How to get pregnant : गर्भधारण कैसे करें – जानिए गर्भधारण करने का सही तरीका ?|How to conceive – Know the right way to conceive?

Must Read

Dr. Arti Sharma
Dr. Arti Sharmahttp://goodswasthya.com
Dr. Arti Sharma is a certified BAMS doctor with at least 2 years of article writing experience on various medication and therapeutic lines. She is known for her best work in ayurvedic medication knowledge and there uses. Her hobbies including reading books and writing articles. With a good grip in sports, she uses to play for her university cricket team as a captain. Her work for ayurvedic is well known. डॉ आरती शर्मा एक प्रमाणित BAMS डॉक्टर है जिन्हे कम से कम 2 साल का विभिन्न दवाइयों और चिकित्सीय रेखाओं पर लेखन का अनुभव है। वह आयुर्वेदिक दवाओं के ज्ञान और उनके उपयोग में अपने बेहतरीन काम के लिए जानी जाती हैं। उनका शौक किताबें पढ़ना और लिखना है। खेलों में अच्छी पकड़ के साथ, वह एक कप्तान के रूप में अपनी विश्वविद्यालय क्रिकेट टीम के लिए खेल चुकी हैं। आयुर्वेद के क्षेत्र में उनका काम अच्छी तरह से जाना जाता है।

How to get pregnant| गर्भधारण कैसे करें – जानिए गर्भधारण करने का सही तरीका ?

आज के समय में ज्यादातर महिलाएं तो सिर्फ इसी चीज से परेशान है कि वह शादी के बाद समय पर गर्भवती नहीं हो पाती। आजकल ज्यादातर शादीशुदा जोड़ों के साथ यही समस्या देखने को मिलती है कि उनकी शादी को 2 से 3 साल हो जाते हैं मगर फिर भी उन्हें कोई संतान नहीं होती, इस प्रकार के लोग जगह-जगह डॉक्टरों के पास भी जाते हैं और काफी पैसे भी खर्च करते हैं लेकिन फिर भी उन्हें सही राय नहीं मिल पाती लेकिन जब शादी को 2 से 4 साल हो जाते हैं तो उस समय शादीशुदा जोड़ों को काफी अजीब लगने लगता है क्योंकि आसपास के लोग या फिर रिश्तेदार भी इस बात का ताना देने लगते हैं कि उन्हें बच्चे क्यों नहीं हो रहे।

पुरुषों की अपेक्षा ज्यादातर महिलाओं को ही ताने सुनने पड़ते हैं, क्योंकि हमारे समाज में महिलाओं के गर्भधारण ना होने का कारण सिर्फ महिलाओं को ही माना जाता हैं, मगर डॉक्टरों की दृष्टि से देखा जाए तो गर्भवती होने के लिए पुरुष और महिला दोनों जिम्मेदार होते हैं इसलिए महिलाओं के गर्भ धारण में भी पुरुष और महिला दोनों का ही योगदान होता हैं, अगर दोनों में से किसी एक में भी किसी प्रकार की कोई कमी है तो फिर महिलाओं को गर्भधारण करने में तकलीफ हो सकती है

आज के समय में इंटरनेट पर भी लोग सबसे ज्यादा इसी बात को सर्च करते हैं कि How to get pregnant In Hindi तथा How Can I Get Pregnant In Hindi जिन महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्याओं का सामना करना पड़ता है तो इस प्रकार की महिलाओं के लिए हमारी यह पोस्ट काफी फायदेमंद होने वाली हैं, क्योंकि आज इस पोस्ट के माध्यम से हम Pregnant Hone Ke Aasan Tarike In Hindi तथा How to get pregnant In Hindi इसी के साथ-साथ हम आपको Easy Pregnancy Tips In Hindi तथा Get Pregnancy Tips In Hindi के बारे में भी बताएंगे ताकि महिलाएं आसानी से गर्भ धारण कर सकें।

गर्भधारण कैसे करें – How to get pregnant In Hindi ?

अगर महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पा रहे हैं तो उन्हें बहुत से तरीके आजमाने होंगे क्योंकि गर्भधारण ना हो पाना यह अनेकों कारणों से हो सकता हैं गर्भधारण करने के लिए महिला और पुरुष दोनों ही स्वस्थ होने चाहिए तभी गर्भधारण हो पाता हैं, इसीलिए अब हम नीचे आपको How to get pregnant In Hindi के बारे में बताने जा रहे हैं ताकि आप आसानी से गर्भधारण कर सकें।

गर्भधारण कैसे करें - How to get pregnant In Hindi ?

