liye hai?

• Gelusil Syrup ke fayde kya hai?

• Gelusil Syrup की खुराक और इसे इस्तेमाल करने के तरीके क्या है?

• Gelusil Syrup में प्रयोग किए जाने वाली सामग्री।

• Gelusil Syrup ke side effects kya hai?

• Gelusil Syrup के प्रयोग करने पर किन सावधानियों को बरतना आवश्यक है?

• Gelusil Syrup के नकारात्मक प्रभाव क्या है?

किन बीमारियों के होने पर Gelusil Syrup का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए?

Gelusil Syrup kya hai? – what is Gelusil Syrup in Hindi?

Gelusil Syrup क्या है? – what is Gelusil Syrup in Hindi?

दोस्तों यदि आप Gelusil Syrup के बारे में जानना चाहते हैं तो हम आपको इसके विभिन्न तथ्यों से अवगत कराते हैं। Gelusil Syrup से संबंधित संपूर्ण जानकारी के अंतर्गत हम आपको बता दें कि यह एक ऐसी दवाई जो विशेष रूप से एसिडिटी से संबंधित समस्याओं के उपचार हेतु ली जाती हैं।

यह एक सिरप है जो पेट से जुड़ी हुई समस्याओं के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है जैसे कि- पेट मे गैस,एसिडीटी, हार्टबर्न या हाइपर एसिडीटी, पेट का फूलना, अल्सर आदि समस्याओं से राहत पाने के लिए जेलुसिल सिरप का सेवन किया जाता है।

जेलुसिल सिरप में कौन-कौन सी सामग्री प्रयुक्त होती है? –major ingredients of Gelusil Syrup in Hindi

Gelusil Syrup को तैयार करने के लिए कई महत्वपूर्ण सामग्रियों का प्रयोग किया जाता है जिसके तहत दवाई के बनने की प्रक्रिया पूर्ण होती है। Gelusil Syrup की सामग्रियां निम्नलिखित है –

• Activated Dimethicone (एक्टिवेटेडडायमेथीकॉन) – 50MG

• Aluminium Hydroxide (एल्यूमिनियम हाइड्रॉक्साइड) – 250 MG

• Magnesium Hydroxide (मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड) –  250 MG

जेलुसिल सिरप एवं इसके विभिन्न पहलुओं की संपूर्ण जानकारी –full information about Gelusil Syrup in Hindi

Gelusil Syrup के बारे में सभी पहलुओं के बारे में जानना बेहद आवश्यक होता है, जो पूर्ण रूप से आपके स्वास्थ्य से संबंधित है।

Gelusil Syrup एक एंटासिड सिरप है, जो पेट में उत्पन्न होने वाली कठिनाइयों के निवारण के लिए उपयोग किया जाता है। इस सिरप का उपयोग खास तौर पर पेट सम्बन्धी कठिनाईयों में किया जाता है, जो निम्नलिखित है-

• गैस

• अल्सर

• एसिडिटी

• सीने मे जलन

• अपाचन

• हायपरएसिडिटी

 यह सिरप (Gelusil Syrup) तीन जेनेरिक फॉर्मूला से मिल कर बना हुआ है जो निम्न है-

• डायमेथीकॉन (Dimethicone)

• एल्यूमिनियम हाइड्रॉक्साइड (Aluminium Hydroxide),

• मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड (Magnesium Hydroxide)

इन तीनों का सॉल्यूशन एसिडिटी के जैसा काम करता है। मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड पेट की एसिडीटी को कम कर के रखता है और डायमेथीकॉन पेट के गैस को कम करने में सहायक है। लेकिन एंटासिड का प्रभाव गोलियों और कैप्सूल  के रूप में लेने से उतना जल्दी नही होता जीतना जल्दी सिरप (तरल पदार्थ) के  रूप में लेने से होता है।

यह भी पढ़े :- Becon Plus Capsule : बेकन प्लस कैप्सूल उपयोग, फायदे, खुराक, सावधानियां तथा साइड इफेक्ट? | Becon Plus Capsule: Uses, Best Benefits, Dosage Precautions, Side effects in Hindi

Gelusil Syrup ke fayde – Benefits of Gelusil Syrup in Hindi

Gelusil Syrup ke fayde – Benefits of Gelusil Syrup in Hindi

दवाइयों का प्रयोग विभिन्न प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है और बीमारियों को भी ठीक कर देता है। इसके पहले हम आपको बता दें कि Gelusil Syrup किसी भी प्रकार से हानिकारक दवाई नहीं है बल्कि इसके कई फायदे हैं और चिकित्सक भी इससे जुड़े सलाह देते हैं। Gelusil Syrup ke fayde निम्नलिखित हैं जो निम्न बीमारियों के इलाज में किया हटा है –

