जानिए लौंग Laung क्या है एवं इसके औषधि गुण, पोषण संबंधी तथ्य और 20 स्वास्थ्य लाभ हिंदी में | What is Clove (Laung) its medicinal 20 best benefits, uses and Side effects in Hindi

Must Read

Gagan Singla
Gagan Singlahttp://goodswasthya.com
He is a professional certified dietary expert with experience of more than 14 months. He is well known for his work in dietary scheduling for health-conscious people. His hobbies including traveling and Netflixing. He is good at sports and spent his most of the free time playing volleyball and cricket. His knowledge about dietary scheduling makes him the perfect scheduler. he loves to help people and patients with their post and pre-surgical dietary habits. वह 14 महीने से अधिक के अनुभव के साथ एक पेशेवर प्रमाणित आहार विशेषज्ञ है। वह स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों के लिए आहार निर्धारण में अपने काम के लिए जाना जाते है। यात्रा करना और नेटफ्लिक्सिंग उनके कुछ शौक हैं। वह खेलों में अच्छे है और अपना अधिकांश खाली समय वॉलीबॉल और क्रिकेट खेलने में बिताते है। आहार निर्धारण के बारे में उनका ज्ञान उन्हें पूर्ण अनुसूचक बनाता है। वह लोगों को उनके पोस्ट और पूर्व-सर्जिकल आहार आदतों को सुधरने और रोगियों की मदद करना पसंद करते हैं।
Clove Benefits In Hindi Table Of Content:

जानिए लौंग Laung क्या है एवं इसके औषधि गुण, पोषण संबंधी तथ्य और स्वास्थ्य लाभ हिंदी में | What is clove (Laung) its medicinal benefits, uses and Side effects in Hindi

लौंग को लौंग के पेड़ से फूल की कलियों को सुखाया जाता है। यह एक लोकप्रिय मसाला है जो लोग सूप, स्टॉज, मीट, सॉस और चावल के व्यंजनों में उपयोग करते हैं।

उनका नाम लैटिन शब्द क्लैवस(Clavus) से आया है, जिसका अर्थ है नाखून क्योंकि एक सूखे लौंग का आकार नाखून के जैसा होता है।

लोगों ने कई वर्षों से लौंग का उपयोग खाना पकाने और पारंपरिक चिकित्सा में किया है, लेकिन यह केवल हाल ही में है कि वैज्ञानिकों ने अपने संभावित स्वास्थ्य लाभों का अध्ययन करना शुरू कर दिया है।

लौंग के संभावित स्वास्थ्य लाभों, उपयोगों और जोखिमों के बारे में हम इस लेख में आपको जानकारी देने जा रहे हैं |

लौंग(cloves) के स्वास्थ्य लाभ | (Health Benefits Of Cloves )

लौंग(cloves) के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits Of Clove )

लौंग को एक आयुर्वेदिक औषधि भी माना जाता है यह कई प्रकार के रोगों के इलाज में काम आती हैं –

मौखिक स्वास्थ्य (Laung for Oral Health )

लौंग के पेड़ से लौंग की सूखी कलियां निकलती हैं।

लौंग के तेल का प्रयोग  Plaque, Gingivitis, और  Bacteria  पर बहुत असरदार होता है |

शोधकर्ताओं ने लौंग, तुलसी और Tea Tree Oil  से रोजाना कुल्ला करने से मूंह की बदबू से निजात मिलती है और मूंह के अन्य रोग भी ठीक होते हैं |

आजकल कई Toothpaste भी लौंग के गुणों से भरपूर होते हैं |

मधुमेह (Clove helps to control Diabetes )

एक अध्ययन में पाया गया कि Clove Extract And Nigericin , लौंग के अर्क का एक घटक, मांसपेशी कोशिकाओं में Insulin Resistance को कम करता है।

कैंसर (Clove fights Cancer)

कई जड़ी बूटियों और मसालों में   Antioxidants में अच्छी मात्रा में होता  हैं,  डाइटिशियन के अनुसार, “सिर्फ 1/2 चम्मच पिसी हुई लौंग में ब्लूबेरी के 1/2 कप से अधिक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं।”

शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि लौंग का उपयोग फेफड़ों के कैंसर (Lungs cancer )और त्वचा कैंसर (Skin cancer) को रोकने में लाभदायक हो सकता है । इसमें मौजूद यूजेनॉल नामक तत्व इस दिशा में सहायक हो सकता है |

वैज्ञानिकों ने मानव  Breast Cancer Cells पर लौंग के अर्क के प्रभाव को देखा। उन्होंने पाया कि Clove Essential Oil And Ethanol Extract Of Clove  दोनों स्तन कैंसर कोशिकाओं को कम करने में उपयोगी हैं |

मोटापा (Clove helps to boost Metabolism and reduce Obesity)

लौंग चयापचय (Metabolism )  को सही करता है जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है। मसाले में एंटीकोलेस्टेरिक (Anticholesteremic) और एंटी-लिपिड (Anti-Lipid ) गुण भी होते हैं। जब इस शक्तिशाली मसाले को काली मिर्च (Black papper ), दालचीनी (Cinemon )और जीरा (Cumin Seeds ) के साथ मिलाया जाता है, तो यह हमारी चयापचय दर को बढ़ाने में मदद करता है, जो अंततः वजन कम करने में मदद करता है। इसके अलावा लौंग में एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं जो ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करते हैं। कम ऑक्सीडेटिव तनाव से पुरानी बीमारी का खतरा कम हो जाता है। लौंग को ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखने के लिए भी जाना जाता है।

दर्द प्रतिरोधक क्षमता (Laung has Pain Killer Properties )

लौंग Clove  एक उत्कृष्ट प्राकृतिक दर्द निवारक  है। इसमें मौजूद Eugenol Oil  दांत दर्द से राहत दिलाने में बहुत फायदेमंद है। दांत चाहे कितने भी दर्दनाक क्यों न हों, उन पर लौंग का तेल लगाने से दर्द गायब हो जाता है। इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं जिसके कारण अब इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के टूथपेस्ट, माउथवॉश और क्रीम बनाने में किया जाता है।

यह भी पढ़े :- जानिए क्यों है Garlic लहसुन लोगों की पसंद । इससे होने वाले 12 लाभ , उपयोग , खुराक , साइड इफेक्ट्स और सावधानियां|

गठिया के दर्द में लाभकारी (Clove hlps you Get Rid Of Arthritis )

Arthritis में, जोड़ों में दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए भी लौंग का उपयोग किया जाता  है। इसमें Flavonoids  अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। कई विशेषज्ञ गठिया के इलाज के लिए लौंग के तेल की मालिश की सलाह देते हैं |

सांस की बीमारियों के लिए लाभदायक है | (Beneficial For Respiratory Diseases )

सांस की बीमारियों के लिए लाभदायक है (Clove Beneficial For Respiratory Diseases )

लौंग के तेल (Clove Oil )  की है कि इसे सूँघने से सर्दी, कफ, अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, साइनसाइटिस आदि समस्याओं में तुरंत राहत मिलती है।

लौंग एक बेहतरीन Antiseptic है (Clove is a Good Antiseptic)

लौंग (Clove ) और इसके तेल में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते  हैं, जिनका उपयोग फंगल संक्रमण, कटने, जलने, घाव या त्वचा(Fungal Infections, Cuts, Burns, Wounds Or Skin Problems) की समस्याओं के उपचार में किया जाता है। लौंग के तेल (Clove Oil ) को कभी भी सीधे त्वचा पर नहीं लगाना चाहिए इससे त्वचा पर जलन हो सकती है इसे किसी अन्य तेल के साथ मिलाकर प्रयोग करना चाहिए |

पाचन में भी सहायक (Clove Helps In Digestion)

भोजन में लौंग का उपयोग पाचन (Digetion ) संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। इसमें मौजूद तत्व अपच, उल्टी गैस्ट्रिक, डायरिया (Indigestion, Vomiting Gastric, Diarrhea )आदि जैसी समस्याओं से राहत दिलाने में मददगार होती है |

भोजन को बनाए स्वास्थ्य का पूरक (Clove Completes your Food)

भारतीय घरों में लौंग का इस्तेमाल लगभग हर खाने में किया जाता है यह मसाले के रूप में शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लौंग के अन्दर प्रोटीन, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, सोडियम और हाइड्रोक्लोरिक एसिड भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं

इसमें विटामिन ए और सी, मैंगनीज और फाइबर भी होते हैं।।

लौंग तनाव को दूर करने में है सहयक (Clove is usefull in stress)

लौंग में मौजूद युगेनोल मांसपेशियों का तनाव दूर करने में मदद करता है | जब आपको तनाव महसूस हो तो लौंग के तेल की कुछ बूंदे पानी में मिलाकर नहाए | और लौंग की चाय बनाकर पिए आपको राहत महसूस होगी |

सर्दी खांसी में लौंग की चाय है बहुत उपयोगी (Clove Tea for cough and cold )

अगर आपको सर्दी खांसी हो तो लौंग की 2 -3 कलियों को चाय में डाल कर उबाल ले और फिर गर्म गर्म पाई आपको बहुत राहत मिलेगी | खांसी में भी लौंग को भूंज कर मूंह में रख कर धीरे धीरे चबाएं इससे आपकी खांसी बंद हो जाएगी |

सुंदर त्वचा के लिए लौंग का उपयोग (Clove for beautiful Skin )

लौंग में बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती है इसलिए अगर आपकी त्वचा पर मुहांसे या acne की समस्या है तो लौंग के तेल को जोजोबा या नारियल तेल में मिलाकर चेहरे पर लगाएं आपको मुहांसों से निजात मिल जाएगी |

उम्र बढ़ने के संकेतों से लड़ता है(Clove has anti aging and anti oxidant properties)

क्या आप जानते हैं कि लौंग का तेल सौंदर्य प्रसाधनों में इस्तेमाल होने वाला एक शक्तिशाली एंटी-एजिंग घटक है? यह त्वचा की रैगिंग को कम करने और महीन रेखाओं और झुर्रियों की उपस्थिति में काम करता है। लौंग के तेल के आवेदन से रक्त परिसंचरण में सुधार होता है, जो त्वचा को एक युवा और उज्ज्वल रूप देता है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए बिस्तर पर जाने से पहले, अपने सीरम या मॉइस्चराइज़र में लौंग के तेल की कुछ बूँदें मिलाएं और रात को साफ़ त्वचा पर लगाएं।

काले धब्बे और धब्बा मिटाता है(Clove Reduces Black Spot of the Skin)

मुंहासों को ठीक करने और रोकने के अलावा, लौंग के तेल का एक और लाभ यह है कि यह काले धब्बे और मुंहासों और पिंपल्स के कारण बचे हुए दागों को भी मिटाता है। इसमें हल्के एक्सफ़ोलीएटिंग गुण होते हैं जो मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाते हैं और एक समान त्वचा टोन सुनिश्चित करते हैं। एक वाहक तेल के साथ लौंग आवश्यक तेल की कुछ बूँदें मिलाएं और परिपत्र गति में अपने चेहरे पर मालिश करें। सर्वोत्तम परिणामों के लिए हर रात दोहराएं।

लौंग बालों के लिए लाभकारी है (Clove Benefits For The Hair )

रूसी का इलाज करता है (Treats Dandruff)

डैंड्रफ एक विकट  समस्या हो सकती है, खासकर जब यह गुच्छे और आपके कंधों पर गिरती है। इस समस्या के इलाज के लिए लौंग के तेल  का उपयोग करें। जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, लौंग के तेल में एंटी-फंगल और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं, यह रूसी से लड़ने में मदद करता है और खुजली की सनसनी को रोकता है। डैंड्रफ वाली एक सूखी और चिड़चिड़ी खोपड़ी को शांत करने के लिए, अपने नियमित शैम्पू में लौंग आवश्यक तेल की 10-12 बूंदें ले और इसका उपयोग अपने बालों को धोने के लिए करें।

बालों के विकास को बढ़ावा देता है (Clove for Hair Growth)

लौंग के तेल में पाया जाने वाला यौगिक यूजेनॉल बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है। यह नियमित रूप से इस्तेमाल करने  पर, बालों में  एक स्वस्थ चमक आती है और यह बालो को मजबूत बना  सकता है। मजबूत और स्वस्थ बालों  के लिए लौंग के तेल का उपयोग करने के लिए, नारियल के तेल को गर्म करके  एक चम्मच लौंग के तेल को मिलाएं और अपनी उंगलियों का उपयोग करके इसे अपने बालों की जड़ों में लगाएं। 2-3 घंटे बाद धो लें। यह खोपड़ी में रक्त परिसंचरण में सुधार करेगा और मजबूत बाल विकास को बढ़ावा देगा।