डॉक्टर से जांच करानी है जरूरी

अगर महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पा रही हैं तो सबसे पहले तो उन्हें Gynecologist Doctor के पास जाना चाहिए और अपनी जांच करानी चाहिए क्योंकि कई बार शरीर में कमी की वजह से भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती। इसके अतिरिक्त एक बार पुरुष को भी अपनी जांच करा लेनी चाहिए, क्योंकि कई बार कमी पुरूषों में होती है और हम कमियों को महिलाओं में ढूंढ रहे होते हैं इसीलिए पुरुषों को भी अपने स्पर्म की जांच करानी चाहिए। कई बार स्पर्म में शुक्राणुओं की संख्या काफी कम हो जाती है जिसकी वजह से संभोग के पश्चात महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पातें, इसीलिए गर्भधारण ना होने पर पुरुष और महिलाएं दोनों को ही अपनी जांच करानी चाहिए।

कई बार ऐसा भी होता है कि महिलाओं के शरीर में हार्मोन असंतुलित होते हैं और हार्मोन असंतुलित होने के कारण महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती गर्भधारण करने के लिए महिलाओं के शरीर में हार्मोन का संतुलन बने रहना काफी जरूरी होता हैं, क्योंकि महिलाओं के गर्भवती होने में हार्मोन की अहम भूमिका होती हैं।

इसीलिए डॉक्टर के द्वारा सबसे पहले महिलाओं के हार्मोन का टेस्ट भी किया जाता है और उस टेस्ट के माध्यम से यह पता लगाया जाता है कि महिलाओं की हार्मोन संतुलित है या फिर असंतुलित है। अगर महिलाओं के हार्मोन असंतुलित पाए जाते हैं, तो सबसे पहले महिलाओं के हार्मोन का ही संतुलन बनाना पड़ता है क्योंकि हार्मोन के संतुलित हो जाने के पश्चात महिलाएं काफी जल्दी गर्भ धारण कर लेती हैं।

 Ovulation के समय के आस-पास संभोग करें

ज्यादातर सभी एक्सपोर्ट्स का यही मानना है कि बच्चा पैदा करने के लिए महिलाओं के Eggs ओवरी ( Ovary ) से निकलने के 24 घंटे के अंदर-घअंदर Fertilize होना बहुत ही जरूरी हैं तभी महिलाएं गर्भधारण कर पाती हैं पुरुष के Sperms औरत के प्रजनन पथ ( Reproductive Tract ) मे कम से कम 48 से 72 घंटो तक ही जीवित रह सकते हैं, क्योंकि बच्चे पैदा करने के लिए Egg तथा Sperms का मिलना काफी जरूरी होता है क्योंकि बच्चा Egg तथा Sperms के मिलन से ही बनता है।

इसीलिए Couples को Ovulation के दौरान कम से कम 72 घंटों में एक बार संभोग करना काफी जरूरी होता है और संभोग भी इस तरीके से करना होता है कि Sperm की Leakage की संभावना ना रहे और यह बात पुरुषों को भी काफी ध्यान में रखनी होती है कि उन्हें 48 घंटे में एक बार से ज्यादा Ejaculate नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से उनका Sperm count काफी कम हो सकता है और यदि Sperm Count कम हो जाएगा तो उसकी वजह से महिलाओं के Egg को Fertilize होने में भी परेशानी हो सकती हैं।

Ovulation का समय कैसे पता लगता है

Ovulation का समय कैसे पता लगता है

बहुत-सी महिलाओं का यह भी सवाल है की ओवुलेशन ( Ovulation ) के समय का कैसे पता लगता है तो हम आपको बता दें कि Ovulation का समय पता करने का मतलब यह होता है कि उस सही समय का पता लगाना की Ovary से Fertilization के लिए तैयार हुए Eggs कब निकलते हैं। Ovulation का समय जानने के लिए महिलाओं को अपनी Period की साइकिल को समझना होगा, मतलब की मासिक धर्म की साइकिल ( Menstrual Cycle ) को अच्छे से समझना होगा।

जैसे मान लीजिए कि अगर किसी भी महिला को 30 तारीख को पीरियड्स आते हैं, तो इससे 12 से 16 दिन पहले के समय को Ovulation Period कहा जाता है मतलब की जिन महिलाओं को 30 तारीख को Periods आते हैं तो उनका Ovulation Period 14 से लेकर 18 तारीख के बीच होता है।