1. पेट मे दर्द होने पर।

2.पेट मे गैस।

3. खट्टा डकार आना।

4. एसिडिटी का होना।

5. पेट मे अल्सर की समस्या।

6. पेट मे कब्ज का होना।

7. अपच की समस्या।

8. आंतो में पानी का बढ़ जाना।

9. पाचक संबंधी छालों के दर्द में राहत के लिए

10.  हाइपरएसिडीटी होने पर।

Gelusil Syrup kaise kaam karti hai? – How does Gelusil Syrup work in Hindi?

सभी दवाइयों के कार्य करने की प्रणाली अलग-अलग तरह की होती है जिसमें मुख्य रूप से इसकी खुराक पर संपूर्ण तथ्य निर्भर करते हैं। इस दवाई के प्रयोग करने के तरीके भी अन्य दवाइयों से अलग हैं।

इस दवा में पाया जाने वाला एलुमिनियम हाइड्रॉक्साइड, डायमेथीकॉन तथा मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड यह तीनों रासायनिक पदार्थ सॉल्यूशन एंटाएसिड के जैसा काम करती है। जिसमे एलुमिनियम हाइड्रॉक्साइड और मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड पेट के अम्ल को कम करता है वही दुसरी और, डायमेथीकॉन गैस को कम करने में सहायक है।

• गोलियां (Tablets) – 1-2 गोलियां खाना खाने के आधे घंटे के बाद या फिर जब जरूरत हो। यदि लक्षण फिर से देखने को मिले तो कुछ घंटों के बाद निर्देशित रूप से दोहराये।

• तरल (Syrup) –इसे उपयोग करने से पहले आप सीसी को अच्छे से हिला ले उसके बाद 1-2 लगभग(5 से 10 मिलीलीटर) खाने के आधे घंटे या जब जब जरूरत हो तो ही ले। यदि लक्षण फिर से देखा जाये तो निर्देशित रूप से  दोहराये।

Gelusil Syrup se hone wale nuksan kya hai? – what are the side effects of Gelusil Syrup in Hindi?

दवाइयों के जिस प्रकार के लाभ अथवा फायदे होते हैं ठीक उसी प्रकार कई बार दवाइयों के साइड इफेक्ट भी देखे जाते हैं जिससे मरीज को भयंकर समस्याओं का सामना करना पड़ता है। Gelusil Syrup के साइड इफेक्ट्स अथवा होने वाले नुकसान को निम्नलिखित रुप से देखा जा सकता है –

  • यदि आप मैग्नेशियम- प्रतिबंधित भोजन कर रहे है, या फिर गुर्दो से पीड़ित है तो डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।
  • यह दूसरे दवाइयों के अबशोषण को भी प्रभावित करता है।
  • 24 घन्टा के अंदर 12 गोलियां से ज्यादा न ले।
  • 12 वर्ष सें कम उम्र के बच्चो को न दे।

इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकती है जैसे-

1. पेट  में ऐंठन होना।

2. उल्टी होना।

3. घबराहट होना।

4. मतली आना।

5. दस्त होना।

6. मुँह का स्वाद खराब होना।

7. कमजोरी महसूस करना।

8. थकान आना।

9. भूख कम लगना।

10. सृजन होना।

Gelusil Syrup का प्रयोग किन दवाइयों के साथ नहीं करना चाहिए? – With what medicines Gelusil Syrup should not be used?

कई प्रकार की दवाइयां ऐसी होती है जिसके साथ दूसरी दवाइयां उपयुक्त नहीं होती। यहां हम कुछ ऐसी दवाइयों के नाम बताने वाले हैं, जिसके साथ Gelusil Syrup लेना काफी नुकसानदेह साबित होता है। हम आपको कुछ ऐसी दवाईयों के बारे में बताएंगे जिसके साथ इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए। यह दवाइयां निम्नलिखित है –

इन सभी दवाओं के साथ हो सकता है रिएक्शन-

  • सेफपोडॉक्सिम (Cefpodoxime)
  • सोडियम सिट्रेट (sodium citrate)
  • लेवोथायरॉक्सिन (Levothyroxine)
  • पोटैशियम सिट्रेट (Potassium Citrate)
  • स्लेपरकैटिनिब (selpercatinib)
  • राल्टेग्राविर (Raltegravir)
  • लियोथायरोनिन (Liothyronine)
  • सिप्रोफ्लॉक्सासिन (Ciprofloxacin)
  • सोडियम पॉलीस्टायरिन सल्फोनेट (sodium polystyrene sulfonate)

