मुंह का कैंसर क्या है जानिए इसके कारण, लक्षण, बचाव एवं इलाज के कुछ कारगर तरीके हिंदी में | What is Oral or Mouth Cancer Know its causes, Symptoms, Preventions and Best Treatments in Hindi

Must Read

Dr. Puneet Boora
Dr. Puneet Boorahttp://goodswasthya.com
Dr. Puneet Boora holds a Doctorate in Pharmacy (Pharm D) degree and have at least 1.5 years of writing experience in Health and Medicine related domains. He was a former writer for pharma magazines and articles. His hobbies including cricket, table tennis, and other sports. He is well known for his work in medicine dispensing and medical checkups. He prefers his work more and always tries to learn new therapeutic ways of medication dispensing. डॉ. पुनीत बोरा के पास फार्मेसी में डॉक्टरेट (फार्म डी) की डिग्री है और स्वास्थ्य और चिकित्सा से संबंधित डोमेन में कम से कम 1.5 वर्ष का लेखन अनुभव है। वह फार्मा पत्रिकाओं और आर्टिकल्स के पूर्व लेखक थे। क्रिकेट, टेबल टेनिस और अन्य खेल खेलना उनका शौक है। वह दवा वितरण और चिकित्सा जांच में अपने काम के लिए जाने जाते हैं। वह अपने काम को अधिक पसंद करते हैं और हमेशा दवा वितरण के नए चिकित्सीय तरीके सीखने की कोशिश करते हैं।

मुंह का कैंसर इसके कारण, लक्षण एवं बचाव | Oral or Mouth Cancer Its causes, Symptoms ,Preventions and Treatments

कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसे सुनने से ही लोगों के मन में अजीबोगरीब ख्याल आने लगते हैं और वह घबरा जाते हैं क्योंकि इस बीमारी का परमानेंट इलाज अब तक मेडिकल साइंस को भी नहीं मिला है। वैसे तो कैंसर अनेकों प्रकार के पाए गए हैं लेकिन आमतौर पर जो कैंसर अधिकतर इंसान में पाई जाती है, उसे माउथ कैंसर या मुंह का कैंसर कहते हैं। मुंह का कैंसर या माउथ कैंसर(Mouth Cancer)मुंह के किसी भी भाग में हो सकते हैं जैसे गला, जबड़ा, मसुड़ा इत्यादि। यह केवल मुंह के अंदर ही नहीं होता है।

यदि आपको हम एक शब्द में इसे समझाएं तो यह चेहरे के किसी भी भाग में हो सकता है ओर इसे माउथ कैंसर कहते हैं तथा इसे ओरल कैंसर के नाम से भी जाना जाता है। इसलिए के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं मुंह का कैंसर क्या है? मुंह का कैंसर के लक्षणMouth Cancer एवं इसके घरेलू उपाय के बारे में भी इस लेख के माध्यम से आप आसानी से जान सकेंगे। इसके अलावा इस लेख से मुंह का कैंसर से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों जैसे मुंह का कैंसर के चिकित्सक इलाज एवं अन्य विशेष बातें संबंधित है।

भारत में मुंह में होने वाले कैंसर(Mouth Cancer) बीमारियां के अनेक लक्षण पाए गए है। इसके शुरुआती दौड़ में मुंह के अंदर सफेद छाले आने लगते हैं या फिर छोटे-छोटे घाव होने लगते हैं। यदि मुंह में छोटे घाव या फिर सफेद छाले होने पर समय रहते ध्यान नहीं दिया जाए और यह अधिक समय तक मुंह में ऐसे ही रह जाए तो यही आगे चलकर मुंह में कैंसर का कारण बन जाता है।

अमेरिकन कैंसर सोसायटी (ASCC) के अनुसार, अमेरिका में वर्ष 2019 में 53000 अमेरिकन नागरिकों को कैंसर ने अपना शिकार बना लिया था। देखा जाता है कि लगभग 60 वर्ष की उम्र के बाद वाले लोगो मैं कैंसर का अधिक मात्रा पाया गया है। लेकिन इसे 25% मामले 50 साल के उम्र के पहले वाले लोगों में ही पाया गया है। देखा गया है कि कैंसर रोग औरतों को नहीं होते हैं और औरतों की तुलना में यह पुरुषों को अधिक प्रभावित करते हैं।