अब महिलाएं Ovulation Period के बारे में अच्छे से समझ गई होंगी। हम साधारण सी भाषा में भी समझा देते हैं कि महिलाओं को आने वाले पीरियड से 12 से 16 दिन पहले का समय Ovulation Period कहलाता है।

Ovulation Period को पहचानने का दूसरा तरीका भी मौजूद है उन्हें यह है कि जब महिलाओं को अपनी Vagina से निकलने वाले तरल पदार्थ की मौजूदगी का एहसास हों, तो उस समय उन्हें अपनी उंगली पर वह तरल पदार्थ लगा कर देखना चाहिए, अगर वह तरल पदार्थ ज्यादा चिपचिपा है तो इसका मतलब यह है कि उस समय आपका Ovulation Period चल रहा है और वह समय संभोग करने के लिए काफी अच्छा समय हैं

इस समय पर संभोग करने पर महिलाएं आसानी से गर्भधारण कर सकती हैं। अगर इस समय पति-पत्नी संभोग करते हैं तो 99% चांस होते हैं कि महिलाएं गर्भवती हो जाती है इसलिए अपने Ovulation Period का पता करें और उसी हिसाब से संभोग करें।

Period Cycle ठीक ना होने के कारण भी हो सकती है परेशानी

बहुत सी महिलाएं ऐसी भी होती हैं जिन्हें Periods समय पर नहीं आते अगर आसान भाषा में कहें तो जिन महिलाओं का मासिक चक्र बिल्कुल भी ठीक नहीं रहता तो इस प्रकार की महिलाओं को भी गर्भधारण करने में काफी परेशानी होती है, क्योंकि गर्भधारण करने के लिए मासिक चक्र का सही होना काफी जरूरी होता हैं।

जब तक महिलाओं का मासिक चक्र ठीक ना हो जाए तो तब तक गर्भधारण की संभावनाएं बिल्कुल ना के बराबर ही होती हैं। बहुत सी महिलाएं तो ऐसी होती हैं जिन्हें 45 से 60 दिन तक भी periods नहीं आते या फिर बहुत सी महिलाओं को पीरियड्स 20 से 25 दिन देरी से आते हैं और इस प्रकार की महिलाएं गर्भधारण भी नहीं कर पाती।

 हम आपको बता दें कि इसका कारण यह भी है की उनका मासिक चक्र ठीक नहीं होता। यदि किसी भी महिला कों यह समस्या है तो सबसे पहले उसको अपनी इस समस्या का इलाज करवाना चाहिए, क्योंकि जब तक इस समस्या का इलाज नहीं होगा तो तब तक महिलाएं गर्भवती नहीं हो सकती। अगर 10 महिलाओं को यह समस्या हैं तो 10 में से 10 महिलाएं गर्भवती नहीं हो सकती क्योंकि मासिक चक्र समय पर ना होने के कारण महिलाओं को अपना ओवुलेशन पीरियड भी समझ में नहीं आता और Ovulation Period भी ना समझ पाने के कारण महिलाएं गर्भवती नहीं हो पाती।

स्वस्थ जीवन शैली को चुने

बहुत ही महिलाओं की जीवन शैली काफी खराब होती है और इसी वजह से वह गर्भधारण भी नहीं कर पाती। बहुत-सी महिलाओं को धूम्रपान करने की आदत होती है या फिर किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पाद का सेवन करने की आदत होती है या फिर शराब आदि पीने की आदत होती हैं, तो इस प्रकार की महिलाओं को गर्भधारण करने में काफी ज्यादा समय लग सकता हैं

क्योंकि इस प्रकार की चीजें महिलाओं कि शरीर में पोषक तत्वों की कमियां कर देती है और पोषक तत्वों की कमियों के कारण महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती या फिर उनका शरीर गर्भधारण करने के प्रयास तो करता है लेकिन वह सफल नहीं हो पाता, क्योंकि गर्भधारण करने के लिए महिला को स्वस्थ होना बहुत ही आवश्यक हैं। यदि महिलाएं नशीले पदार्थों का सेवन करेंगे तो इसके कारण उनका शरीर अंदर से पूरी तरह खोखला हो जाता हैं।

