जानिए मेथी यानी Fenugreek क्या है इसके उपयोग 18 स्वस्थ्य लाभ एवं होने वाले नुकसान की जानकारी हिंदी में | What is Fenugreek its 18 best uses, health benefits and Side effects in Hindi

Must Read

Gagan Singla
Gagan Singlahttp://goodswasthya.com
He is a professional certified dietary expert with experience of more than 14 months. He is well known for his work in dietary scheduling for health-conscious people. His hobbies including traveling and Netflixing. He is good at sports and spent his most of the free time playing volleyball and cricket. His knowledge about dietary scheduling makes him the perfect scheduler. he loves to help people and patients with their post and pre-surgical dietary habits. वह 14 महीने से अधिक के अनुभव के साथ एक पेशेवर प्रमाणित आहार विशेषज्ञ है। वह स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों के लिए आहार निर्धारण में अपने काम के लिए जाना जाते है। यात्रा करना और नेटफ्लिक्सिंग उनके कुछ शौक हैं। वह खेलों में अच्छे है और अपना अधिकांश खाली समय वॉलीबॉल और क्रिकेट खेलने में बिताते है। आहार निर्धारण के बारे में उनका ज्ञान उन्हें पूर्ण अनुसूचक बनाता है। वह लोगों को उनके पोस्ट और पूर्व-सर्जिकल आहार आदतों को सुधरने और रोगियों की मदद करना पसंद करते हैं।
What is Fenugreek in Hindi Table of Content

जानिए मेथी यानी Fenugreek क्या है इसके उपयोग 18 स्वस्थ्य लाभ एवं होने वाले नुकसान की जानकारी हिंदी में | What is Fenugreek its 18 best uses, health benefits and Side effects in Hindi

मेथी एक जड़ी बूटी है जो तिपतिया घास (Clover) के समान है। मेथी (Fenugreek )  का उपयोग खाना पकाने में, दवा में, और अन्य दवा के स्वाद को छिपाने के लिए किया जाता है।मेथी के पत्तों को भारत में सब्जी के रूप में खाया जाता है।सर्दी के मौसम में मेथी की भाजी के कई पकवान बनाए जाते हैं जैसे पूरी , सब्जी आदि | यह स्वादिष्ट होने के साथ साथ स्वास्थ्यवर्धक भी है |

जानिए मेथी यानी Fenugreek क्या है इसके उपयोग स्वस्थ्य लाभ एवं होने वाले नुकसान की जानकारी हिंदी में | What is Fenugreek its uses, health benefits and Side effects in Hindi

मेथी (Fenureek ) को मधुमेह (Diabetes ), मासिक धर्म में ऐंठन (Menstrual Cramps ) , उच्च कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol ) और कई अन्य स्थितियों के लिए लिया जाता है|

खाद्य पदार्थों में, मेथी को मसाले के मिश्रण में एक घटक के रूप में शामिल किया जाता है। यह नकली मेपल सिरप , खाद्य पदार्थ, पेय पदार्थ, और तंबाकू (Imitation Maple Syrup, Foods, Beverages,  Tobacco ) में स्वादिष्ट बनाने में भी उपयोग किया जाता है।

 मेथी Fenugreek के अर्क का उपयोग साबुन और सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है।

यह कैसे काम करता है?

मेथी पेट में शर्करा के अवशोषण को धीमा करती है और इंसुलिन को उत्तेजित करती है। ये दोनों प्रभाव मधुमेह वाले लोगों में Blood Sugar को कम करते हैं।

मेथी के उपयोग ( Benefits of Fenugreek )

मधुमेह  में उपयोगी मेथी (Fenugreek in Diabetes)

 मेथी के बीज लेने से मधुमेह वाले लोगों में Blood Sugar (Blood Sugar )  का स्तर कम हो सकता है। रोजाना कम से कम 5 ग्राम की खुराक मदद करती है।

मासिक धर्म की तकलीफों में उपयोगी ( Fenugreek in Periods )

मासिक धर्म ऐंठन (कष्टार्तव)। मासिक धर्म की अवधि के पहले 3 दिनों के लिए रोजाना 1800-2700 मिलीग्राम मेथी के बीज का पाउडर तीन बार लेने से दो मासिक धर्म चक्र के शेष के लिए 900 मिलीग्राम प्रतिदिन तीन बार लेने से दर्दनाक मासिक धर्म के साथ महिलाओं में दर्द कम हो जाता है। दर्द निवारक दवाओं(pain killer )  की आवश्यकता भी कम हो जाती है |

