Infertility: महिलाएं किन कारणों से गर्भधारण नहीं कर पाती – जानिए गर्भधारण ना हो पाने का सही कारण ? |For what reasons women are unable to conceive – know the exact reason for not getting pregnant and best tips?

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।

महिलाएं किन कारणों से गर्भधारण नहीं कर पाती – जानिए गर्भधारण ना हो पाने का सही कारण ?

जब महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती तो ऐसे बहुत से कारण होते हैं जिनकी वजह से महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती। आज के समय में सबसे ज्यादा समस्या महिलाओं को गर्भधारण करने में ही होती हैं। आज के समय में महिलाओं की जीवन शैली ही इतनी ज्यादा बेकार हो चुकी है कि उन्हें गर्भधारण करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं, अगर किसी लड़की की शादी काफी कम उम्र में हो जाती है तो उसके कार्यालय भी उन्हें गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है

या फिर जो महिलाएं काफी ज्यादा कमजोर होती हैं, तो उन महिलाओं को भी गर्भधारण करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है क्योंकि शरीर में कम होने की वजह से गर्भधारण में समस्या उत्पन्न होती ही हैं। इसके अतिरिक्त आज के समय में महिलाएं ज्यादातर बाहर के खाने पर ध्यान देती हैं और बाहर का खाना स्वादिष्ट तो होता है लेकिन उससे महिलाओं के शरीर में पोषक तत्वों की कमियां हो जाती हैं

अगर महिलाएं गर्भधारण ना हो पाने की वजह चले तो वह आसानी से गर्भधारण कर सकती हैं। इसलिए आज हम उन सभी कारणों के बारे में आपको बताएंगे जिनके कारण महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि Causes Of infertility In Ladies In Hindi तथा Symptoms Of infertility In Hindi  के बारे में बताएंगे। इसके अतिरिक्त हम आपको Why Women Can’t Conceive In Hindi तथा Problems Faced by Women Before Pregnancy In Hindi के बारे में भी बताएंगे।

महिलाएं किन कारणों से गर्भधारण नहीं कर पाती |Why are women unable to conceive?

महिलाएं किन कारणों से गर्भधारण नहीं कर पाती |Why are women unable to conceive?

ऐसे बहुत से कारण होते हैं जिनके कारण महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती, अब हम Causes Of Infurtility In Ladies In Hindi के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। आप ध्यानपूर्वक इन कारणों को पढ़िएगा तभी आपको महिलाओं में होने वाली कमियों के बारे में पता लगेगा।

1. Vitamin D की कमी होना

अगर महिलाओं के शरीर में vitamin D की कमी हो जाती है तो इसके कारण भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती हमारे शरीर में विटामिन डी की अहम भूमिका होती हैं, विटामिन डी पुरुष और महिलाएं दोनों के लिए ही जरूरी होता हैं, अगर पुरुष या महिला दोनों में से किसी एक के शरीर में भी विटामिन डी की कमी हो जाती है तो इसके कारण शरीर की गतिविधियां सुचारू रूप से कार्य नहीं कर पाती, इसीलिए विटामिन डी काफी आवश्यक होता है जो महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती तो उन महिलाओं को अपने शरीर में विटामिन डी की जांच भी करवा लेनी चाहिए।

वैसे तो विटामिन डी एक ऐसा पोषक तत्व होता है जो हम प्राकृतिक रूप से भी हासिल कर सकते हैं जैसे कि विटामिन डी का मुख्य स्त्रोत सूर्य की किरणों को माना जाता हैं। अगर महिलाएं रोजाना 20 से 25 मिनट तक धूप में बैठती हैं, तो इस प्रकार भी वह आसानी से अपने शरीर में vitamin D की कमी को पूरा कर सकती हैं। इसके अतिरिक्त Gynecologist Doctor के द्वारा भी vitamin D की कमी को पूरा करने के लिए कैप्सूल तथा दूसरी दवाइयां भी दी जा सकती हैं।

2. ज्यादा मोटापा

आज के समय में महिलाएं काफी मोटी हो जाती हैं, क्योंकि वह खाने-पीने का बिल्कुल भी ध्यान नहीं रखती अगर महिलाएं कुछ ज्यादा ही मोटी हो जाती हैं मतलब की उनके शरीर का वजन कुछ ज्यादा ही बढ़ जाता हैं तो इसके कारण भी महिलाओं को गर्भधारण करने में काफी परेशानी हो सकती हैं, क्योंकि मोटापे के कारण महिलाओं के शरीर में हर एक गतिविधियां अच्छे से काम करना बंद कर देती हैं

