Best Safety Tips For Kids: नवजात शिशु की सुरक्षा किस प्रकार करें – जानिए नवजात शिशु की सुरक्षा से संबंधित कुछ बातें ? | How to protect the newborn – Know some things related to the safety of the newborn?

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।
Safety Tips For Kids in Hindi Table Of Content

Safety Tips For Kids: नवजात शिशु की सुरक्षा किस प्रकार करें – जानिए नवजात शिशु की सुरक्षा से संबंधित कुछ बातें ?

छोटे बच्चे की सुरक्षा करना उसके माता पिता की ही जिम्मेदारी होती है, क्योंकि नवजात शिशुओं को अपनी सुरक्षा से संबंधित कुछ भी नहीं पता होता और ना ही उन्हें यह पता होता कि कौन सी चीज उनके लिए अच्छी है और कौन सी चीज बुरी है इसीलिए उनके माता-पिता की है पूरी जिम्मेदारी होती है कि अपने छोटे बच्चों का ख्याल रखें। बहुत बार माता-पिता से बच्चों का ख्याल रखने में थोड़ी सी ढील दे दी जाती है जिसके चलते बच्चों को चोट लग जाती है दुनिया भर में हर साल लाखों बच्चे सिर्फ इसीलिए अपनी जान गवा देते हैं,

क्योंकि उनके मां बाप उनकी अच्छे से देखभाल नहीं रख पाते यदि आपको अपने छोटे बच्चे का ख्याल रखना चाहती हैं तो आपको बहुत सी बातों का ख्याल रखना पड़ता है, क्योंकि छोटी-छोटी गलतियां भी बड़े नुकसान का कारण बन सकती हैं।

इसलिए आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको Newborn Baby Safety Tips In Hindi तथा Chote Bacho Ka Khayal Kaise Rakhe इसके बारे में बताएंगे। इसी के साथ-साथ हम आपको Safety Tips For Kids In Hindi के बारे में भी अच्छी तरह बताएंगे, ताकि आप अपने बच्चे को लेकर कोई भी सावधानी ना बरतें।

बच्चों की सुरक्षा कैसे करें – Safety Tips For Kids In Hindi ?

अब हम आपको Baby Safety Tips In Hindi के बारे में बताने जा रहे हैं, ताकि आप आसानी से अपने छोटे बच्चों का ख्याल रख सकें।

1. स्वच्छता बनाए रखें First Safety Tip For Kids Maintain Cleanliness

छोटे बच्चों का शरीर नाजुक होने के साथ-साथ बहुत कोमल भी होता है और उनके शरीर की Immunity भी बहुत ही कमजोर होती हैं। इसीलिए आपको अपने छोटे बच्चों को गोद में उठाने से पहले स्वच्छता का ख्याल रखना पड़ता है। बहुत बार आप अपने गंदे हाथों से छोटे बच्चे को गोद में उठा लेते हैं या फिर आप अपने हाथों को बिना साबुन के ही पानी से धो कर सीधे अपने बच्चे को गोद में उठा लेते हैं।

बच्चों की सुरक्षा कैसे करें - Safety Tips For Kids In Hindi ?

 इस प्रकार आपके हाथों पर मौजूद कीटाणु बच्चे के शरीर पर आ सकते हैं और उसे नुकसान पहुंचा सकते हैं इसीलिए नहा धोकर ही अपने बच्चे को हाथ में उठाना चाहिए। यहां तक कि बच्चे के आसपास भी स्वच्छता का पूरा ध्यान रखना चाहिए, अगर बच्चे के आसपास गंदगी पड़ी रहती हैं, तो उसके कारण भी बच्चे का स्वास्थ्य बिगड़ सकता हैं।

2. बच्चे को फर्श पर छोड़कर गर्म पानी में रॉड ना लगाएं – Do not Put the Rod in hot water Leaving the Child on the Floor

Safety Tips For Kids अगर आप रॉड के माध्यम से गर्म पानी करते हैं, तो उसमें भी आपको पूरी सावधानी बरतनी होगी अगर आपने Floor पर बाल्टी रखकर उसमें rod लगाई हुई है तो उस समय आपको अपने बच्चे को फर्श पर नहीं छोड़ना चाहिए। यदि आपका बच्चा थोड़ा-थोड़ा घुटनों से चल सकता है, तो उस समय वह उस बाल्टी में भी हाथ डाल सकता है, उस बाल्टी में काफी ज्यादा करंट होता है और करंट लगने की वजह से बच्चे की मृत्यु भी हो सकती हैं।