मुंह का कैंसर होने के प्रमुख कारण (Major causes of oral or Mouth cancer in Hindi)

मुंह का कैंसर होने के प्रमुख कारण (Major causes of oral or Mouth cancer)

  • गुटखा, पान मसाला, सिगरेट आदि का सेवन करने से  मुंह में कैंसर होता है। लेकिन केवल यही एक कारण नहीं है जिसके कारण हमें कैंसर होता है। सभी लोगों को यह गलतफहमी है कि गुटखा, पान मसाला और सिगरेट खाने से ही कैंसर हो सकता है और हम नहीं खाते हैं तो हमें तो कुछ होगा ही नहीं। यह सोच रखने वाले पूरी तरह से गलत है। मुंह का कैंसर किसी को भी हो सकता है ।आमतौर पर तो यही अधिकता देखा जाता है कि कैंसर बीमारी का शिकार खासकर वही लोग होते हैं जिनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होता है।
  • इसके अलावा जो सुबह मे अच्छी तरह से अपने मुंह के सफाई नहीं करते हैं,भोजन करने के बाद मुंह की सफाई नहीं करते है और मुंह से दुर्गंध आने लगते हैं लेकिन वह उस चीज पर ध्यान न देकर उसकी उपचार नहीं करते हैं लगातार उनकी मुंह से आने वाली दुर्गंध बढ़ने लगती है तो उन लोगों को कैंसर की बीमारी का होने का अधिक खतरा होता है।
  • हम इस बात को भी नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं कि जो तंबाकू और सिगरेट का सेवन अधिक करते हैं वह कैंसर बीमारी का शिकार अधिक बनते हैं,क्योंकि तंबाकू का सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही खतरनाक हैऔर इससे हमे Mouth Cancer आसानी से हो सकता है।

मुंह के कैसर होने का लक्षण (Symptoms of oral or Mouth Cancer):

मुंह में कैंसर रोग होने के पहले शुरुआती दौर में कई प्रमुख लक्षण व्यक्ति के शरीर में दिखाई देते हैं जो निम्नलिखित हैं-

  • सबसे पहले कैंसर के शुरुआती लक्षण के यह पहचान है कि मुंह में सफेद दाग होने लगते हैं और बार-बार मुंह धोने के बावजूद यह सफेद दाग मुंह से नहीं निकलते हैं, इसे लयुकोप्लाकिया के कहते हैं तो फिर समझ जाना चाहिए कि यह कैंसर बीमारी का शुरुआती लक्षण है।
  • हमारे चेहरे पर कभी कभी अचानक सफेद दाग दिखाई देने लगते हैं और उनके बीच छोटे छोटे लाल रंग उभर कर आने लगते हैं ओर हम सोचते हैं कि यह साधारण सा दाग ऐसे ही चेहरे पर उभर कर आ गए होंगे ही परंतु इसे ओरल लाइकेन प्लेनस के नाम से जाना जाता है और माना जाता है कि यह भी कैंसर के आरम्भिक दौर में दिखाई देता है।
  • कभी कभी खाना खाने और पानी पीने के साथ साथ में हमारे मुंह में खून आने लगता है तो हमें लगता है कि ये क्या हो गया हमारे मुंह में। इसके अलावा हम यह सोचते हैं कि अचानक से खून कहां से आने लगा है। लेकीन ये भी मुंह में कैंसर होने का एक लक्षण है।
  • मुंह में पीड़ा होना, किसी प्रकार का सुन्नपन महसूस  होना या फिर किसी प्रकार का मुंह के अंदर कठोरता या फिर गाठपन महसूस होने लगे तो हमें तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए क्योंकि तुरंत डॉक्टर से संपर्क न करने पर यदि यह बढ़ जाए तो खतरा हमारे लिए ही बढ़ जाती है।
  • कैंसर होने का अनेक कारण देखे गए हैं जैसे- आपकी आवाज पहले की तुलना में बदल जाए, भोजन को निकलने या फिर चबाने में किसी प्रकार की दिक्कतें पैदा हो जाए, जबरे और जीभ को हिलाने में दिक्कतें महसूस होने लगे, तो यह भी कैंसर होने का एक लक्षण है।