जैसे कि उनके शरीर में Bad Cholesterol की मात्रा काफी ज्यादा बढ़ जाती है और जब शरीर में bad Cholesterol की मात्रा बढ़ जाती है तो इसके कारण महिलाओं के शरीर में विकास भी रूक जाता है और अगर वह गर्भवती होना भी चाहती हैं तो भी गर्भवती नहीं हो पाती।

अगर वह गर्भवती हो भी जाती हैं तो 15 या 20 दिन से ज्यादा गर्भवती भी नहीं रहती, इसीलिए महिलाओं को अपने शरीर के वजन पर पूरी तरह से नियंत्रण रखना चाहिए। आज के समय में तो बहुत सी चीजें उपलब्ध है जिससे महिलाएं आसानी से अपने शरीर का वजन नियंत्रित कर सकती हैं जैसे कि महिलाएं अपने शरीर का वजन नियंत्रित करने के लिए योगा कर सकती हैं। Green Tea का सेवन कर सकती है या फिर अपने लिए एक ऐसा Diet Plan बना सकती है जो कि उन्हें शरीर का वजन करने में काफी मदद करता हैं।

3. प्लास्टिक के उत्पादों का अधिक उपयोग करना

 आज के समय में प्लास्टिक उत्पाद का इस्तेमाल काफी ज्यादा होने लगा है बहुत सी महिलाएं अपने घर में तरह-तरह के Fancy Plastic Products का इस्तेमाल करती हैं जैसे कि खाना खाने के लिए प्लास्टिक के बर्तन या फिर जब वह बाहर से कुछ खाने की चीज लाते हैं तो वह भी प्लास्टिक है की थैलियों में ही आती हैं। हम आपको बता दें कि जब गरम खाने को प्लास्टिक के बर्तनों में डालकर खाया जाता है तो उसके कारण प्लास्टिक में मौजूद खतरनाक तत्व खाने में मिल जाते हैं और जब महिलाएं इस खाने का सेवन करती है

या फिर कोई दूसरा व्यक्ति खाने का सेवन करता हैं तो इसके कारण महिलाओं को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचता है और खास तौर पर प्रजनन क्षमता पर इसका कभी बुरा असर पड़ता हैं। इसलिए महिलाओं को कभी भी प्लास्टिक के बर्तनों में खाना नहीं खाना चाहिए या फिर प्लास्टिक के बर्तनों में सूट आदि भी नहीं पीना चाहिए जितना हो सके उतना प्लास्टिक के बर्तनों को avoid कीजिए अगर आप बाजार में से खाने की चीजें लाते हैं तो प्लास्टिक की चीजों में खाना ना लाएं।

Why are women unable to conceive?

4. पूरी नींद ना लेना

आज के समय में ज्यादातर महिलाएं मोबाइल फोन में व्यस्त रहती हैं और मोबाइल फोन में ज्यादा व्यस्त रहने की वजह से वह अपनी नींद पर भी ध्यान नहीं देती। ज्यादातर महिलाएं तो रात को देर तक जागती हैं और सुबह देरी से उठती है जिसके कारण उनके शरीर पर बहुत बुरा असर पड़ता हैं। हम आपको बता दें कि अगर महिलाओं की नींद पूरी ना हो पाए तो इसके कारण उनकी प्रजनन क्षमता पर काफी बुरा असर पड़ता है और प्रजनन क्षमता पर यदि बुरा असर पड़ता है तो इसी के कारण महिलाएं गर्भधारण भी नहीं कर पाती ।

इसीलिए महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में नींद लेनी चाहिए। बहुत सी महिलाएं सिर्फ 4 से 5 घंटे की नींद लेती हैं पर इतनी कम नींद लेने के कारण उनके पूरे शरीर का सिस्टम अस्त-व्यस्त हो जाता हैं,  महिलाओं को रोजाना कम से कम 7 घंटे की नींद तो और लेनी ही चाहिए और महिलाओं को रोजाना रात के समय जल्दी सोना चाहिए और सुबह जल्दी उठकर थोड़ी देर सूर्य की किरणों के सामने बैठना चाहिए। इस प्रकार उनका शरीर रोगमुक्त भी रहता है और उनकी प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है और इसीलिए महिलाएं गर्भधारण की जल्दी कर पाती हैं।