यौन समस्याओं में भी मददगार ( Fenugreek for Sexual Problems)

यौन समस्याएं  (Sexual Problems  )जो यौन गतिविधि के दौरान संतुष्टि को रोकती हैं। प्रत्येक दिन एक विशिष्ट Seed Extract (Libifem, Gencor Pacific Ltd.) ) के 600 मिलीग्राम लेने से स्वस्थ युवा महिलाओं में कम सेक्स ड्राइव के साथ सेक्स में रुचि बढ़ जाती है।

बालो को सुन्दर बनाने में सहायक (Fenugreek for hair )

मेथी(Fenugreek )  के औषधीय गुण बालों के झड़ने को रोकने में फायदेमंद होते | इसके लिए, 1-2 चम्मच मेथी के बीज को रात भर भिगो दें। सुबह इसे पीसकर बालों की जड़ों में लगाएं। एक घंटे के बाद बालों को धो लें। हफ्ते में दो से तीन बार लगाने से बालों के लिए मेथी दाना के फायदे बंद हो जाते हैं।

कान बहने पर मेथी का उपयोग (Benefits Of Methika Seed To Treat Runny Ear)

कान से खून आने की स्थिति में मेथी बहुत उपयोगी है | मेथी के दानों को दूध में पीस लें। इस रस की 1-2 बूंदें गुनगुने या गर्म करके कान डालने कान का बहना बंद हो जाता है।

मेथी ह्रदय रोगों में भी लाभदायक है ( Fenugreek for Heart disease )

मेथी अपने एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण हृदय रोग के लिए फायदेमंद है। इससे ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation ) सही रहता है। मेथी में घुलनशील Fiber  होता है जो हृदय रोग के खतरे को कम करता है। दिल को स्वस्थ रखने के लिए मेथी के 10-15 मिलीलीटर काढ़े में शहद मिलाकर पीएं।

मेथी Fenugreek के बीज खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम करते हैं। मेथी के बीज का पाउडर रोजाना सेवन करने से खराब कोलेस्ट्रॉल कम हो जाता है।

मेथी के उपयोग ( Benefits of Fenugreek ) | Methi ke fayde

मेथी से पेट के रोगों में के लिए उपयोगी हैं ( Fenugreek for stomach )

कब्ज की समस्या  से राहत दिलाने में मेथी के बीज बहुत फायदेमंद होते हैं। मेथी, चंद्रसूर, मंगरेला (निगेला) और अजमोद रोज खाएं। यह गैस, अपच, पेट दर्द, भूख न लगना, पेट फूलना, पेट दर्द और पीठ दर्द से संबंधित रोगों में फायदेमंद है।

कब्ज से लड़ने में मेथी फायदेमंद है (Fenugreek for Constipation)

मेथी के औषधीय गुण कब्ज में फायदेमंद हैं। अगर आप कब्ज से परेशान हैं तो मेथी के पत्तों का साग खाएं। यह कब्ज की समस्या से राहत देता है। मेथी मल को नरम करती है और कब्ज को ठीक करती है।

उल्टी की समस्या के लिए मेथी (Fenugreek for  vometing )

मेथी के औषधीय गुण उल्टी में फायदेमंद हैं। अगर आप बार-बार होने वाली उल्टी से परेशान हैं तो मेथी के बीजों का पाउडर लें। इससे उल्टी होना बंद हो जाती है।

पेचिश में मेथी के लाभ (Benefits Of Fenugreek In Dysentery )

मेथी पेचिश का इलाज कर सकती है। इसके लिए 5 ग्राम मेथी के बीज को घी में भूनें। इसे खाने से पेचिश में बहुत मदद मिलती है |

मेथी के दानों को भूनकर काढ़ा बना लें। पेचिश में 15-20 मिलीलीटर काढ़ा पीने से लाभ होता है।

अगर आप लंबे समय से डायरिया से पीड़ित हैं, तो 1-2 ग्राम मेथी पाउडर को छाछ में मिलाकर पीना फायदेमंद है।

मेथी गर्भावस्था के बाद महिलाओं के लिए उपयोगी (Fenugreek Useful For Women After Pregnancy )

 महिलाओं को प्रसव के बाद मेथी के औषधीय गुणों से बहुत लाभ मिलता है। मेथी के बीज गर्भवती महिलाओं के स्तनों में दूध बढ़ाते हैं। मेथी के सेवन से माँ के दूध की गुणवत्ता भी बढ़ती है, जिससे शिशु के स्वास्थ्य में भी सुधार होता है। माताएं मेथी की सब्जी, सूप आदि खा सकती हैं।