मुंह का कैंसर होने के अन्य प्रमुख लक्षण (Major Symptoms of oral Mouth cancer):

मुंह का कैंसर होने के अन्य प्रमुख लक्षण (Major Symptoms of oral or Mouth cancer in Hindi)

• बिना मौसम, बिना ही किसी कारण के अचानक से शरीर गर्म हो जाना शरीर में बुखार आ जाना।

• सामान्य गतिविधि से चलने से भी शरीर में अचानक दर्द हो जाना, थकान महसूस होना, थक कर कर रुक जाना।

• ओरल कैंसर पहचाने का यह एक बड़ा लक्षण है कि बिना किसी कारण के ही आपके शरीर का वजन अचानक नियंत्रण कम होते रहता है।

• गरदन के किसी हिस्से का फुल कर बाहर आ जाना,फुल कर के गाठ बना देना।

• कई दिनों से मुंह में आए हुए छाले या फिर घाव, जो कि भर नहीं रहे हो, वह भी कैंसर का कारण ही है।

• जबरे में अजीब सा महसूस होना, रक्त जम जाना, जबरे का सूज जाना।

• अपने दैनिक कार्य जिसे आप बहुत ही प्रसन्न और खुश होकर करते हैं अचानक से उसे करने में चिड़चिड़ाहट महसूस होना और थोड़े ही काम कर कर के थक जाना ।

मुंह के कैंसर का इलाज (Treatment of oral cancer):

Oral Cancer मुंह के कैंसर का इलाज अत्यंत आवश्यक होता है क्योंकि यह मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए बेहद ही घातक सिद्ध होता है। इसके लिए कई महत्वपूर्ण इलाज किए जा सकते हैं जो निम्नलिखित हैं-

दवाइयां

कैंसर के शुरुआती दौर में ही अगर हमें यह पता चल जाए कि कैंसर के लक्षण और हम इसका उपचार करने जाए तो इसे दवाई के द्वारा ही कंट्रोल किया जा सकता है और दवाई के द्वारा ही मुंह के कैंसर को राहत मिल जाती है । कैंसर की दवाई हमारे शरीर में होने वाले कैंसर को बढ़ने से रोक देती है और शरीर के दूसरे भाग में फैलने नहीं देती है।

मुंह के कैंसर का इलाज (Treatment of oral or Mouth Cancer in Hindi):
image source :- https://www.canva.com/

रेडिएशन थेरेपी(Radiation Therapy for Mouth Cancer)

कई बार यह देखा गया है कि कैंसर होने पर शरीर में रेडिएशन थेरेपी का इस्तेमाल करके कैंसर के कोशिकाओं को नष्ट करके कैंसर की बीमारी से छुटकारा पाया जाता है।

बायोप्सी(Biopsy for Mouth Cancer)

माउथ कैंसर में बायोप्सी सर्जरी का प्रयोग करके भी इसे ठीक किया जाता है। बायोप्सी सर्जरी का प्रयोग करके  शरीर से कैंसर वाले टिशु को शरीर से अलग किया जाता है।

कीमोथेरेपी(Chemotherapy for Mouth Cancer)

अधिकतर यह देखा जाता है कि कैंसर बीमारी में डॉक्टर हमेशा कीमोथेरेपी का ही इस्तेमाल करना चाहते हैं। कीमो थेरेपी का इस्तेमाल करके कैंसर बीमारी को नष्ट किया जाता है। हमेशा इसमें यही कोशिश रहती है कि कैंसर को नष्ट करके इसे ठीक किया जाए। हर प्रकार के कैंसर में कीमोथेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है, जैसे – स्टन कैंसर,लंग कैंसर, ब्रेन ट्यूमर इत्यादि।