5. अनियमित पीरियड्स होना

अगर महिलाओं के पीरियड्स कभी भी समय पर नहीं आते तो इसके कारण भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती गर्भधारण करने के लिए महिलाओं के पीरियड्स समय पर आना बहुत जरूरी होता हैं। बहुत-सी महिलाओं के पीरियड हमेशा ही 15 से 20 दिन आगे पीछे होते हैं और इसीलिए जब भी वह गर्भधारण करने की सोचते हैं तो गर्भधारण नहीं कर पाती या गर्भधारण कर भी लेती हैं लेकिन बीच में ही उनका गर्भपात हो जाता है महिलाओं को अपना ओवुलेशन पीरियड ठीक करना बहुत ही जरूरी होता हैं, क्योंकि ओवुलेशन पीरियड पता ना चल पाने के कारण भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती ।

ओवुलेशन पीरियड महिलाओं को तब तक पता नहीं लगेंगा जब तक उनका मासिक चक्र बिल्कुल ठीक ना हो जाए, इसीलिए महिलाओं को अपना मासिक चक्र बिल्कुल सही कर लेना चाहिए। मासिक चक्र को सही करने के लिए महिलाएं डॉक्टर का सहारा भी ले सकती है डॉक्टर अनेकों प्रकार की दवाइयों से भी महिलाओं का मासिक चक्र सही कर सकते हैं। जब महिलाओं के शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती हैं तो उसके कारण भी महिलाओं के शरीर में पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं।

6. एंडोमेट्रियोसिस ( Endometriosis ) बीमारी के कारण

तत्व खाने में मिल जाते हैं और जब महिलाएं इस खाने का सेवन करती है या फिर कोई दूसरा व्यक्ति खाने का सेवन करता हैं तो इसके कारण महिलाओं को काफी ज्यादा नुकसान पहुंचता है और खास तौर पर प्रजनन क्षमता पर इसका कभी बुरा असर पड़ता हैं। इसलिए महिलाओं को कभी भी प्लास्टिक के बर्तनों में खाना नहीं खाना चाहिए या फिर प्लास्टिक के बर्तनों में सूट आदि भी नहीं पीना चाहिए जितना हो सके उतना प्लास्टिक के बर्तनों को avoid कीजिए अगर आप बाजार में से खाने की चीजें लाते हैं तो प्लास्टिक की चीजों में खाना ना लाएं।

7. अत्यधिक तनाव में रहना

आज के समय में तनाव महिलाओं के जीवन का हिस्सा बन चुका है और तनाव के कारण ही महिलाओं के शरीर में अनेकों प्रकार की बीमारियां जन्म ले लेती हैं। यदि महिलाएं काफी ज्यादा तनाव में रहती है तो इसके कारण महिलाओं की प्रजनन क्षमता ( Fertility ) पर काफी बुरा असर पड़ता है और उनका शरीर धीरे-धीरे इस काबिल नहीं रह पाता कि वह गर्भधारण कर सकें। तनाव में रहने वाली  महिलाओं में यह सबसे बड़ी समस्या देखने को मिलती है

कि वह गर्भधारण नहीं कर पाती इसीलिए महिलाओं को तनाव में बिल्कुल भी नहीं रहना चाहिए। यदि महिलाएं रोजाना योगा करती है या फिर मेडिटेशन करती है तो इन दो चीजों को करने से महिलाएं आसानी से तनाव मुक्त जीवन जी सकती हैं, जो महिलाएं तनाव में नहीं रहती इस प्रकार की महिलाएं काफी जल्दी गर्भधारण कर लेती हैं।

8. संभोग करने के तुरंत बाद योनि को साफ कर लेंना

बहुत सी महिलाएं संभोग करने के तुरंत बाद टॉयलेट चली जाती हैं या फिर योनि को साफ कर लेती हैं। हम आपको बता दें कि अगर महिलाएं संभोग करने के पश्चात ऐसा करती हैं तो गर्भधारण के चांस बिलकुल जीरो हो जाते हैं, क्योंकि गर्भधारण करने के लिए अंडाशय से पुरुष के स्पर्म से निकले शुक्राणुओं का मिलना बहुत जरूरी होता हैं।