इसीलिए छोटे बच्चे के सामने इस प्रकार पानी गर्म ना करें या फिर पानी गर्म करते भी हैं, तो उस समय बच्चे के पास ही बैठे रहिए ताकि आपके बच्चे को किसी भी प्रकार का नुकसान ना पहुंचे।

3. स्त्री करते समय ध्यान रखें – 3rd Safety Tip For Kids take care while doing Ironing

जब हम अपने घरों में अपने कपड़ों पर स्त्री कर रहे होते हैं तो उस समय भी हमें बच्चों का काफी ख्याल रखना पड़ता है, क्योंकि बच्चों को नहीं पता कि यह क्या चीज है। कहीं बार बहुत सी महिलाएं कपड़ों पर प्रेस करते समय प्रेस को ऐसे ही छोड़कर दूसरा काम करने लगती हैं और फिर छोटे बच्चे उस पर अचानक से अपना हाथ लगा देते हैं जिसके कारण उनका हाथ भी जल जाता है।

इसीलिए आपको यह सावधानी बरतनी होगी जब आप कपड़ो पर स्त्री करती हैं, तो उस समय आपको अपने बच्चे पर पूरा ध्यान रखना होगा और उसे उस समय उस स्थान से दूर ही रखें तो बेहतर होगा। क्योंकि आपका जरा सा भी ध्यान हटने के कारण आपका बच्चा गलती से प्रेस पर हाथ भी लगा सकता है़।

4. सोते समय बच्चे के दोनों तरफ तकिया रखें – 3. स्त्री करते समय ध्यान रखें – 4th Safety Tip For Kids Place a Pillow on Either Side of the Baby while Sleeping

जब आपका बच्चा सो रहा होता है तो सोते सोते हुए हैं नींद में करथल भी ले सकता है जिसकी वजह से आपका बच्चा बेड से नीचे भी गिर सकता है। इसीलिए जब आपका बच्चा सो रहा होता है, तो उसके दोनों तरफ आपको तकिए रखनी चाहिए जिससे कि उसके गिरने का खतरा ना रहे, क्योंकि छोटे बच्चों को बेड से गिरने के पश्चात काफी बड़ा नुकसान भी पहुंच सकता है।

हम सभी जानते हैं कि बच्चों की हड्डियां काफी कमजोर होती है। इसीलिए बेड से गिरने के कारण बच्चे की हाथ या पैर की हड्डी भी टूट सकती है और उसकी कमर में भी झटका आ सकता है। इसीलिए जब बच्चे सो रहे हो, तो उस समय साइड में तकिया लगाना सही रहता है।

5. कोई भी बिजली उपकरण खुला ना छोड़े – 5th Safety Tip For Kids Do not Leave any Electrical Appliance Unattended

आपको अपने घर में बिजली के उपकरण खुले नहीं छोड़ने चाहिए जैसे कि प्रेस की तार लगाकर नहीं छोड़नी चाहिए या फिर चार्ज लगाकर स्विच ऑन कर कर नहीं छोड़ना चाहिए और extension board की तार लगाकर भी ऐसे ही नहीं छोड़ना चाहिए।

इसके अतिरिक्त घर पर बिजली के सभी Switch बंद रखनी चाहिए क्योंकि छोटे बच्चे जब हाथ पैर चलाना सीखते हैं, तो उस बिजली के Switch में उंगली भी दे देते हैं जिसके कारण उन्हें करंट लग जाता है, इसलिए आपको इन सब चीजों पर ध्यान रखना होगा। इसके अतिरिक्त और भी बहुत से ऐसे बिजली के उपकरण हैं जिनसे बच्चे को काफी नुकसान पहुंच सकता है, इसलिए बिजली के उपकरणों का ज्यादा ख्याल रखें।

6. बच्चे को अकेला ना छोड़े – 6th Safety Tip For Kids Don’t Leave Baby Alone

कई बार ऐसा भी होता है कि महिलाएं अपने बच्चे को घर के आंगन में सुला कर खुद घर में कुछ काम करने लगती हैं हम आपको बता दें यदि आप इस प्रकार घर के आंगन में अपने बच्चे को अकेला छोड़ दी हैं, तो कोई जानवर या पक्षी भी आकर आपके बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है इसीलिए अपने बच्चे को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए। खासतौर पर ग्रामीण इलाकों में छोटे बच्चे को अकेला पाकर नुकसान पहुंचाने के अनेकों तरीके आजमाए जा सकते हैं, इसीलिए बच्चे को भूलकर भी अकेला ना छोड़े।

5. कोई भी बिजली उपकरण खुला ना छोड़े -  5th Safety Tip For Kids  Do not Leave any Electrical Appliance Unattended

7. दवाइयों से दूरी है जरूरी – 7th Safety Tip For Kids It is Important to Stay Away From Medicines ?

