Third Week of Pregnancy: प्रेगनेंसी का तीसरा सप्ताह लक्षण,शारीरिक बदलाव, खुद की देखभाल एवं बच्चे का विकास | Third week of pregnancy – symptoms, physical changes, self-care best tips and baby’s development Hindi

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।

Third Week of Pregnancy जानिए गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते के लक्षण एवं कुछ जरूरी उपाय और सेल्फ केयर ?

जब महिलाएं गर्भवती होती हैं, तो शुरुआत के तीसरे हफ्ते में भी वह काफी चिंता करती हैं, क्योंकि गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को अपने शरीर में बहुत से बदलाव दिख सकते हैं। इसी के साथ-साथ महिलाओं को बहुत से ऐसे लक्षण भी देख सकते हैं, जिनसे वह अंदाजा लगा सकती है कि वह गर्भवती हैं। क्योंकि बहुत सी महिलाओं के मन में शंका भी रहती है कि उनका मासिक धर्म 3 सप्ताह लेट हो चुका है, लेकिन जब उन्हें अलग ही अनुभूति होती है तो तब महिलाएं समझ जाती है कि वह गर्भवती हैं।

जब महिलाएं गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में कदम रखती हैं, तो उस समय उन्हें अपना काफी ज्यादा ख्याल रखना पड़ता है और बहुत से बदलाव भी अपने जीवन में करने होते हैं। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको Pregnancy Healthcare Tips In Hindi तथा Third Week of Pregnancy Symptoms In Hindi इसके अतिरिक्त हम आपको यह भी बताएंगे, कि 3rd Week of Pregnancy Me Khayal Kaise Rakhe.

Third Week Of Pregnancy in Hindi Table Of Content
Third Week of Pregnancy Image

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में बच्चे का विकास – Your Baby’s Development at Third Week of Pregnancy ?

गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह में बच्चे का विकास होना आरंभ हो जाता है। हम आपको बता दें कि, गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में अच्छी खबर तो यह होती है कि मां के गर्भ में पल रहा बच्चा पहले से थोड़ा विकसित हो जाता है। तीसरे सप्ताह के दौरान आपका शिशु तेजी से द्विगुणित होती जा रही सैकड़ों कोशिकाओं के साथ एक छोटी सी गेंद के सामान होता है और इसी छोटी सी गेंद को blastocyst भी कहते हैं। यह वों हिस्सा होता है, जो आगे चलकर गर्भनाल के रूप में भी बदल जाता है। गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह में गर्भावस्था के हार्मोन का निर्माण होना शुरू हो जाता है।

 यही हार्मोन आगे चल कर डिंब बनने से भी रोकता है और Estrogen तथा Progesterone के उत्पादन को भी बढ़ाता है। यह Hormone’s यह सुनिश्चित करते हैं कि आपका अंडाशय गर्भाशय की परत नहीं छोड़ रहा है। हम आपको बता दें कि, यह छोटा blastocyst तीसरे सप्ताह के दौरान महिलाओं के गर्भाशय के स्तर में सुरक्षित तथा स्वस्थ होता है तथा गर्भाशय की दीवार में होने वाली रक्त वाहिकाओं के माध्यम से भी यह ऑक्सीजन तथा पोषक तत्व प्राप्त करता है।

गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह में बच्चे का आकार क्या होता है – Size Of Baby In Third Week of Pregnancy

गर्भावस्था का तीसरा सप्ताह एक महत्वपूर्ण सप्ताह होता है, क्योंकि इस सप्ताह के दौरान ही निश्चित डिंब सुरक्षित रूप से खुद को Uterus के अस्तर ( Lining ) में Implanted करता है तथा गर्भाशय के स्तर की Blood Vessels के माध्यम से मिलने वाले पोषक तत्व तथा ऑक्सीजन की मदद से वह विकसित होना शुरू करता है। हम आपको बता दें कि, यह विकास काफी दिलचस्प होता है, लेकिन 3 सप्ताह के गर्भ का आकार मापा नहीं जा सकता और ना ही इसके बारे में बताया जा सकता।