इसके अतिरिक्त जो महिलाएं अपने खाने पीने पर ध्यान नहीं देती या फिर पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं करती तो इस प्रकार की महिलाओं को भी बच्चे को जन्म देने में दिक्कत हो सकती हैं, इसीलिए आपको पर्याप्त मात्रा में भोजन करना होगा और भोजन में भी आपको उन चीजों का सेवन करना होगा जो कि आपके शरीर के लिए बेहद फायदेमंद है जैसे कि हरी सब्जियां डालें ताजे फल आदि। यदि महिलाएं अपने खाने-पीने पर पूरा ध्यान देती हैं तो फिर उन्हें गर्भधारण करने में कोई भी समस्या नहीं आएगी।

तनाव मुक्त जीवन जीने का प्रयास करें

आज के समय में तनाव हमारी जिंदगी का एक हिस्सा बन चुका हैं, इसीलिए ज्यादातर लोग तो समय से पहले ही अनेकों प्रकार की बीमारियों का शिकार हो जाते हैं और यही स्थिति महिलाओं के साथ है। यदि तनाव में रहती हैं तो तनाव में रहने के कारण उनकी मासिक चक्र प्रक्रिया पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है जिसकी वजह से उनके पीरियड समय पर नहीं आते और ऐसा भी हो सकता है कि जो महिलाएं कुछ ज्यादा ही तनाव में रहती हैं तो उनके शरीर में मेंस्ट्रुएशन की प्रक्रिया ( Menstruation Process ) भी रुक सकती हैं। इसीलिए महिलाओं को तनाव में नहीं रहना चाहिए और जितना हो सके उन्हें तनाव मुक्त जीवन जीने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि तनाव केवल अनेकों प्रकार की बीमारियों को आमंत्रित करता है।

संभोग करते समय पोजीशन का ख्याल रखें

संभोग करते समय महिलाओं और पुरुषों दोनों को ही पोजीशन का भी ख्याल रखना पड़ता हैं, क्योंकि संभोग के दौरान पोजीशन सही ना होने के कारण भी गर्भधारण में देरी हो सकती है या फिर गर्भधारण नहीं होगा। इसीलिए संभोग करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपको इस प्रकार की पोजीशन में संभोग करना चाहिए कि पुरुष का Sperm महिलाओं की Vegina में प्रजनन पथ के माध्यम से जल्दी से Egg से मिल सकें।

क्योंकि जब तक पुरुषों का Sperm महिलाओं की Vagina में उपस्थित अंडे से नहीं मिलेगा तो तब तक गर्भधारण भी नहीं होता। इसीलिए पति-पत्नी दोनों को ही संभोग करते समय इस प्रकार की पोजीशन रखनी चाहिए कि पुरुषों का Sperm आसानी से Egg तक पहुंच सकें।

Infertility: महिलाएं किन कारणों से गर्भधारण नहीं कर पाती – जानिए गर्भधारण ना हो पाने का सही कारण ? 

संभोग के पश्चात थोड़ी देर आराम करें

बहुत सी महिलाएं संभोग करने के तुरंत बाद ही उठकर कुछ काम करने लगती हैं या फिर पेशाब करने चली जाती हैं। हम आपको बता दें कि जब महिलाएं संभोग के पश्चात तुरंत ही उठकर कुछ काम करने लगती हैं या फिर टॉयलेट चली जाती हैं, तो उसके कारण उनकी Vagina से Sperm निकलने के चांसेस काफी ज्यादा रहते हैं और Vagina से Sperm निकलने की वजह से महिलाएं गर्भधारण भी नहीं कर पातें, इसीलिए महिलाओं को संभोग के पश्चात कम से कम 15 से 20 मिनट तो पड़े ही रहना चाहिए, क्योंकि इस प्रकार का तरीका आजमाने से महिलाएं काफी जल्दी गर्भधारण कर सकती हैं।

ज्यादा दवाइयों का सेवन ना करें

बहुत-सी महिलाओं को जब गर्भधारण में समस्या उत्पन्न होती हैं, तो उस समय वह महिलाएं अंग्रेजी डॉक्टर के चक्कर में आकर तरह-तरह की दवाइयां खाती हैं लेकिन फिर भी गर्भधारण नहीं हो पाता। हम आपको बता दें कि जब महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती तो पहले उन्हें हर एक तरह से घरेलू नुस्खे आजमा कर देखना चाहिए, क्योंकि घरेलू नुस्खे अंग्रेजी दवाइयों से भी कई गुना ज्यादा बेहतर होते हैं और यह जल्दी असर भी करते हैं इसीलिए महिलाओं को जिन चीजों का ख्याल रखने को हमने कहा है वह उन चीजों का ख्याल रख कर आसानी से गर्भधारण कर सकती हैं।