सौन्दर्य के लिए मेथी (Fenugreek for Beauty )

चमकती त्वचा (Glowing Skin )

मेथी के बीजों में विटामिन सी की मौजूदगी त्वचा के रंग को हल्का करती है और इसे एक सुंदर चमक प्रदान करती है। भीगी हुई मेथी के बीज का पेस्ट बनाएं और इसे अपने चेहरे पर एक उज्जवल, साफ़ त्वचा के लिए लगाएं |  आप पेस्ट बनाने के लिए थोड़े से दूध के साथ मेथी के बीज का पाउडर भी मिला सकते हैं। प्राकृतिक रूप से चमकती त्वचा के लिए इस पैक को चेहरे के मास्क के रूप में लगाएं।

 त्वचा को साफ करता है (Cleanses Skin )

मेथी के बीज रात भर पानी में भिगोए  और पीस लें इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर मास्क के रूप में लगाने से यह गहराई से साफ हो जाता है। आप रुई  उपयोग करके अपनी त्वचा से अतिरिक्त तेल और गंदगी को हटाने के लिए इन बीजों को भिगोने में उपयोग किए गए बचे हुए पानी का भी उपयोग कर सकते हैं।

 चेहरे का टोनर (Facial Toner)

मेथी के बीजों को भिगोने में इस्तेमाल किए जाने वाले पानी को फेस टोनर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। मेथी के दानों को रात भर पानी में भिगो दें, फिर उस पानी को स्प्रे बोतल में स्टोर करें। अपनी त्वचा पर मॉइस्चराइज़र लगाने से पहले अपने स्वच्छ चेहरे परस्प्रे करें।

 त्वचा को एक्सफोलिएट करता है (Exfoliates Skin )

नियमित रूप से स्क्रब  ,  जो रासायनिक-आधारित होते हैं और त्वचा को एक्सफोलिएट करने के लिए पेट्रोलियम उत्पादों से बने माइक्रोप्लास्टिक बीड्स (Microplastic Beads) होते हैं, इसके स्थान पर मेथी दाना पेस्ट का उपयोग करें! भीगी हुई मेथी के दानों को पेस्ट की तरह स्क्रब में पीसकर धीरे से अपनी त्वचा पर रगड़ें। यह न केवल मृत त्वचा कोशिकाओं ( dead cells ) को हटाता है बल्कि त्वचा से अतिरिक्त तेल को भी कम करता है।

 त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है (Moisturizes Skin )

क्या आपकी त्वचा रूखी, सूखी या परतदार है? यदि हाँ, तो मेथी के बीज फेस मास्क का उपयोग   करें  ये बीज सारी सूखापन को हटाकर त्वचा को पोषण और मॉइस्चराइज करते हैं। मेथी के कुछ दानों को रात भर गर्म पानी में भिगो दें। सुबह में, उन्हें 2 बड़े चम्मच दही और 1 चम्मच शहद के साथ पीस लें। इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद इसे रगड़ कर साफ करें।

 ब्लमिश और डार्क सर्कल को कम करता है (Reduces Blemishes And Dark Circles )

त्वचा पर काले धब्बे के पीछे गंदगी, बैक्टीरिया और मृत त्वचा कोशिकाएं मुख्य कारण हैं। मेथी के बीजों में विटामिन के और विटामिन सी होते हैं जो त्वचा से ब्लेमिश (blemish ) और काले घेरे को कम करने में मदद करते हैं। मेथी के बीजों के फेस मास्क का उपयोग करने से त्वचा से सभी अशुद्धियाँ दूर हो जाती हैं जिससे यह प्राकृतिक रूप से चमकने लगती है। मेथी के कुछ दानों को रात भर पानी में भिगो दें और अगली सुबह सादे दूध के साथ पीस लें। इस पेस्ट को अपने धुले हुए चेहरे पर लगायें और सूखने तक कुछ देर तक बैठे रहने दें। खंगालें।

 एंटी एजिंग गुण (Anti-Aging Properties )

ये छोटे सुनहरे बीज यौगिकों से युक्त होते हैं जो आपकी त्वचा को सुंदर, युवा और झुर्रियों से मुक्त रखता है। वे मुक्त कणों को मारते हैं जो त्वचा पर झुर्रियां और काले धब्बे का कारण बनते हैं। मेथी के बीज या मेथी के पानी से बना मास्क आपकी त्वचा को मजबूती, कसने और फिर से जीवंत करने में मदद करता है।

मुंहासे ठीक करें (Cure Acne )