Third Week of Pregnancy Symptoms In Hindi – गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह के लक्षण

जब महिलाएं गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में कदम रखती हैं, तो उनके शरीर में भी बहुत से परिवर्तन दिखाई दे सकते हैं। जिनसे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि महिला गर्भवती है, तो चलिए दोस्तों अब हम Symptoms Of Pregnancy 3rd Week In Hindi के बारे में जान लेते हैं।

सामान्य शारीरिक परिवर्तन -General physical changes

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं के शरीर में भी बहुत से परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं, जैसे कि स्तन थोड़े भारी हो सकते हैं और शरीर की चाल ढाल में भी काफी अंतर महसूस हो सकता है। इसके अतिरिक्त स्तनों में दर्द शरीर के आधारभूत के तापमान में वृद्धि भी महसूस हो सकती है।

थकान – Fatigue

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को काफी थकान भी महसूस हो सकती है, जैसे कि हाथों पैरों में थोड़ा दर्द होना या फिर कुछ काम करने का मन ना होना। इसी के साथ साथ महिला काफी ज्यादा थका हुआ महसूस करती हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि वह धीरे-धीरे गर्भावस्था के दूसरे चरण की तरफ आगे बढ़ रही होती है।

भूख ना लगना – Loss of appetite

बहुत-सी महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान भूख ना लगने के लक्षण भी महसूस हो सकते हैं। यदि इस प्रकार का लक्षण महिलाओं को महसूस होता है, तो उन्हें तुरंत ही डॉक्टर के पास जाना चाहिए और उसे बताना चाहिए कि आपका कुछ भी खाने का मन नहीं करता और ना ही आपको भूख लगती, तो फिर डॉक्टर आपकी परिस्थिति के हिसाब से आपको दवाई भी देगी।

काफी गंद महसूस होना – Feeling a lot of smell

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को काफी ज्यादा गंध भी महसूस हो सकती है। ऐसा बहुत बार होता है कि महिलाओं को अलग-अलग प्रकार की गंध महसूस होती हैं, लेकिन इसमें डरने वाली कोई बात नहीं है यह सिर्फ Pregnancy Ke Lakshan के कारण ही होता है।

बार-बार पेशाब आना – Frequent urination

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को बार बार पेशाब आने का लक्षण भी महसूस हो सकता है जरूरी नहीं है, कि यह लक्षण हर एक महिला को महसूस होगा लेकिन बहुत सी महिलाओं को बार बार पेशाब जाना पड़ता है। खासकर रात के समय में उन्हें काफी ज्यादा पेशाब आता है।

Symptoms Of 3rd Week Pregnancy In Hindi  Image - गर्भावस्था के तीसरे सप्ताह के लक्षण

उल्टी या मतली जैसा महसूस होना –

खास तौर पर महिलाओं को गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में उल्टी तथा मछली जैसा अनुभव भी होता है। बहुत बार ऐसा भी होता है कि महिला थोड़ा सा भी कुछ खाती है, तो उसको तुरंत ही उल्टी आती है वैसे तो यह लक्षण दिखने पर चिंता करने वाली बात नहीं है। यदि किसी महिला को लगातार ही उल्टियां लग रही है तो फिर उन्हें डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

खून बहना या स्पोटिंग होना –

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को खून बहना या स्पोटिंग होने के लक्षण भी महसूस हो सकते हैं, क्योंकि जब डिंब गर्भाशय के अस्तर में involved हो रहा होता है तो ऐसा होता है।

ज्यादा चटपटा खाने का मन करना –

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में ज्यादातर महिलाओं का कुछ चटपटा खाने का मन भी करता है, ऐसा इसलिए होता है। क्योंकि उनके शरीर में बहुत से परिवर्तन हो रहे होते हैं और उनके शरीर के अंदर हार्मोन में भी बहुत से बदलाव होते हैं, जिसके कारण इस प्रकार की समस्या उत्पन्न होती है।

Self Care Tips In Third Week of Pregnancy In Hindi ?