यदि महिलाएं संभोग के तुरंत बाद ही उठकर टॉयलेट चली जाती है या फिर योनि को साफ कर लेती है तो इसके कारण शुक्राणु / अंडाशय तक नहीं पहुंच पाते यही कारण है जिसकी वजह से महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पातें। यदि महिलाओं को गर्भधारण करना है तो उन्हें इस चीज का पूरी तरह से ख्याल रखना होगा तभी वह गर्भधारण कर सकती हैं।

हम आपको बता दें कि वीर्य के शुक्राणुओं को अंडाशय तक पहुंचने के लिए कम से कम 15 से 20 मिनट का समय तो लगता ही है, इसीलिए महिलाओं को संभोग करने के तुरंत पश्चात नहीं उठना चाहिए वह जिस अवस्था में है उन्हें सिर्फ उसी अवस्था में लेटे रहना चाहिए।

Why are women unable to conceive?

9. गर्भाशय में सूजन

बहुत-सी महिलाओं के गर्भाशय में सूजन होती है और गर्भाशय में सूजन होने की वजह से महिलाएं गर्भधारण तो कर लेती हैं, लेकिन कुछ समय पश्चात उनका गर्भपात हो जाता है जैसे कि सिर्फ 15 से 20 दिन की प्रेगनेंसी के पश्चात ही महिलाओं को पीरियड आ जाते हैं। यह गर्भाशय में सूजन के कारण भी हो सकता हैं, इसीलिए महिलाओं को इस प्रकार की परिस्थिति में gynecologist doctor से अपनी जांच करवानी चाहिए। वैसे तो ज्यादातर gynecologist doctor महिलाओं की स्थिति को देखकर ही बीमारी के बारे में बता देती हैं।

आजकल महिलाओं के सामने ऐसी ऐसी बीमारियां निकल कर आती है इनके बारे में वह सोच भी नहीं सकती लेकिन बीमारियों का समय पर इलाज करवा लिया जाए तो फिर कोई भी बीमारी है महिलाओं के शरीर को किसी भी प्रकार नुकसान नहीं पहुंचा सकती है, इसीलिए महिलाओं को जो बीमारियां हम बता रहे हैं उनके लक्षण यदि उन्हें दिखाई देते हैं तो फिर बिना देरी किए गायनोलॉजिस्ट डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए।

Second Pregnancy: पहले और दूसरे बच्चे की उम्र में कितना फर्क होना चाहिए – What should be the age Difference Between the first and Second Child In Hindi ?

10. नशीले पदार्थों का सेवन

जो महिलाएं नशीले पदार्थों का सेवन  करती है तो इस प्रकार की महिलाओं को भी गर्भधारण करने में काफी परेशानी होती है या फिर गर्भधारण ही नहीं कर पाती। हम आपको बता दें कि जो महिलाएं नशीले पदार्थों का सेवन करती हैं तो उन्हें हमेशा के लिए ही बांझपन की समस्या भी हो सकती है मतलब कि उनमें हमेशा के लिए infertility हो सकती है,

इसीलिए महिलाओं को खास तौर पर धूम्रपान तो बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए या फिर किसी भी प्रकार के तबाकू उत्पाद का सेवन नहीं करना चाहिए इसके अतिरिक्त जो महिलाएं शराब का सेवन करती हैं, तो उन्हें भी वह नहीं करना चाहिए, क्योंकि नशीले पदार्थों से महिलाओं की प्रजनन शक्ति पर काफी बुरा असर पड़ता है और धीरे-धीरे प्रजनन शक्ति खत्म भी होने लगती है या फिर काफी ज्यादा कमजोर हो जाती है जिसके कारण महिलाएं गर्भधारण करने में पूरी तरह से असमर्थ हो जाती हैं।

11. गर्भाशय में गांठ बनने के कारण

बहुत-सी महिलाओं के गर्भाशय में गांठ भी बन जाती है जिसे फाइब्रॉयड बीमारी ( Fibroid Disease ) भी कहा जाता हैं। इस बीमारी में महिलाओं को मासिक धर्म के समय सामान्य से काफी ज्यादा ब्लीडिंग होती है और यौन संबंध बनाते समय में महिलाओं को काफी ज्यादा दर्द होता हैं।