यदि महिलाएं अंग्रेजी डॉक्टरों के चक्कर में पड़कर अंग्रेजी दवाइयों का ज्यादा सेवन करेंगे तो उसके कारण उन्हें गर्भधारण करने में पहले से भी ज्यादा समस्या उत्पन्न हो सकती हैं, क्योंकि कई बार बहुत-सी महिलाओं को दवाइयां गर्मी कर जाती है या फिर दवाइयों के कारण किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट हो जाता है और उस Side-effect के कारण महिलाओं को पहले से भी ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं।

इसीलिए महिलाओं को Gynecologist Doctor की सलाह के बिना कोई दवाई भी नहीं खानी चाहिए लेकिन पहले सिर्फ और सिर्फ जिन चीजों का ख्याल रखने के बारे में हमने आपको बताया है आप उन चीजों का ख्याल रखिए और जो नुस्खे बताए हैं उन उसको को आजमाइए फिर आप आसानी से गर्भ धारण कर पाएंगी।

image source:- http://www.canva.com

संभोग करने से पहले किसी भी प्रकार का कोई नशा ना करें

बहुत से पुरुषों संभोग करने से पहले कई प्रकार की नशीली चीजों का सेवन करते हैं या फिर शराब, सिगरेट या दूसरा कोई नशा करते हैं या फिर महिलाएं किसी नशीले पदार्थ का सेवन करती हैं, तो इसके कारण पुरुष और महिला दोनों के ही शरीर में हारमोंस का संतुलन भी बिगड़ सकता है और हार्मोन का संतुलन अगर एक बार Hormone Imbalance हो जाए तो उसे ठीक करना काफी मुश्किल हो जाता है इसीलिए महिलाओं और पुरुषों दोनों को ही इस चीज का भी ख्याल रखना चाहिए।

पुरुषों को अंडकोष ( Testicles ) को गर्मी से बचाना चाहिए

बहुत से पुरुष काफी ज्यादा गर्मी में भी काफी टाइट कपड़े या मोटी जींस पहनते हैं जिसकी वजह से उनके अंडकोष ( Testicles ) में गर्मी पैदा हो जाती हैं और अंडकोष ( Testicles ) में ही वीर्य ( Sperm ) भी स्थित होता है और जब अंडकोष में गर्मी पैदा होती है तो उसके कारण स्पर्म में मौजूद शुक्राणु मर भी सकते हैं।

इसीलिए पुरुषों को ज्यादा टाइट पेंट नहीं पहननी चाहिए या फिर जब वह गाड़ी चलाते हैं या फिर मोटरसाइकिल चलाते हैं, तो उस समय उन्हें थोड़े खुले कपड़े पहनने चाहिए ताकि हवा पास होती रहे और आपको इस चीज का भी ख्याल रखना चाहिए कि सर्दियों के मौसम में जवाब गर्म पानी से नहाते हैं, तो गर्म पानी से नहाते समय अपने इस अंग पर ज्यादा गर्म पानी नहीं डालना चाहिए क्योंकि उसके कारण भी वीर्य में स्थित शुक्राणु मर सकते हैं।

Conclusion –

महिलाओं को किस प्रकार गर्भधारण करना चाहिए और कौन कौन सी सावधानियां बरतकर वह आसानी से गर्भधारण कर सकती हैं। इन सब चीजों के बारे में हमने इस आर्टिकल में आपको बताया है ताकि महिलाएं आसानी से गर्भवती हो सकें। आज के समय में महिलाओं के सामने सबसे ज्यादा दिक्कत है यही होती है कि वह शादी के बाद समय पर गर्भधारण नहीं कर पाती लेकिन हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के पश्चात काफी अधिक महिलाएं आसानी से गर्भधारण कर सकेंगे

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको How to get pregnant In Hindi तथा How Can I Get Pregnant In Hindi के बारे में बताया हैं। इसके अतिरिक्त हमने आपको Easy Pregnancy Tips In Hindi तथा Get Pregnancy Tips In Hindi के बारे में भी बताया हैं। अब यदि आपको हमसे How to get pregnant In Hindi के बारे में कोई भी सवाल पूछना हों, तो कमेंट सेक्शन में कमेंट करें। धन्यवाद

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This