सामान्य कैंसर सर्जरी(Normal Surgery in Mouth Cancer)

जब यह देखा जाता है कि मरीज को सभी प्रकार के उपचार करके भी उसे किसी भी उपचार से राहत ना मिले तो उसे सामान्य कैंसर सर्जरी दिया जाता है। इस उपचार में ट्यूमर और उसके आस-पास के टिस्यू सर्जरी द्वारा निकाल दिया जाता है।

कैंसर का पता चलने पर क्या करना चाहिए? (What to do when Mouth cancer is detected?)

मुंह में कैंसर हो जाने पर कई परिस्थितियों में टीका लगा कर के भी इसे ठीक किया जाता है। कैंसर के इलाज के लिए डॉक्टर को कई बातों का पता होना आवश्यक है। कि कैंसर का मुंह कहां है अर्थात् इसका जड़ कहां है सबसे बड़ी बात की यह किस प्रकार का कैंसर है।

यह भी पढ़े :- Hepatitis A क्या होता है – जानिए हेपेटाइटिस ए के लक्षण, कारण बचाव और इलाज? | What is Hepatitis A? Its Symptoms, Causes, Prevention, and Best Treatments In Hindi

इन सभी तमाम परिस्थितियों को परखने के बाद ही कोई डॉक्टर किसी परामर्श पर पहुंच पर फैसला ले सकता है। वैसे तो ज्यादा तर डॉक्टर कैंसर को नष्ट करने के लिए ऑपरेशन या सर्जरी कराने का प्रमार्श देते है ओर कई डॉक्टर इसे ठीक करने के लिए कीमो थेरेपी ओर रेडिएशन थेरेपी कराने का परामर्श देते हैं।

कैंसर से होने वाली समस्याएं (Problems occur Due to Mouth Cancer):

Mouth Cancer से कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है, जो निम्नलिखित हैं-

• लगातार खांसी होने लगते हैं, दतो से खून बाहर आने लगते हैं, मुंह में छाले उत्पन्न होने लगते हैं।

• कैंसर के कारण पेशाब में खून निकलने लगते हैं,जो की प्रॉस्टेट कैंसर का लक्षण है।

• शरीर में गांठे उभरने लगते है और तेजी से बढ़ने लगते हैं।

• कैंसर एक ऐसी अवस्था है, जिसमें शरीर के किसी एक हिस्से में कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से बढ़ने लगती है और कैंसर ग्रस्त कोशिकाएं शरीर के पूरे अंगों को नुकसान पहुंचाने लगती हैं।

• हालांकि कैंसर 200 प्रकार के होते हैं लेकिन चार कैंसर एक जैसे होते हैं उन चारों में लक्षणे भी एक जैसे होते हैं। इन चारों कैंसर में एब्डोमिनल भाग में दर्द होने लगता है। हालांकि 90 तेजी से ज्यादा लोगों को एब्डॉमिनल में पेन, सूजन, बेचैनी,या फिर bowel मैं किसी प्रकार का बदलाव हमें लगता है और बिना किसी कारण पाइल्स में खून आने लगता है।

Oral or Mouth Cancer Conclusion:

हम आशा करते हैं कि आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी क्योंकि इसमें हमने मुंह का कैंसर से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों में जैसे मुंह का कैंसर के कारण इसके लक्षण एवं निवारण हेतु किए जाने वाले उपाय सभी का वर्णन किया है।

इसमें हमने  Causes Of Oral Mouth Cancer in hindi टॉपिक्स तथा अन्य टॉपिक्स जैसे की Prevention For Oral or Mouth Cancer In Hindi तथा Symptoms Of Oral/Mouth Cancer In Hindi  के बारे में बताया है।

इसी के साथ-साथ हमने आपको Treatment Of Oral or Mouth Cancer In Hindi के बारे में भी बताया है। यदि अभी भी आपको हमसे Risk Factors associated with Oral and Mouth Cancer In Hindi से संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो, तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद!

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This