गर्भाशय में गांठ बनने पर महिलाओं को पीरियड रोकने के पश्चात भी थोड़ा बहुत खून आता रहता है और इसीलिए अंडाणु तथा शुक्राणु आपस में नहीं मिल पाते और जब अंडाणु तथा शुक्राणु आपस में नहीं मिल पाते, तो इसी के कारण महिलाएं गर्भधारण भी नहीं कर पाती। इसीलिए इस प्रकार की स्थिति में महिलाओं को Gynecologist Doctor के पास जाना चाहिए और अपनी जांच करानी चाहिए। यदि गर्भाशय में गांठ होगी तो डॉक्टर के द्वारा उस बीमारी का तुरंत ही इलाज शुरू किया जाएगा।

Unbalanced Hormones
image source:-http://www.canva.com

12. असंतुलित हार्मोन ( Unbalanced Hormones )

  • जब महिलाओं के शरीर में हार्मोन का स्तर असंतुलित ( Unbalanced Hormone Levels ) हो जाता हैं तो इसके कारण भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती या फिर गर्भधारण तो कर लेती है लेकिन 15 से 20 दिन बाद उन्हें बिना किसी कारण ही पीरियड्स आ जाते हैं। हम आपको एक जरूरी बात बता दें कि गर्भधारण करने के लिए महिलाओं के शरीर में हार्मोन का संतुलन बना होना बहुत ही आवश्यक हैं।
  • यदि महिलाओं के शरीर में हार्मोन का स्तर पूरी तरह से ठीक है तो इसके कारण महिलाएं काफी जल्दी गर्भधारण कर लेती हैं। आपने अक्सर देखा होगा कि बहुत सी महिलाओं को शादी के पश्चात पहले महीने में ही प्रेगनेंसी रह जाती हैं।
  • यह सब सिर्फ इसी वजह से होता है कि उन महिलाओं के शरीर में हार्मोन का स्तर बिल्कुल ठीक होता हैं। जब महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती तो उस समय उन्हें अपने शरीर में हार्मोन के स्तर की जांच भी करानी चाहिए। बहुत बार महिलाओं के शरीर में हार्मोन का स्तर या तो बढ़ जाता है या फिर घट जाता हैं। गर्भधारण करने के लिए महिलाओं के शरीर में हार्मोन बिल्कुल संतुलित होने चाहिए तभी गर्भधारण हो पाता हैं।

13. पुरुषों के शुक्राणुओं में कमी

जरूरी नहीं है कि हमेशा महिलाओं में ही कमियां होती हैं ऐसा भी हो सकता है कि पुरुष के शरीर में कमी हों, क्योंकि पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की कमी होने के कारण भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती इसीलिए पुरुषों को भी अपने वीर्य की जांच करवानी आवश्यक हैं। वीर्य की जांच कराने से पुरुषों को इस बात का पता चल जाता है कि उनके वीर्य में शुक्राणुओं की कितनी संख्या है। वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या घटने के कारण भी पुरुष महिलाओं को गर्भवती करने में असमर्थ होते हैं, इसीलिए महिलाओं के गर्भवती ना होने पर एक बार पुरुषों को भी अपनी जांच करा लेनी चाहिए।

14. अधिक संभोग करना

जो पति-पत्नी काफी अधिक संभोग करते हैं तो उसके कारण भी उन्हें गर्भधारण करने में काफी समस्या होती हैं, क्योंकि अधिक संभोग करने पर पुरुष और महिलाओं दोनों के शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है उन दोनों की प्रजनन क्षमता पर भी बुरा असर पड़ता है इसीलिए रोजाना संभोग नहीं करना चाहिए।

Conclusion –

महिलाएं गर्भधारण किन कारणों की वजह से नहीं कर पाती उन सब कारणों के बारे में हमने आपको विस्तार से बताया है ताकि महिलाएं इन सब कारणों को जानकर उन पर विचार कर सके और फिर आसानी से गर्भधारण कर सकें। इसके अतिरिक्त हमने आज के इस आर्टिकल में जाना कि Causes Of infertility In Ladies In Hindi तथा Symptoms Of infertility In Hindi क्या होते हैं।

इसके अतिरिक्त हमने यह भी जाना की Why Women Can’t Conceive In Hindi तथा Problems Faced by Women Before Pregnancy In Hindi यदि आप भी आपको हमसे हमारी इस महिलाओं से संबंधित इस पोस्ट के विषय में कोई भी सवाल पूछना हों, तो आप कमेंट सेक्शन में कमेंट कर सकते हैं। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This