स्किन या त्वचा कैंसर क्या है ? जानिए इसके लक्षण , होने के कारण , निदान , इलाज और बचाव | What is Skin Cancer ? Know its symptoms, causes, diagnosis, treatment and prevention in Hindi.

Must Read

Nandita Sharma
Nandita Sharma
She is an experienced health and medicine blogger. She has done an MSc in Human Genetics. She is a profound health blogger. Her hobbies include different medicinal informative aspects of drug dealing and administration. She is known for her knowledge about drug interactions and usage with the human body.

Skin Cancer Kya Hota Hai – जानिए Skin Cancer Ke Lakshan, Karan Aur ilaj?

आपको पता ही है कि अक्सर त्वचा से संबंधित है, बहुत सी बीमारियां हमें होने लगती हैं जिनका कुछ समय नहीं इलाज हो जाता है परंतु त्वचा से संबंधित भी कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं, जो कि हमारी त्वचा के लिए बहुत ही खतरनाक होती हैं और इस प्रकार की समस्याओं का इलाज काफी मुश्किल से होता है, और वह है त्वचा का कैंसर Skin Cancer आपने अक्सर सुना होगा कि कहीं लोगों को स्किन कैंसर हो जाता है, जिसकी वजह से उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, और यहां तक की इस बीमारी से रोगी की मृत्यु भी हो सकती है, इसीलिए आज हम आपको इसी के बारे में बताएंगे कि :-

  • Skin Cancer Kya Hota Hai – What Is Skin Cancer In Hindi?
  • Skin Cancer Ke Karan – Causes Of Skin Cancer In Hindi?
  • Skin Cancer Ke Lakshan – Symptoms Of Skin Cancer In Hindi?
  • Skin Cancer Se Bachne Ke Upay – Prevention Tips For Skin Cancer In Hindi?
  • Skin Cancer Ka ilaj – Treatment Of Skin Cancer In Hindi?
  • Diagnosis Of Skin Cancer In Hindi?

यदि आप अच्छे से जानना चाहते हैं, कि Skin Cancer Kyu Hota Hai और Skin Cancer Kaise Hota Hai तो हमारी पोस्ट को आखिर तक पढ़ते रहिएगा। यदि आप बीच-बीच में से पोस्ट पड़ेंगे तो आपको कुछ भी समझ नहीं आएगा, इसीलिए शुरू से अंत तक पोस्ट को अच्छे से पढ़िएगा।

Skin Cancer Kya Hota Hai – What Is Skin Cancer In Hindi?

जब हमारी शरीर की त्वचा की कोशिकाएं तरीके से बढ़ने लगती हैं, तो वह स्किन कैंसर कहलाता है त्वचा का कैंसर अक्सर ज्यादातर धूप में रहने वाली त्वचा में होता है। परंतु त्वचा का कैंसर काफी बार त्वचा के उन हिस्सों में भी हो जाता है, जो सामान्य रूप से धूप के संपर्क में नहीं भी आती या फिर बहुत कम आती है, वैसे तो त्वचा का कैंसर तीन प्रकार का होता है।

  • बेसल सेल कार्सिनोंमा ( Basal Cell Carcinoma )
  • स्क्वैमस सेल कार्सिनोमा ( Squamous Cell Carcinoma )
  • मेलानोमा ( Melanoma )
  • वैसे तो पराबैंगनी विकिरणों ( Ultraviolet Radiations ) से बचकर आप स्किन के कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम कर सकते हैं, वैसे तो 3 कैंसर के शुरुआती लक्षणों को देखकर ही इसकी पहचान की जा सकती है और फिर इसका इलाज भी किया जा सकता है, जैसा कि हमने आपको बताया ही है कि यह कैंसर सूरज के संपर्क में आने वाली बचा पर ही हो सकता है जैसे की खोपड़ी, चेहरा, कान, गर्दन, छाती तथा हाथ आदि इसके अतिरिक्त महिलाओं के टांगों पर भी त्वचा का कैंसर हो सकता है।
  • स्किन कैंसर हर तरह के रंग वाले इंसान को प्रभावित कर सकता है, और मेलेनोमा ( Melanoma ) आमतौर पर थोड़े सांवले रंग के लोगों को होता है और यह त्वचा का कैंसर उस स्थान पर होता है, जहां पर सूरज की रोशनी भी नहीं पड़ती।

Types Of Skin Cancer In Hindi?