जेलुसिल सिरप के साथ यहां बताए गए इन दवाओं का प्रयोग सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। यही कारण है कि चिकित्सक सलाह लेना आवश्यक है। यदि आप अनजाने में इन दवाओं का सेवन करते हैं तो यह स्वास्थ्य के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

किन बीमारियों के होने पर Gelusil Syrup का प्रयोग नहीं करना चाहिए? –What disease should not be consumed in Gelusil Syrup in Hindi?
image source :- https://www.canva.com/

किन बीमारियों के होने पर Gelusil Syrup का प्रयोग नहीं करना चाहिए? – Precautions while consuming Gelusil Syrup in Hindi?

कई प्रकार की ऐसी बीमारियां हैं, जिसमें Gelusil Syrup का प्रयोग नहीं करना चाहिए। हालांकि कई बार चिकित्सक भी इस बात के लिए सलाह देते हैं कि कुछ विशेष बीमारियों के होने पर इसका प्रयोग सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। आइए जानते हैं उन बीमारियों के बारे में जिसमें इस दवाई का प्रयोग नहीं करना चाहिए जो निम्नलिखित की  है-

• रिनल डिस्फंक्शन

जेलुसिल सिरप किडनी से जुड़ी हुई समस्याओं को और अधिक बढ़ा सकती है। इसीलिए यदि आपको किडनी से जुड़ी हुई कोई भी समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से सलाह ले क्योंकि यह सिरप रिनल डिस्फंक्शन के साथ रिऐक्शन कर सकता है।

• ड्राइविंग या हैवी मशीन ऑपरेशन

 यदि आप इस सिरप का सेवन कर के ड्राइविंग या हैवी मशीन चलते है तो आपको ज्यादा सावधानी बरतने की आवश्यकता है क्योंकि दवा का उपयोग से ऊपर बताए गए साइड इफेक्ट्स जैसे कि- बेहोशी, चक्कर आना, सिरदर्द इसमें से कोई भी दर्द महसूस हो सकते है। ऐसा होने के बाद आपके लिए यही सही होगा कि सिरप के पीने के बाद ना तो आप ड्राइविंग करे और न ही कोई हैवी मशीन ऑपरेट करे।

• किडनी डिजीज

अगर आपको किडनी से संबंधित किसी भी प्रकार की बीमारी है तो आप इस सिरप का उपयोग न करे। इसमें आपका हालात और भी खराब हो सकता है। यदि आप किडनी का टेस्ट करवाने के लिए जा रहे है तो आप इस सिरप का सेवन एकदम न करे। यदि आपको किडनी से जुड़ी हुई समस्या है तो दवा लेने से पहले डॉक्टर को अवश्य बता दे।

• इम्पेयर्ड लिवर फंक्शन

लिवर से जुड़ी हुई समस्याओं के बाद भी इसका उपयोग करने से लिवर इंजरी हो सकती है क्योंकि इस दवा के सेवन से लिवर से निकलने वाली एंजाइम्स प्रभावित हो सकती है। इसी लिए ये दवा लेने से पहले डॉक्टर से अवश्य परामश ले ले।

यहां हमने जिन बीमारियों के बारे में उल्लेख किया है, इन बीमारियों के रहते हुए यदि इस दवाई का प्रयोग किया जाए तो वह सेहत के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

Gelusil Syrup Conclusion:

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी क्योंकि इसके माध्यम से हमने जेलुसिल सिरप से जुड़े महत्वपूर्ण विषयों जैसे Gelusil Syrup full information in Hindi, Gelusil Syrup ke fayde aur side effects kya hai, जेलुसिल सिरप ke khurak aur ingredients के बारे में बताया है। इस दवाई के फायदे के साथ साथ साइड इफेक्ट्स अर्थात नुकसान भी है। अतः जब भी आप इस दवाई का प्रयोग करें चिकित्सक की सलाह अवश्य लें ताकि भयंकर परिणामों का सामना न करना पड़े। यह दवाई बताए गए खुराक अथवा प्रक्रियाओं के आधार पर प्रयोग की जानी चाहिए अन्यथा समस्याएं उत्पन्न हो सकती है।

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This