  • pregnancy के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को अपना काफी ध्यान रखना होता है और इसीलिए उन्हें बहुत सी चीजों का भी ध्यान रखना होता है क्योंकि जरा सी भी लापरवाही महिला तथा उसके बच्चे दोनों के लिए ही जानलेवा साबित हो सकती है।
  • pregnant women को तीसरे हफ्ते में यह ध्यान रखना होता है, कि उन्हें कोई भी भारी काम नहीं करना। यदि कोई महिला घर पर कोई काम कर रही है तो घर पर कोई भी भारी काम ना करें, क्योंकि ज्यादा भारी काम करने से महिला तथा उसके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।
  • बहुत-सी महिलाओं को pregnancy के तीसरे हफ्ते में अलग-अलग प्रकार के लक्षण महसूस हो सकते हैं। यदि उन्हें कोई भी लक्षण अजीब लगता है, तो उस लक्षण से छुटकारा पाने के लिए किसी भी प्रकार की कोई दवाई ना खाएं आपको उस विषय में सिर्फ डॉक्टर से ही बात करनी चाहिए।
  • pregnancy के दौरान महिलाओं को हर एक चीज का ध्यान रखना होता है। जैसे कि बैठने का चलने फिरने का यहां तक की महिलाओं को सोने का ध्यान भी रखना होता है। कभी भी pregnant woman को पेट के बल नहीं सोना चाहिए गर्भवती महिला को ज्यादातर कोशिश करनी चाहिए कि वह सीधी सोए।
  • अगर कोई महिला नौकरी करती है, तो उसे नौकरी पर जाते समय काफी ध्यान पूर्वक चलना चाहिए और सफर करना चाहिए क्योंकि यदि आपका सफर गलत है तो वह आप को नुकसान पहुंचा सकता है। इसीलिए ऑटो रिक्शा की बजाय यदि आप खुद के वाहन का उपयोग करते हैं तो वह आपके लिए ज्यादा बेहतर रहेगा। इसके अतिरिक्त आप अपने पति से भी बोल सकती हैं कि वह आपको ऑफिस में छोड़ दे।

जीवन शैली में बदलाव करें – Change Your Life Style In Third Week of Pregnancy ?

 गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते के दौरान महिलाओं को अपनी जीवनशैली में बहुत से बदलाव करने पढ़ते हैं, ताकि वह स्वस्थ रह सकें जैसे कि :-

  • pregnancy का तीसरा हफ्ता काफी नाजुक हफ्ता होता हैं। इसीलिए महिलाओं को ध्यान रखना चाहिए कि वह यदि धूम्रपान या तंबाकू का सेवन करती हैं, तो उन्हें इसका सेवन त्यागना होगा। क्योंकि smoking तथा तमाखू pregnant woman और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए बिल्कुल भी सही नहीं होता।
Self Care Tips In 3rd Week Of Pregnancy In Hindi Image
  • जो महिलाएं बाहर के खाने की तरफ ज्यादा ध्यान देती हैं, उन्हें खासतौर पर अपनी जीवनशैली में बदलाव करना आवश्यक है। क्योंकि pregnancy के दौरान महिलाओं को यह सलाह बिल्कुल भी नहीं दी जाती कि वह बाजार का तला हुआ खाना खाए या फिर बाजार की कोई भी खाने की चीज खाएं। क्योंकि बाजार में ज्यादातर एक ही तेल में 3 से 4 दिन खाने की चीजें बनाई जाती हैं, जिसके कारण रहते ही काफी बेकार हो जाता है और वह शरीर के अंदर जाकर अनेकों बीमारियों को जन्म देता है।
  • जो महिलाएं gym जाती है या घर पर excercise करती हैं, उन्हें गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में यह सब छोड़ना पड़ेगा क्योंकि कोई भी डॉक्टर गर्भवती महिला को excercise करने की सलाह नहीं देता।
  • pregnancy के दौरान महिलाओं को alcohol का सेवन भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि शराब का सेवन भी pregnant woman तथा उसके बच्चे के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को cold drink पीना भी छोड़ना होगा, क्योंकि कोल्ड ड्रिंक पीना भी pregnant woman के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता।

Eat Healthy Food During Third Week of Pregnancy In Hindi ?