समय से पहले बूढ़ा होने से रोकता है (Clove For anti aging)

लौंग में कुछ अनूठे तत्व होते हैं जो अपने प्राकृतिक रंग में बालों को रखने के लिए जिम्मेदार होता  हैं। एक चम्मच लौंग के तेल के साथ तीन बड़े चम्मच नीलगिरी के तेल को मिलाएं और सप्ताह में दो बार अपने खोपड़ी और बालों की मालिश करें।

उलटी और उबकाई में उपयोगी है लौंग (Clove is Helpful in vometing)

अगर आपको उलटी हो रही हो या जी मतली कर रहा हो या फिर उबकाई आ रही हो तो लौंग को अपने मूंह में रखे या फिर लौंग के तेल को रुमाल पर लगा कर सूंघे आपको तकलीफ से छुटकार मिलेगा और आप अच्छा महसूस करेंगे | जिन लोगो को बस या गाडी में उलटी आती है  उन्हें भी अपने पास लौंग का तेल या लौंग अवश्य रखनी चाहिए |

कान के दर्द में उपयोगी है लौंग ( Clove for Ear )    

छोटे बच्चो को अकसर कान dard की समस्या हो जाती है ऐसे में लौंग एक असरदायक उपाय हो सकती है कुते हुए लौंग को सरसों या जैतून के तेल में डाल कर गर्म करें फिर थोडा ठंडा होने पर कान में डालें कुछ देर रहने दे और फिर निकल जाने दें इससे कान में होने वाले Infection से छुटकारा मिलता है और कान का दर्द सही हो जाता है |

अन्य फायदे (Other Benefits )
image source :- https://www.canva.com/

अन्य फायदे (Other Benefits )

इतना ही नहीं, लौंग का सेवन शरीर की प्रतिरोधक क्षमता (Immunity )  को बढ़ाता है और रक्त को शुद्ध (Blood purify )  करता है। इसका उपयोग मलेरिया, हैजा (Cholera ) जैसी बीमारियों के इलाज के लिए दवाओं में किया जाता है। मधुमेह  में लौंग के उपयोग से ग्लूकोज का स्तर कम हो जाता है। लौंग के तेल के दर्द निवारक (pain killer )  के अलावा, मच्छरों को भगाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

लौंग के side effect (Side Effects of Clove )

लौंग खाद्य और पेय पदार्थों में एक आम स्वादिष्ट बनाने काके लिए उपयोग किया जाता  है, और टूथपेस्ट, साबुन, और सौंदर्य प्रसाधनों जैसे अन्य उत्पादों में स्वाद या सुगंध के रूप में उपयोग किया जाता है। जब खाद्य उत्पाद के रूप में उपयोग किया जाता है, तो लौंग स्वास्थ्य लाभ या साइड इफेक्ट की संभावना नहीं है। जब एक औषधीय उत्पाद (Medicine ) के रूप में उपयोग किया जाता है, तो लौंग शरीर पर वांछित और अवांछित दोनों प्रभाव पैदा कर सकता है।

आइये जानते हैं कि लौंग के क्या Side Effect हो सकते हैं |

  • लौंग का उपयोग अधिक मात्रा में करने से आपके liver और kidney  में समस्या उत्पन्न हो सकती है |
  • लौंग में Blood को पतला करने वाले तत्व होते हैं इससे Bleeding की समस्या हो सकती है | खासतौर पर महिलाओं को Period के समय लौंग का इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए |
  • यह Blood में Glucose की मात्रा को कम करता है इसलिए अपने Sugar level को जांचते रहे |
  • इसको त्वचा पर सीधे प्रयोग करने से जलन भी हो सकती है |
  • अगर आप गर्भवती है या स्तनपान कराती है तो इसका सेवन कम करें इससे शिशु को समस्या हो सकती है |

इस प्रकार लौंग एक न=बहुत ही गुणकारी आय्र्वेदिक औषधि है पर इसका इस्तेमाल पूरी सावधानी से उचित मात्रा में ही किया जाना चाहिए ताकि आपको इसका पूरा लाभ मिल सके |

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This