  • बेसल सेल कार्सिनोमा ( Basal Cell Carcinoma )

यह कैंसर का सबसे सामान्य प्रकार है, जो कि त्वचा की कोशिकाओं में से ही उत्पन्न होता है, और इस प्रकार के त्वचा के कैंसर से भी हमारे भारत में हर साल काफी ज्यादा लोग पीड़ित होते हैं।

  • स्क्वैंमस सेल कार्सिनोंमा ( Squamous Cell Carcinoma )

ट्वचा के कैंसर का यह रूप भी काफी सामान्य माना जाता है, और यह भी त्वचा की कोशिकाओं से ही उत्पन्न होता है, परंतु इस कैंसर का असर काफी जल्दी दिखना शुरू हो जाता है, और इस प्रकार के कैंसर को आप काफी जल्दी नियंत्रण में भी कर सकते हैं।

  • मेलानोमा ( Melanoma )

इस प्रकार का त्वचा का कैंसर हमारे शरीर की त्वचा में रंग उत्पादन करने वाली कोशिकाओं में ही शुरू होता है, परंतु आमतौर पर होने वाले त्वचा के कैंसर में इसकी गिनती काफी कम है, भारत देश में इस प्रकार का त्वचा का कैंसर बहुत कम देखा गया है, परंतु यह कैंसर काफी ज्यादा खतरनाक होता है।

Skin Cancer Ke Lakshan – Symptoms Of Skin Cancer In Hindi?

Skin Cancer Ke lakshan बहुत से हो सकते हैं, हम आपको उन लक्षणों के बारे में बताएंगे ताकि आप वक्त रहते ही उन लक्षणों से कैंसर का पता लगा सके, और फिर इसका उचित इलाज करा सकें :-

  • स्किन का कैंसर होने पर रोगी की त्वचा पर गुलाबी तथा भूरे धब्बे पड़ने लगते हैं, जिनसे की आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि यह त्वचा का कैंसर है, परंतु यह शुरुआती लक्षण होते हैं इसलिए आपको अच्छी तरह जांच करानी चाहिए।
  • यदि आपको अपने शरीर की त्वचा पर मोती के आकार का उठा हुआ घाव दिखाई देता है, तो आप तुरंत ही किसी अच्छे से त्वचा के डॉक्टर के पास इसकी जांच कराएं।
  • त्वचा के कैंसर के लक्षणों के रूप में आपके शरीर पर एक खुरदरा तथा लाल पैथ भी हो सकता है, जो कि एक पपड़ी दार तथा खून से भरा हो सकता है।
  • त्वचा के कैंसर के लक्षणों के रूप में आपकी त्वचा के निचले हिस्से पर एक गांठ भी बन सकती है, और इस गांठ में बहुत ज्यादा दर्द भी होता है।
  • स्किन कैंसर हमारे शरीर के किसी भी दिल में भी हो सकता है, यदि तिल का आकार काफी बड़ा हो जाता है तो यह भी त्वचा के कैंसर का ही लक्षण है और यदि दिल की जगह पर घाव होने लगते हैं, तथा बहुत ज्यादा खुजली हो जाती है या फिर आपकी शरीर की त्वचा में काफी तिल है, और सिर्फ एक ही तिल की जगह पर आपको यह सब लक्षण महसूस हो रहे हैं तो आपको तुरंत ही त्वचा के डॉक्टर से जांच करानी चाहिए।
  • त्वचा का कैंसर मस्से के रूप में भी हो सकता है, इसीलिए यदि अचानक से ही आपको अपने शरीर की त्वचा पर मस्से दिखने लगे हैं, तो आपको त्वचा के डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए और कैंसर की जांच करानी चाहिए।

Note : वैसे इसके अतिरिक्त जैसे कि हमने आपको बताया कि कैंसर के तीन प्रकार होते हैं और तीनों प्रकारों में अलग-अलग तरह के लक्षण आपको दिखाई दे सकते हैं। जैसे कि :-

बेसल सेल कार्सिनोमा ( Basal Cell Carcinoma )