मुंहासों की समस्या वाले लोगों को मेथी के बीज जरूर देने चाहिए क्योंकि वे एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होते हैं। लगभग 15 मिनट के लिए मेथी के बीज को अच्छी मात्रा में पानी में उबालें। पानी को छान लें और इसे ठंडा होने दें। इस तरल को कॉटन बॉल की मदद से अपने चेहरे पर लगाएं।

साइड इफेक्ट्स  (Side effects of fenugreek )

साइड इफेक्ट्स में diarrhea, stomach upset (bloating, gas, dizziness, headache, and “maple syrup” in urine  शामिल हो सकते हैं। यह संवेदनशील लोगों में खांसी, घरघराहट, चेहरे की सूजन और गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं का कारण हो सकता है।

गर्भावस्था:  

गर्भवती महिलाओं   को इसके प्रयोग में सावधानी रखनी चाहिए ,  इससे बच्चे में विकृति हो सकती है, साथ ही शुरुआती संकुचन भी हो सकते हैं। प्रसव से ठीक पहले मेथी लेने से नवजात शिशु के शरीर में एक असामान्य गंध हो सकती है |

यह भी पढ़े :- जानिए क्यों है Cardamom लोगों की पसंद । इससे होने वाले 9 लाभ , उपयोग , खुराक , साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

फैबासी परिवार में पौधों से एलर्जी:

वे लोग जिन्हें फैबसिया में अन्य पौधों से एलर्जी है, उनमें सोयाबीन, मूंगफली, और हरी मटर भी शामिल हैं, जिन्हें मेथी से एलर्जी हो सकती है।

मधुमेह (Diabetes ) :

मधुमेह वाले लोगों में मेथी Blood Sugar के स्तर को प्रभावित कर सकती है। निम्न Blood Sugar (हाइपोग्लाइसीमिया) के संकेतों के लिए देखें और मधुमेह होने पर अपने Blood Sugar की सावधानीपूर्वक निगरानी करें और मेथी का उपयोग करें।

निम्न रक्तचाप (Low Blood Pressure ):

 मेथी रक्तचाप को कम कर सकती है। इसलिए अगर आपको निम्न रक्तचाप की समस्या है , तो मेथी लेने से निम्न रक्तचाप वाले लोगों में रक्तचाप बहुत कम हो सकता है।

सर्जरी (Surgery) :

मेथी Blood Sugar के स्तर और रक्तचाप को प्रभावित कर सकती है और सर्जरी के दौरान और बाद में  इसके कारण समस्या हो सकती है |  इसलिए  सर्जरी से कम से कम 2 सप्ताह पहले मेथी लेना बंद कर दें।

साइड इफेक्ट्स  (Side effects of fenugreek )|
खुराक (Doses ) मेथी का प्रयोग कितना किया जाना चाहिए | Dosage of Methi| Fenugreek in Hindi
image source :- https://www.canva.com/

खुराक (Doses ) मेथी का प्रयोग कितना किया जाना चाहिए –

मुंह से ( from mouth ):

मधुमेह के लिए: मेथी के बीज के 5-100 ग्राम को 4 से 3 साल तक रोजाना एक या दो भोजन में इस्तेमाल किया जाता है। मेथी के बीज के अर्क की 1 ग्राम दैनिक खुराक का उपयोग किया जा सकता है |

मासिक धर्म ऐंठन (कष्टार्तव) के लिए: मासिक धर्म के पहले 3 दिनों के लिए मेथी के बीज के पाउडर का 1800-2700 मिलीग्राम प्रतिदिन, दो मासिक धर्म चक्रों के शेष के लिए 900 मिलीग्राम तीन बार दैनिक उपयोग किया जाता है।

यौन समस्याओं के लिए जो यौन गतिविधि के दौरान संतुष्टि को रोकते हैं: दो मासिक धर्म चक्रों के लिए 600 मिलीग्राम मेथी के बीज निकालने (लिबिफेम, गेनकोर पैसिफिक लिमिटेड)।

स्वस्थ लोगों में यौन उत्तेजनाओं की बढ़ती प्रतिक्रिया के लिए: प्रत्येक दिन अकेले या मैग्नीशियम 34 मिलीग्राम, जिंक 30 मिलीग्राम, और विटामिन बी 6, 10 मिलीग्राम के साथ 600 मिलीग्राम मेथी बीज निकालने (टेस्टोफ़ेन, गेनकोर पैसिफिक लिमिटेड) का उपयोग 6-12 सप्ताह किया जा सकता है |

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This