Pregnancy के दौरान महिलाओं को पोस्टिक आहार का सेवन करना होता है। ताकि उनके शरीर में जिन Nutrients की भी कमी है वह पूरी हो जाए , क्योंकि गर्भवती महिला को बच्चे को जन्म देने के लिए सभी पोषक तत्वों की कमी को अपने शरीर में पूरा करना होता है। तभी वह बच्चे को जन्म देने में सक्षम होती है, तो चलिए अब हम Healthy Food During Pregnancy In Hindi के बारे में जान लेते हैं।

  • गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते के दौरान महिलाओं को ताजे फलों तथा सब्जियों का सेवन जरूर करना पड़ता है, क्योंकि ताजे फलों और सब्जियों में भरपूर मात्रा में सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में सभी पोषक तत्वों की कमियों को भी पूरा करते हैं। इसीलिए महिलाओं को ताजे फलों में अनार सेब, संतरा, पपीता, अंगूर, आम आदि का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • इसके अतिरिक्त सब्जियों के रूप में महिलाएं पालक गोभी, भिंडी, आलू, तोरी, घीया, कद्दू आदि का सेवन कर सकती हैं यदि महिलाएं सलाद का सेवन करें तो भी वह बेहतर होता है। महिलाएं सलाद के रूप में खीरा, टमाटर, गाजर, चुकंदर आदि का सेवन भी कर सकती हैं, क्योंकि इनमें भी भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं।
  • गर्भवती महिलाओं को दालों का सेवन भी करना चाहिए, क्योंकि दालों का सेवन करने से गर्भवती महिलाओं को अपने शरीर में पोषक तत्वों की कमियों को पूरा करने में काफी मदद मिलती है। दालों में Protein, Fiber, Calcium, Iron आदि सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कि महिलाओं के लिए काफी जरूरी होते हैं।
  • महिलाओं को pregnancy के दौरान दूध का सेवन जरूर करना चाहिए, क्योंकि दूध में calcium की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इसके अतिरिक्त दूध में प्रोटीन भी काफी ज्यादा पाया जाता है, जो कि महिलाओं को काफी ऊर्जा भी प्रदान करता है। दूध के साथ-साथ महिलाएं पनीर तथा दही का सेवन भी कर सकती हैं।
  • pregnancy के दौरान महिलाओं को देसी घी का सेवन भी जरूर करना चाहिए, क्योंकि देसी घी महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान काफी energy प्रदान करता है और उनके बच्चे के लिए भी देसी घी फायदेमंद होता है, इसीलिए रोजाना 2 से 3 चम्मच देसी घी का सेवन जरूर करें।
  • pregnancy के तीसरे हफ्ते के दौरान महिलाओं को folic acid का सेवन भी जरूर करना चाहिए। बहुत से ऐसे फल सब्जियां हैं, जिनके माध्यम से folic acid की कमी को पूरा किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त जिन महिलाओं में folic acid की कमी होती है। उन्हें डॉक्टर के द्वारा folic acid के capsules भी दिए जाते हैं, जिनसे कि उनके शरीर में folic acid की मात्रा को पूरा किया जाता है।

Teething Pain: दांत निकलते वक्त होने वाले दर्द की समस्या को दूर करे इन 13 घरेलु उपचारों एवं उपायों से | 13 Best Home Remedies for Teething Pain In Hindi

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते के दौरान ध्यान रखने योग्य कुछ खास बातें - Things to remember in Third Week of Pregnancy Image

गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते के दौरान ध्यान रखने योग्य कुछ खास बातें ? – Things to remember in Third Week of Pregnancy

  • गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में महिलाओं को ध्यान रखना चाहिए कि यदि उन्हें हमारे द्वारा बताए गए लक्षणों में से कोई भी लक्षण महसूस होता है, तो उन्हें अपनी मर्जी से कोई भी दवाई नहीं लेनी चाहिए। इसके अतिरिक्त यदि गर्भवती महिला को सिर दर्द चक्कर बुखार बंद नाक आदि की समस्या भी होती है, तो भी उन्हें सिर्फ डॉक्टर की सलाह के पश्चात ही दवाई का सेवन करना चाहिए। क्योंकि अपनी मर्जी से दवाई का किया गया सेवन महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
  • तीसरे हफ्ते में भी महिलाओं को अल्ट्रासाउंड करवाने की सलाह नहीं दी जाती, क्योंकि गर्भ में पल रहे 3 हफ्ते के बच्चे के बारे में ultrasound से कुछ खास पता नहीं लगाया जा सकता।
  • महिलाओं को pregnancy stage में बिल्कुल भी Stress नहीं लेना चाहिए, इसीलिए pregnancy के दौरान Stress को तनाव मुक्त जीवन जीना चाहिए।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को खुश रहना चाहिए और किसी भी ऐसी बात पर ज्यादा ध्यान नहीं देना चाहिए जिससे कि वह दुखी हों।
  • अगर किसी महिला का पति Smoking करता है, तो उसे अपने पति को समझाना चाहिए, कि वह उसके सामने धूम्रपान ना करें क्योंकि smoking के संपर्क में गर्भवती महिला आती है, तो उसके कारण बच्चे को भी नुकसान पहुंच सकता है।
Seek doctor's advice at the right time in Third Week of Pregnancy Image
image source:- http://www.canva.com

उचित समय पर डॉक्टर की सलाह लें ? – Take Doctors Advice in Third Week of Pregnancy

महिलाओं को Pregnancy के दौरान समय-समय पर डॉक्टर से अपनी जांच भी करवाते रहना चाहिए और गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को एक चीज का ख्याल रखना चाहिए कि उन्हें बार-बार Doctor नहीं बदलने चाहिए। बहुत सी महिलाएं ऐसा करती है कि कभी किसी डॉक्टर को दिखाती है, तो कभी किसी दूसरे Doctor को दिखाती है। महिलाओं को बिल्कुल भी ऐसा नहीं करना चाहिए सिर्फ एक ही डॉक्टर से अपनी दवाइयां चलानी चाहिए।

डॉक्टर आपको आपको जिस प्रकार से जो परहेज करने को कहता है, उस चीज का परहेज जरूर करना चाहिए। डॉक्टर महिलाओं को जो भी दवाइयां देता है, उन्हें नियमित रूप से डॉक्टर के बताए अनुसार ही उनका सेवन करना चाहिए और अपनी मर्जी से दवाई खानी नहीं छोड़नी चाहिए।

Third Week of Pregnancy Conclusion

हम आशा करते हैं कि, हमने गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के तीसरे हफ्ते में जिन बातों का ख्याल रखने को बोला है। वह उन बातों का ख्याल रखने के साथ-साथ अपने जीवन में भी कुछ बदलाव करेंगी और जिन चीजों का हमने सेवन करने को कहा है गर्भवती महिलाओं को उनका सेवन जरूर करना है, क्योंकि उन्हीं से आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमीया पूरी होंगी।

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको Symptoms Of 3 Week Pregnancy In Hindi तथा Pregnancy Me Kya Khaye इसी के साथ-साथ हमने आपको Pregnancy Ke Lakshan तथा Pregnancy Me Kaise Sona Chaiye यह भी बताया है। यदि अभी भी आपको हमसे Pregnancy 3rd Week Symptoms In Hindi के बारे में कोई भी प्रश्न पूछना हो, तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This