  • यदि इस प्रकार का कैंसर आपको हो जाता है, तो आपकी त्वचा पर एक मोती या फिर मटर की तरह उभरा हुआ भाग दिखाई दे सकता है।
  • इस प्रकार के कैंसर में आपको त्वचा पर भूरे रंग का घाव की तरह दिखने वाला निशान भी दिखाई दे सकता है।
  • इस प्रकार के कैंसर में आपकी त्वचा पर बने घाव में बहुत ज्यादा खुजली होती है, खुजली इतनी ज्यादा होती है कि आपकी तरह से खून निकलने लगता है।

स्क्वैंमस सेल कार्सिनोंमा ( Squamous Cell Carcinoma )

इस प्रकार के त्वचा के कैंसर में आपको दो तरह के लक्षण दिखाई दे सकते हैं, पहला तो यह कि आपके शरीर की त्वचा पर लाल गांठ के जैसा निशान बन सकता है, और दूसरा यह है कि आपके शरीर की त्वचा पर पपड़ीदार घाव हो जाते हैं।


मेलानोमा ( Melanoma )

इस प्रकार की त्वचा के कैंसर में आपको अलग-अलग तरह के लक्षण दिखाई दे सकते हैं जैसे कि :-

  • आपकी त्वचा पर गहरी धब्बों के साथ एक बड़ा सा भूरे रंग का घाव।
  • शरीर के तिल के रंग तथा आकार में बदलाव महसूस होना।
  • यदि आपकी शरीर की त्वचा पर तिल है तो उसे खून भी बह सकता है।
  • इस कैंसर के लक्षण के रूप में एक दर्दनाक घाव भी आपकी त्वचा पर हो सकता है जिसमें बहुत ज्यादा खुजली होती है, और इसके साथ-साथ आप की हथेलियों तथा पैरों के तलवों और उंगलियों के बीच में भी गहरे घाव हो सकते हैं।

Skin Cancer Ke Karan – Causes Of Skin Cancer In Hindi?

अब हम जानेंगे की स्किन कैंसर का जोखिम किन कारणों से बढ़ सकता है?

त्वचा का रंग –

वैसे तो किसी भी रंग की त्वचा के लोगों को त्वचा का कैंसर हो सकता है, मगर आपकी स्किन यदि ज्यादा गोरी है तो सूरत से निकलने वाली युवी किरणें आपकी त्वचा को दूसरों की त्वचा के मुताबिक ज्यादा नुकसान पहुंचा सकती है, इसके अतिरिक्त यदि आपकी त्वचा पर हल्के बाल हैं तो भी सनबर्न की परेशानी आपको हो सकती है, मगर ज्यादातर गहरे रंग वाले व्यक्तियों को स्किन कैंसर होने की संभावना अधिक होती है।

सनबर्न ( Sunburn )

यदि किसी बच्चे या फिर किसी बड़े व्यक्ति की त्वचा सूरज की गर्मी के कारण थोड़ी जल गई है, तो वह भी कैंसर में बदल सकती है, वैसे तो वयस्कों को सनबर्न होने का जोखिम काफी अधिक होता है।

सूरज के संपर्क में अधिक आना

जो लोग गर्मी तथा सर्दियों के मौसम में ज्यादा से ज्यादा समय सूरज की रोशनी में बिताते हैं, तो वह अक्सर त्वचा के कैंसर के शिकार हो सकते हैं, खासतौर पर जब गर्मियों के मौसम में सूरज की रोशनी में लोग कम कपड़े पहन कर घूमते हैं तो अक्सर त्वचा का कैंसर होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है, इसीलिए अपने शरीर की त्वचा को हमेशा ढक कर रखें या फिर सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करें।

गर्म जलवायु ( Hot Climate )

जो लोग ज्यादा गर्म जलवायु में रहते हैं, वह लोग आसानी से धूप के संपर्क में आ जाते हैं, जिसके कारण उनके शरीर की त्वचा में कैंसर होने की संभावना काफी अधिक बढ़ जाती है।

त्वचा पर ज्यादा तिल होना

जिन लोगों के शरीर की त्वचा पर ज्यादा मात्रा में तिल होते हैं उन्हें भी कैंसर का खतरा काफी अधिक बढ़ जाता है क्योंकि जिन लोगों के शरीर पर ज्यादा तिल होते हैं उन्हें डाइसप्लास्टिक ( Displastic ) भी कहा जाता है, और ऐसे लोगों में कैंसर का खतरा बहुत ज्यादा बड़ा रहता है।

स्किन कैंसर की जांच कैसे कराएं?