छोटे बच्चों को किसी भी चीज के बारे में नहीं पता होता अगर आपने अपने बेड के आसपास अपनी कोई दवाई रखी हुई है या फिर कोई कोई दूसरे किस्म की दवाई रखी हुई है, तो उसके कारण भी बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है। क्योंकि बच्चे को इसके बारे में बिल्कुल नहीं पता, आपका बच्चा खेलने के लिए उस दवाई को उठाकर अपने मुंह में भी डाल सकता है जिसके कारण आपके बच्चे को नुकसान स्वरूप कुछ भी हो सकता है।

इसीलिए घर में रखी दवाइयों को बच्चों की पहुंच से काफी दूर रखना चाहिए क्योंकि छोटे बच्चों को यह आदत होती है कि, वह कोई भी चीज देखते ही उसके साथ खेलने के लिए उसे अपने मुंह में डाल लेते हैं और यदि वह दवाइयों को मुंह में डाल लेते हैं, तो उसके कारण उन्हें नुकसान पहुंचना संभव है।

8. घर के फर्श को पूरा साफ रखें – 8th Safety Tip For Kids Keep the Floor of the House Clean

बच्चों के खेलने के लिए सबसे पहला मैदान उनके घर का फर्श ही होता है। इसीलिए जिसके घर में छोटे बच्चे हैं। उसे घर के फर्श की साफ सफाई पर कुछ ज्यादा ही ख्याल रखना पड़ता है क्योंकि फर्श गंदा होने के कारण बच्चे का स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है।

इसके अतिरिक्त तो यदि आप फर्श साफ नहीं करते तो कहीं बाहर बहुत से कीड़े मकोड़े फर्श पर घूम रहे होते हैं, जो आपके छोटे बच्चों को फर्श पर खेलते समय काट भी सकते हैं। इसीलिए घर के फर्श को साफ सुथरा बनाए रखने में ही आपकी भलाई होती है, क्योंकि छोटे बच्चे थोड़ा सा भी दर्द सहन नहीं कर पाते।

9. गर्म चीज से दूर रखें – 9th Safety Tip For Kids Keep Away from Hot Things

छोटे बच्चों को गर्म चीजों से काफी दूर रखना चाहिए, जैसे कि अगर आप छोटे बच्चों के आसपास गर्म पानी रख कर कुछ काम कर रही हैं या फिर दूसरी कोई गर्म चीज रखकर काम कर रही है और बच्चा अगर उसमें हाथ मार देता है, तो उसके कारण वह चीज उसके ऊपर भी गिर सकती है जिसकी वजह से उसका हाथ पैर जल सकते हैं। इसीलिए छोटे बच्चे वाले घरों में इन चीजों का खास तौर पर ख्याल रखना चाहिए ध्यान रहे कि किसी भी प्रकार की कोई गर्म चीज बच्चे के आसपास छोड़कर कोई दूसरा काम ना करें, क्योंकि इसका बुरा अंजाम आपके बच्चों को भुगतना पड़ सकता हैं।

Eye Disease in Children’s : जन्म के पश्चात बच्चों की आंखों में होने वाली समस्याएं – जानिए बच्चों की आंखों की देखभाल कैसे करें ?

10. बच्चे को रसोई में ना जाने दे – 10th Safety Tip For Kids Don’t Let the Child in the kitchen

छोटे बच्चों को रसोई में नहीं जाने देना चाहिए, क्योंकि रसोई में भी बहुत सी चीजें ऐसी हैं जिसके कारण उन्हें नुकसान पहुंच सकता है। जब आपका बच्चा घुटनों के बल चलना सीखता है, तो वह चलते-चलते रसोई घर में भी जा सकता है और रसोई घर में जाकर वह किसी चीज को अपने ऊपर भी गिर सकता है या कोई बर्तन अपने सिर पर गिर सकता है जिसकी वजह से उसको चोट लग सकती है।

11. बिजली उपकरण का स्विच नीचे लटकने से पहुंच सकता है नुकसान – 11th Safety Tip For Kids Hanging down the Switch of a Power Tool can Cause Damage

बहुत बार ऐसा भी होता है क्या आपके घर में किसी Electronic Equipment Switch नीचे लटक रहा होता है, बच्चा उसे रस्सी समझकर काफी तेज खींचने लगता है और जब है उसे खींचता है तो वह बिजली उपकरण उसके सिर पर भी गिर सकता है या फिर उसके हाथ पैर पर भी गिर सकता है। देश भर में ऐसे लाखों मामले हर साल सामने आते हैं जिसमें छोटे बच्चे टीवी की तार पकड़ कर टीवी को अपने ऊपर गिरा लेते हैं जिसके कारण छोटे बच्चे गंभीर रूप से घायल भी हो जाते हैं, इसलिए आपको इस प्रकार की चीजों का भी ख्याल रखना चाहिए।