  • जब आपको स्किन कैंसर के कुछ भी लक्षण अपनी त्वचा में दिखाई देते हैं, तो आपको तुरंत ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए। जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं तो डॉक्टर आपसे आपकी पिछली मेडिकल हिस्ट्री के बारे में भी पूछता है।
  • डॉक्टर आफ थे आमतौर पर यही पूछेगा कि आपको यह निशान कब अपनी त्वचा पर दिखा, और इसमें आपको दर्द या खुजली हुई कि नहीं हुई और इस से खून बहता है या नहीं।
  • यदि डॉक्टर को आप के लक्षणों को देखकर ऐसा लगता है, क्या आपको त्वचा का कैंसर है तो कैंसर की अच्छी तरह से जांच करने के लिए डॉक्टर आपकी त्वचा का एक छोटा सा नमूना भी लेता है, जिसके माध्यम से आपकी त्वचा में कैंसर की जांच की जाती है।

Skin Cancer Se Bachne Ke Upay – Prevention Of Skin Cancer In Hindi?

अब हम यह जान लेते हैं कि Skin Cancer Se Kaise Bache क्योंकि यदि हमें इस बीमारी से बचने के उपाय पता लग जाएंगे तो फिर इस बीमारी से बचना और भी ज्यादा आसान हो जाएगा :-

  • सबसे पहले तो आपको सूरज की रोशनी में जाने से बचना चाहिए ज्यादातर लोग सर्दियों में सूरज की रोशनी में बैठना बहुत पसंद करते हैं, परंतु हम आपको बता दें कि यदि आप सूरज की रोशनी में बैठते भी हैं तो आपकी टांगे तथा बाजू अच्छी तरह ढकी होनी चाहिए और ज्यादा देर तक सूरज की रोशनी में ना बैठे, क्योंकि कुछ लोगों की त्वचा काफी नाजुक होती है, जो कि सूरज की गर्मी के कारण फटने भी लगती है।
  • यदि हां तो सूरज की रोशनी में कहीं भी बाहर जाते हैं, या फिर आपको ऐसी नौकरी करते हैं जिसके कारण आपको सूरज की रोशनी में ज्यादा से ज्यादा समय तक घूमना होता है, तो ऐसे में आप सनस्क्रीन क्रीम ( Sunscreen Cream ) को अपने शरीर की त्वचा पर लगा सकते हैं, जिसके कारण आप सूर्य की तीनों के कारण होने वाले नुकसान से बच जाएंगे
  • आपको अपनी त्वचा की नियमित रूप से जांच करवाते रहना चाहिए, यदि आपको अपनी त्वचा पर थोड़े बहुत भी लक्षण दिखाई देते हैं तो भी आपको तुरंत ही त्वचा के डॉक्टर के पास जाकर त्वचा की जांच करानी चाहिए। क्योंकि यदि हम अपनी त्वचा की जांच कर आते रहते हैं, तो हमें त्वचा से संबंधित बीमारियों का पहले ही पता लग जाता है और फिर हम उन्हें आसानी से नियंत्रण में कर पाते हैं।
  • आपको कभी भी सूरज की किरणों से बचने के लिए अपनी मर्जी से फालतू की दवाइयां ना तो लगानी चाहिए, और ना ही खानी चाहिए, आपको डॉक्टर की चला लेने के पश्चात ही अपनी त्वचा पर कोई क्रीम लगानी चाहिए।

Conclusion –

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे इस आर्टिकल के द्वारा Skin Cancer के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी, इस आर्टिकल में हमने आपको बताया है, कि Skin Cancer Kaise Hota Hai और Skin Cancer Se Kaise Bache तथा इसके साथ-साथ हमें आपको Skin Cancer Se Bachne Ke Upay तथा Skin Cancer Ke Lakshan भी बताए हैं, ताकि आप थोड़े से ही लक्षण दिखने पर इस बीमारी का अच्छा इलाज करवा सकें। यदि अब भी आपको त्वचा का कैंसर से संबंधित कोई भी प्रश्न हम से पूछना है तो आप कमेंट सेक्शन में कमेंट कर सकते हैं। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This