12.  सीढ़ियों पर अकेला ना छोड़े – 12th Safety Tip For Kids Don’t be Left Alone on the Stairs

यदि आप अपने छोटे बच्चे को छत पर घुमाने ले जाती हैं और उसे छत पर ले जाकर बैठा देती हैं, तो आपका ध्यान थोड़ा सा भी इधर-उधर होने के कारण आपके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है, क्योंकि आपका बच्चा धीरे-धीरे घुटनों के बल सीढ़ियों के पास आ सकता है और वह सीढ़ियों से उतरने की कोशिश भी कर सकता है और इसी दौरान आपका बच्चा सीढ़ियों से नीचे गिर सकता है जिसकी वजह से उसके हाथ पैर की हड्डियां टूटने के साथ-साथ उसकी जान भी जा सकती है। इसलिए आपको इस प्रकार की सावधानियां भी बरतनी होगी क्योंकि बच्चे की पूरी जिम्मेवारी है उसकी मां के ऊपर ही होती है़।

13. बच्चे के बीमार होने पर कोई भी दवाई अपनी मर्जी से ना दें – 13rd Safety Tip For Kids Do not Give any Medicine on your Own when the Child is Sick

बचपन में अक्सर छोटे बच्चे बीमार होते ही रहते हैं, लेकिन उनके बीमार होने पर आपको किसी भी प्रकार की दवाई उन्हें अपनी मर्जी से नहीं देनी चाहिए। क्योंकि बच्चों का शरीर बहुत ही नाजुक होता है और यदि आप उन्हें किसी भी प्रकार की दवाई खिला देते हैं, तो उसके कारण उन्हें कोई भी साइड इफेक्ट हो सकता है।

इसीलिए छोटे बच्चों को किसी भी प्रकार की दवाई अपनी मर्जी से नहीं खिलानी चाहिए अगर बच्चे की तबीयत थोड़ी खराब है, तो उस समय भी आप को बच्चों के डॉक्टर से ही दवाई लेनी चाहिए क्योंकि हर प्रकार की दवाई बच्चा नहीं खा सकता बच्चे को उसके वजन के आधार पर ही दवाई दी जाती है।

14. दिन के समय शिशु को हवा लगने दे – 14th Safety Tip For Kids Give the Baby Air at the Time of Day

दिन के समय आपको अपने बच्चे को ज्यादा देर तक diaper पहना कर नहीं रखना चाहिए। क्योंकि दिन के समय शिशु बार बार पेशाब करता है और जब शिशु बार-बार पेशाब करता है, तो उस समय diaper खराब हो जाता है और diaper के माध्यम से गीलापन बच्चे की छाती तक भी पहुंच सकता है। इसीलिए गर्मियों के मौसम में छोटे बच्चों को दिन के समय बिना डायपर के आप खुली हवा में भी पढ़ा सकते हैं।

इस प्रकार शिशु को बहुत ही शांति महसूस होती है क्योंकि डायपर में जब शिशु गीलापन महसूस करता है तो उसे बहुत ज्यादा बेचैनी महसूस होती है, जिसके कारण आपका बच्चा सो भी नहीं पाता और वह दूसरे बच्चों की अपेक्षा काफी ज्यादा चिड़चिड़ा भी हो जाता हैं।

बच्चे की सुरक्षा से संबंधित ध्यान रखने योग्य बातें - Things to Keep in Mind Regarding Kids Safety In Hindi ?
image source:-http://www.canva.com

15. रबड़ के खिलौने ही लाएं – 15th Safety Tip For Kids Bring only Rubber Toys

छोटे बच्चों को बचपन में ज्यादा Hard Plastic या फिर Metal Toys नहीं देनें चाहिए। क्योंकि इस प्रकार के खिलौनों से यदि आपका बच्चा खेलता हैं, तो उसे नुकसान भी पहुंच सकता है। इसीलिए छोटे बच्चों को खेलने के लिए रबड़ के खिलौने देनें चाहिए, क्योंकि छोटे बच्चों को खिलौनों को मुंह में डालने की आदत भी होती हैं।

इसीलिए उनके खिलौनों को साफ सुथरा भी रखना चाहिए और सिर्फ और सिर्फ rubber toys हिलाने चाहिए, क्योंकि rubber toys बहुत soft होते हैं, जो कि बच्चा आसानी से पकड़ भी सकता है और इस प्रकार के खिलौनों से बच्चे को किसी प्रकार का कोई नुकसान भी नहीं पहुंचता।

बच्चे की सुरक्षा से संबंधित ध्यान रखने योग्य बातें – Things to Keep in Mind Regarding Kids Safety In Hindi ?

छोटे बच्चे की सुरक्षा से संबंधित बहुत सी बातें ऐसी हैं जिनका ख्याल रखो अपने बच्चे को काफी आसानी से सुरक्षित रखती हैं जैसे कि :-

  • छोटे बच्चों को धूप से बचाना चाहिए। क्योंकि धूप के संपर्क में आने के कारण आपके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है। इसीलिए बच्चे को धूप से बचाना चाहिए क्योंकि उनकी त्वचा भी नाजुक होती है, जो की धूप के कारण जल भी सकती है।
  • आपके छोटे बच्चे जिन खिलौनों से रोजाना खेलते हैं आपको उन्हें रोजाना अच्छे से धोना चाहिए। आपको उन्हें एक बाल्टी में डाल कर उसमें थोड़ा सा लिक्विड डेटोल डालकर उन्हें अच्छे से धोना चाहिए, ताकि उन पर जमा सभी बैक्टीरिया नष्ट हो जाएं।
  • छोटे बच्चों को रोजाना नहीं लाना चाहिए यदि आप बच्चों को रोजाना नहीं मिला पा रहे हैं, तो आप एक दिन छोड़कर बच्चों को नहला सकते हैं। यदि आप बच्चों को साफ सुथरा बनाए रखेंगे, तो इस प्रकार भी वह सुरक्षित रहते हैं और उन्हें त्वचा संबंधित बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है।
  • जब आप छोटे बच्चे का डाइपर बदलती हैं, तो उस समय पहले उसी स्थान को गुनगुने पानी से अच्छी तरह साफ करना चाहिए, उसके पश्चात ही डायपर पहनाना चाहिए।
  • जिस बोतल में आप अपने बच्चे को दूध पिलाती है, आपको उस बोतल की साफ-सफाई का भी पूरा ख्याल रखना पड़ता है, आप जब उस बोतल को इस्तेमाल करने वाले होते हैं, तो पहले उस बोतल को 10 से 15 मिनट तक गर्म पानी में डालकर रखना चाहिए और फिर उसे दोबारा अच्छे से ठंडे पानी से धोना चाहिए और उसके पश्चात ही उसमें बच्चे को दूध पिलाना चाहिए।
  • छोटे बच्चों को जब भी आप गोद में उठाते हैं, तो उनकी गर्दन के नीचे हाथ रख कर अच्छे से गोद में उठाना चाहिए, क्योंकि अगर आप ऐसे ही बच्चों को गोद में उठा लेंगे, तो उसके कारण उनकी गर्दन में झटका भी आ सकता है जिसकी वजह से उनकी गर्दन दर्द हो सकती है, इसीलिए इस बात का भी खास ख्याल रखें।
  • आपको अपने बच्चों के कपड़े रोजाना बदलने चाहिए क्योंकि छोटे बच्चे दिल में कहीं बाहर अपने कपड़ों में पेशाब करते हैं, जिसकी वजह से उनके कपड़े काफी गंदे हो जाते हैं और अगर आप उनके पेशाब करने के पश्चात उनके कपड़ों को ऐसे ही पानी में डुबोकर धोखा देती हैं, तो उसके कारण भी बच्चों को नुकसान पहुंच सकता है। इसीलिए आप को बच्चों के कपड़ों को अच्छे से Anti-Bacterial साबुन से धोने के पश्चात तो खाना चाहिए और फिर उन्हें बदल बदल कर पहनाने चाहिए, इस प्रकार आपका बच्चा बिल्कुल स्वस्थ रहता है।

Conclusion –

बच्चे की सुरक्षा करनी बेहद ही आवश्यक होती है, क्योंकि बचपन में कई बार हम अपने बच्चे पर ध्यान नहीं दे पाते जिसकी वजह से उसको कुछ ऐसा नुकसान पहुंच जाता है जिसका दर्द हमें जिंदगी भर रहता है। इसीलिए हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से Baby Safety Tips In Hindi तथा Chote Bacho Ka Khayal Kaise Rakhe के बारे में बताया है, ताकि आप आसानी से अपने बच्चे का ख्याल रख ले अगर अब आपको हमसे Safety Tips For Kids In Hindi के बारे में कोई भी सवाल पूछना हो तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This